अभ्यर्थियों की जागरूकता के लिए आयोग का प्रयास सराहनीय : श्री पटेल

म.प्र. लोक सेवा आयोग देश में अग्रणी भूमिका का निर्वहन करे राज्यपाल श्री पटेल द्वारा लोक सेवा आयोग की डॉक्यूमेंट्री प्रदीप्ति लोकार्पित

राज्यपाल श्री मंगुभाई पटेल ने मध्यप्रदेश लोक सेवा आयोग द्वारा तैयार कराई गयी डॉक्यूमेंट्री फिल्म ‘प्रदीप्ति’ का आज राजभवन में लोकार्पण किया।

राज्यपाल श्री मंगुभाई पटेल ने कहा कि लोक सेवा आयोग द्वारा अभ्यर्थियों को जागरूक कर परीक्षा के भय को कम करने का प्रयास सराहनीय है। आयोग द्वारा निर्मित डॉक्यूमेंट्री इस दिशा में अभिनव और अनुकरणीय पहल है। इसका व्यापक प्रचार-प्रसार जरूरी है। आयोग द्वारा विभिन्न नवाचारों के माध्यम से महत्वपूर्ण कार्य संपादित किए जा रहे हैं। मेरी शुभकामना है कि मध्यप्रदेश लोक सेवा आयोग देश में अग्रणी भूमिका का निर्वहन करे।

राज्यपाल श्री पटेल ने कहा कि परीक्षा का भय परीक्षा को कठिन बना देता है। यदि प्रारंभ से ही निरंतर प्रयास किये जायें तो परीक्षा का भय खत्म हो जाता है। किसी भी कार्य की सफलता के लिए निरंतर प्रयास आवश्यक होते हैं। परीक्षा के निकट आने पर तैयारियां करने से घबराहट होती है, जो गलतियों का कारण बनती हैं। राज्यपाल ने कहा कि परीक्षा की तैयारियों के संबंध में आयोग द्वारा तैयार वृत्तचित्र अभ्यर्थियों को परीक्षा के भय से मुक्त करेगा। अभ्यर्थियों की जागरूकता बढ़ने से आयोग की कार्य-प्रणाली और अधिक पारदर्शी होगी।

आयोग के अध्यक्ष डॉ. राजेश लाल मेहरा ने बताया कि डाक्यूमेंट्री "प्रदीप्ति" में आयोग की विभिन्न परीक्षाओं तथा साक्षात्कार में सम्मिलित होने वाले अभ्यर्थियों को जागरूक करने के लिये परीक्षा संबंधी नियमों एवं निर्देशों की जानकारी दी गई है। विभिन्न भर्ती परीक्षाओं के संबंध में प्राय: यह देखने में आता रहा है कि अनेक परीक्षार्थी कुछ न कुछ गलतियाँ करते रहते हैं और उन्हें सुधारने के लिये पत्राचार करते हैं। उन्हें आयोग की कार्य-प्रणाली का भी समुचित ज्ञान नहीं होता। पूर्णत: परीक्षार्थी केन्द्रित यह डाक्यूमेंट्री इस दिशा में उनकी सहयोगी होगी। डाक्यूमेंट्री का उद़देश्य प्रतियोगी परीक्षार्थियों को परीक्षा संबंधी विभिन्न जानकारियाँ देकर प्रशिक्षित करना है। डॉक्यूमेंट्री में अभ्यर्थियों के लिए परीक्षा पूर्व किये जाने वाले कार्यों, परीक्षा के दौरान की सावधानियों, साक्षात्कार संबंधी सूचनाओं और साक्षात्कार के बाद उपयोगी जानकारियों को विस्तार से बताया गया है। डाक्यूमेंट्री का निर्माण मध्यप्रदेश माध्यम द्वारा किया गया है। इसे आयोग की ऑफिशियल वेबसाइट https://mppsc.mp.gov.in पर देखा जा सकता है और नि:शुल्क डाउनलोड भी किया जा सकता है।

कार्यक्रम में जनजातीय प्रकोष्ठ के सदस्य सचिव श्री बी.एस. जामोद, आयोग के सदस्य श्री चन्द्रशेखर रायकवार, डॉ. देवेन्द्र सिंह मरकाम, सचिव श्री प्रबल सिपाहा और विशेष कर्तव्यस्थ अधिकारी डॉ. आर. पंचभाई मौजूद थे। सदस्य डॉ. कृष्ण कांत शर्मा ने आभार माना।

Comments

Popular posts from this blog

स्व. श्री कैलाश नारायण सारंग की जयंती पर संपूर्ण देश में मना मातृ-पितृ भक्ति दिवस

श्री हरिहर महोत्सव समिति के अध्यक्ष बने राजेंद्र शर्मा

कोविड-19 महामारी में बचाव कार्य करने वाले समस्त कोविड स्टाफ को बहाल किया जाए एवं संविदा नियुक्ति दी जाए:- डॉ सूर्यवंशी