बहनों के चेहरे पर मुस्कान लाना मेरी जिंदगी का मकसद - मुख्यमंत्री श्री चौहान

लाड़ली बहना योजना की राशि 1000 से क्रमश: बढ़ा कर 3000 की जायेगी मुख्यमंत्री ने बंजारी में सामुदायिक भवन और कौशल विकास प्रशिक्षण केन्द्र के भवन का किया भूमि-पूजन

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि बहनों की जिंदगी बदल कर उनके चेहरे पर मुस्कान लाना मेरी जिंदगी का मकसद है। मेरी कोई भी बहन मजबूर न रहे, मजबूत बने, इसीलिए मुख्यमंत्री लाड़ली बहना योजना शुरू की गई है। योजना से बहनों के पास पैसों की कमी की बेबसी को दूर किया गया है। बहनों को दिए जा रहे 1000 रूपये को धीरे-धीरे बढ़ा कर 3000 रूपये किया जायेगा। मुख्यमंत्री कटनी जिले के ग्राम बंजारी स्थित रामराजा पहाड़ी पर श्री हरिहर तीर्थ में सामुदायिक भवन और कौशल विकास प्रशिक्षण केन्द्र भवन के भूमि-पूजन के बाद जनसभा को संबोधित कर रहे थे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि यह सच है कि रोटी, कपड़ा, मकान, पढ़ाई, दवाई और रोजगार का इंतजाम जरूरी है। लेकिन मनुष्य इससे सुखी नहीं रहता, कभी न कभी इच्छा होती है कि दुनिया से जाने के पहले चारों धाम के दर्शन हो जाये। सभी देवताओं की पूजा कर लें तो लगता है कि जीवन सफल हो गया। इसी विचार से सरकार ने मुख्यमंत्री तीर्थ-दर्शन योजना शुरू की है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि जनता की सेवा मेरे लिए भगवान की पूजा है। विधायक श्री संजय सत्येन्द्र पाठक ने सारे तीर्थ यहीं पर उतारने का पुण्य-कार्य शुरू किया है, इस पुण्य संकल्प के लिए उन्हें बधाई और शुभकामनाएँ। इस परिकल्पना को मूर्त रूप देने और धरातल में उतारने के लिए जिस सहयोग की जरूरत होगी वह दिया जाएगा। सरकार द्वारा संस्कृत महाविद्यालय आदि के लिये जो भी जरूरी होगा, किया जाएगा। अच्छे काम में जनता का हमेशा सहयोग मिलता है। उन्होंने विकास और जन-कल्याण में योगदान देने का संकल्प भी लोगों को दिलाया।

प्रधानमंत्री के नेतृत्व में जिंदगी हुई बेहतर

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में संपूर्ण देश के साथ ही मध्यप्रदेश निरंतर प्रगति की ओर अग्रसर है। एक वैभवशाली, समृद्धशाली और शक्तिशाली भारत का निर्माण हो रहा है। लोगों की जिंदगी बेहतर हुई है।

संतों का सम्मान

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि संतों द्वारा कथा के माध्यम से अमृत वर्षा की जाती है। उन्होंने जूनापीठाधीश्वर आचार्य महामंडलेश्वर एवं हिन्दू धर्म आचार्य सभा के अध्यक्ष स्वामी अवधेशानंद गिरि और तुलसी पीठाधीश्वर जगद्गुरु रामानन्दाचार्य स्वामी श्री रामभद्राचार्य महाराज का सम्मान किया।

मुख्यमंत्री हुए भक्ति-भाव में विभोर

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने धर्म और अध्यात्म के माहौल में भक्ति-भाव से रामधुन का गायन किया। जन-समुदाय ने जुगलबंदी कर "राम भजन सुखदायी, ये जीवन है माटी का ढेला" गायन कर माहौल भक्तिमय बना दिया। मुख्यमंत्री ने "हरे राम हरे राम हरे कृष्ण, हरे कृष्णा हरे कृष्णा, कृष्णा-कृष्णा हरे-हरे" भजन का भी लयबद्ध गायन किया।

सांसद श्री विष्णु दत्त शर्मा ने कहा कि संतों की उपस्थिति में तीर्थ क्षेत्र की स्थापना का अवसर मिल रहा है। इसी क्षेत्र में चारों धाम की यात्रा की जा सकेगी। इस क्षेत्र में जो भी कार्य करने की इच्छा होती है वह ईश्वर की कृपा से पूर्ण होती है।

विधायक श्री संजय सत्येन्द्र पाठक ने श्री हरिहर तीर्थ को बनाने में सभी के आशीर्वाद और यथा-संभव सहयोग का आग्रह किया। सभा को जूनापीठाधीश्वर आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी अवधेशानंद गिरी महाराज ने भी संबोधित किया।

केन्द्रीय मंत्री श्री अश्विनी चौबे, प्रदेश के वित्त, वाणिज्यकर, योजना एवं आर्थिक सांख्यिकी मंत्री और कटनी जिला प्रभारी मंत्री श्री जगदीश देवड़ा, उत्तर प्रदेश के केबिनेट मंत्री श्री दयाशंकर मिश्रा और बी.एच.यू. यूनिवर्सिटी के पूर्व कुलपति श्री गिरीश त्रिपाठी मौजूद रहे।

Comments

Popular posts from this blog

स्व. श्री कैलाश नारायण सारंग की जयंती पर संपूर्ण देश में मना मातृ-पितृ भक्ति दिवस

श्री हरिहर महोत्सव समिति के अध्यक्ष बने राजेंद्र शर्मा

कोविड-19 महामारी में बचाव कार्य करने वाले समस्त कोविड स्टाफ को बहाल किया जाए एवं संविदा नियुक्ति दी जाए:- डॉ सूर्यवंशी