डॉ. अंबेडकर जयंती का आयोजन पूर्ण भव्यता और गरिमा के साथ किया जाए : मुख्यमंत्री श्री चौहान

14 अप्रैल को महू और महेश्वर में होंगे कार्यक्रम ग्वालियर में 16 अप्रैल को होगा डॉ. अंबेडकर महाकुंभ

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि भारतीय संविधान और आधुनिक भारत के निर्माता भारत रत्न डॉ. भीमराव अंबेडकर की जयंती पर महू, महेश्वर और ग्वालियर में होने वाले कार्यक्रम पूर्ण भव्यता और गरिमा के साथ किए जाएँ। डॉ. अंबेडकर की जयंती पर 14 अप्रैल को महू और महेश्वर में कार्यक्रमों के आयोजनों के साथ ही 16 अप्रैल को ग्वालियर में डॉ. अंबेडकर महाकुंभ किया जा रहा है। भारत रत्न डॉ. अंबेडकर का गरीब, दलित और वंचितों के उत्थान में महत्वपूर्ण योगदान है। सभी महाकुंभ में शामिल हों और डॉ. अंबेडकर के प्रति अपना आदर भाव प्रकट करें।

मुख्यमंत्री श्री चौहान डॉ. अंबेडकर की जयंती पर होने वाले कार्यक्रमों के लिए जारी तैयारियों की समीक्षा कर रहे थे। मुख्यमंत्री निवास स्थित कार्यालय भवन समत्व में हुई बैठक में केन्द्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री श्री ज्योतिरादित्य सिंधिया, प्रदेश के जल संसाधन मंत्री श्री तुलसीराम सिलावट, सांसद श्री वी.डी. शर्मा, श्री हितानंद शर्मा, मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस तथा अन्य अधिकारी उपस्थित थे। इंदौर, खरगोन और ग्वालियर के कलेक्टर वर्चुअली जुड़े। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने ग्वालियर महाकुंभ संबंधी ग्वालियर के गणमान्य नागरिकों से भी वर्चुअली चर्चा की।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि डॉ. अंबेडकर महाकुंभ प्रदेश में विकास और कल्याण की नई दिशा का आरंभ होगा। इसके आयोजन और व्यवस्था में सभी पंचायत प्रतिनिधि, जन-प्रतिनिधि अपना दायित्व निभाएँ। ग्वालियर महाकुंभ क्षेत्र के लिए सौभाग्य का विषय है, प्रत्येक गाँव का महाकुंभ में प्रतिनिधित्व हो। आवागमन, बैठक और पेयजल व्यवस्था पर विशेष ध्यान दिया जाए।

Comments

Popular posts from this blog

स्व. श्री कैलाश नारायण सारंग की जयंती पर संपूर्ण देश में मना मातृ-पितृ भक्ति दिवस

श्री हरिहर महोत्सव समिति के अध्यक्ष बने राजेंद्र शर्मा

प्रदेश के सभी जिलों को एयर एंबुलेंस सुविधा दिलाने के लिए होगी पहल