जन-कल्याणकारी योजनाओं के क्रियान्वयन में रोजगार सहायक-आँगनवाड़ी कार्यकर्ताओं की महत्वपूर्ण भूमिका : मुख्यमंत्री श्री चौहान

मुख्यमंत्री को अभिनंदन-पत्र भेंट कर आभार व्यक्त किया गया

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि राज्य सरकार की जन-कल्याणकारी योजनाओं के क्रियान्वयन में रोजगार सहायक, आँगनवाड़ी कार्यकर्ता और सहायिकाओं की भूमिका महत्वपूर्ण है। राज्य सरकार ने उनकी उल्लेखनीय सेवाओं को देखते हुए हाल ही में उनके हितों में अनेक महत्वपूर्ण फैसले लिये हैं। मुख्यमंत्री श्री चौहान आज नरसिंहपुर जिले के तेंदूखेड़ा में आँगनवाड़ी और रोजगार सहायकों के संगठन के प्रतिनिधियों से चर्चा कर रहे थे। चिकित्सा शिक्षा मंत्री डॉ. विश्वास कैलाश सारंग, पूर्व मंत्री श्री रामपाल सिंह और श्रीमती साधना सिंह भी मौजूद थी।

मुख्यमंत्री को भेंट किया गया अभिनंदन-पत्र

तेंदूखेड़ा के मंडी प्रांगण में रोजगार सहायक, आँगनवाड़ी कार्यकर्ता और सहायिकाओं के संगठन ने हाल ही में मुख्यमंत्री द्वारा उनके हितों में की गई घोषणाओं के संदर्भ में उन्हें अभिनंदन-पत्र और स्मृति-चिन्ह भेंट किया।

मुख्यमंत्री का लाड़ली बहनों ने किया स्वागत

मुख्यमंत्री श्री चौहान का तेंदूखेड़ा के ग्राम हीरापुर, उमरपानी, भूरासुन्हेटी, टेकापार, ग्वारी तिराहा, मनकापुर तिराहा, भामा और अन्य स्थानों पर लाड़ली बहनाओं ने जोरदार स्वागत किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने ग्राम भामा में ग्रामीणों की माँग पर शासकीय हाई स्कूल को हायर सेकण्डरी स्कूल में परिवर्तित करने की घोषणा की। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि राज्य सरकार महिलाओं के आर्थिक सशक्तिकरण के लिये संकल्पित है। इसी के अनुरूप मुख्यमंत्री लाड़ली बहना योजना लागू की गई है। इस योजना में पात्र बहनों के खाते में हर माह की 10 तारीख को नियमित रूप से 1000 रूपये की राशि अंतरित होती रहेगी। उन्होंने बताया कि योजना का लाभ अब 21 वर्ष की विवाहित महिलाओं को भी मिलेगा। इसके लिये जल्द ही पोर्टल शुरू किया जाएगा।

जन-सेवा मित्रों से संवाद

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने जन-सेवा मित्रों से संवाद किया। उन्होंने शिवानी विश्वकर्मा से लोगों की राय जानी। शिवानी ने बताया कि मुख्यमंत्री लाड़ली बहना योजना महिलाओं के आर्थिक सशक्तिकरण में मील का पत्थर साबित हो रही है। जन-सेवा मित्र राज्य शासन की योजना के प्रभावी क्रियान्वयन के लिये मॉनिटरिंग कर रहे हैं।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने घोषणाओं का किया उल्लेख

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने जन-समुदाय को बताया कि आँगनवाड़ी कार्यकर्ताओं का मानदेय प्रतिमाह 10 हजार से बढ़ा कर 13 हजार रूपये किया गया है। मानदेय में इन्सेन्टिव के रूप में 1000 रूपये की वृद्धि प्रति वर्ष की जायेगी। मिनी आँगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को 6500 रूपये प्रतिमाह मानदेय दिया जायेगा। सहायिका से आँगनवाड़ी कार्यकर्ता पर पदोन्नति के लिये 50 प्रतिशत पद आरक्षित होंगे। उन्होंने कहा कि आँगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को सेवानिवृत्त होने पर एक मुश्त एक लाख 25 हजार रूपये और सहायिकाओं को एक लाख रूपये उपलब्ध कराये जायेंगे। आँगनवाड़ी कार्यकर्ता और सहायिका का शासकीय कर्मचारियों की तरह 5 लाख रूपये का स्वास्थ्य और दुर्घटना बीमा कराया जाएगा।

रोजगार सहायक के हितों में की गई घोषणा का उल्लेख

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने अपने संबोधन में पिछले दिनों रोजगार सहायकों के हितों में की गई घोषणाओं का उल्लेख भी किया। उन्होंने कहा कि रोजगार सहायक को 9 हजार रूपये मासिक मानदेय के स्थान पर 18 हजार रूपये, सामान्य अवकाश सहित प्रसूति अवकाश, मातृत्व अवकाश के साथ ही पितृत्व अवकाश दिया जायेगा। पंचायत सचिव की नियुक्ति में 50 प्रतिशत स्थान रोजगार सहायकों के लिये सुरक्षित रहेंगे।

तत्काल मिली 2 लाख रूपये की आर्थिक सहायता

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने अपने भ्रमण के दौरान श्रीमती जीरा बाई से संवाद किया। श्रीमती जीरा बाई ने बताया कि पिछले एक साल में उनके पति एवं 2 बच्चों का देहान्त हो चुका है। घर में अब कमाई का कोई जरिया नहीं है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने संवेदनशीलता दिखाते हुए श्रीमती जीरा बाई को तत्काल 2 लाख रूपये की आर्थिक सहायता देने के निर्देश दिये। जिस पर रेडक्रॉस की ओर से 2 लाख रूपये की सहायता जीरा बाई को प्रदान कर दी गई।

Comments

Popular posts from this blog

स्व. श्री कैलाश नारायण सारंग की जयंती पर संपूर्ण देश में मना मातृ-पितृ भक्ति दिवस

श्री हरिहर महोत्सव समिति के अध्यक्ष बने राजेंद्र शर्मा

कोविड-19 महामारी में बचाव कार्य करने वाले समस्त कोविड स्टाफ को बहाल किया जाए एवं संविदा नियुक्ति दी जाए:- डॉ सूर्यवंशी