प्रदेश के समावेशी विकास का परिचायक है बजट: मंत्री श्री राजपूत

राजस्व एवं परिवहन मंत्री श्री गोविन्द सिंह राजपूत ने कहा कि वित्त मंत्री द्वारा प्रस्तुत बजट आम आदमी का बजट है। बजट में महिलाओं को विशेष रूप से सम्मान दिया गया है। लाड़ली लक्ष्मी योजना के बाद प्रदेश में बहनों के सम्मान को बढ़ाने के लिये लाड़ली बहना योजना के लिये 8 हजार करोड़ रूपये का प्रावधान किया है। यह महिलाओं के सम्मान के लिए सबसे बड़ा बजट है। बजट में आत्म-निर्भर मध्यप्रदेश को दृष्टिगत रखते हुये विभिन्न योजनाएँ मिशन मोड में प्रांरभ की गई है। बजट का लक्ष्य महिलाओं, युवाओं, किसानों, गरीब वर्ग, आम जनता को नई शक्ति देने एवं नई दिशा की ओर ले जाने का प्रयास किया गया है।

श्री राजपूत ने कहा कि बजट में सरकार ने सर्वाहारा वर्ग का ध्यान रखा है। बेरोजगारों और किसानों के लिए विशेष प्रावधान किये गये है। बजट में अनुसूचित जाति के सम्मान को गौरवान्वित करने के लिए 100 करोड़ रूपये का प्रावधान किया है, जिससे सागर में संत रविदास का मंदिर का निर्माण किया जायेगा। यह विश्व का इकलौता संत रविदास मंदिर होगा। बजट में अनुसूचित जनजाति वर्ग का भी ध्यान रखा गया है। इस वर्ग के 36 हजार 950 करोड का प्रावधान किया गया है।

ई-वाहन को देंगे बढ़ावा

मंत्री श्री राजपूत ने कहा कि राज्य सरकार ने राज्य में ई-वाहनों के चलन को बढ़ावा देने का फैसला किया है। प्रदेश की प्रतिभावान बेटियों को ई-स्कूटी प्रदान की जाएगी।

बुन्देलखण्ड के लिये संजीवनी बनेगी केन-बेतवा परियोजना

राजस्व एंव परिवहन मंत्री श्री राजपूत ने कहा कि बुन्देलखण्ड की अति महत्वकांक्षी केन-बेतवा लिंक परियोजना क्षेत्र के लिये संजीवनी साबित होगी। परियोजना के पूर्ण होने से बुन्देलखण्ड क्षेत्र के 8 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में सिचांई हो सकेगी। इससे जहाँ बुन्देलखण्ड का किसान सम्पन्न होगा वहीं बुन्देलखण्ड के लोगों में और सम्पन्नता आएगी।

Comments

Popular posts from this blog

स्व. श्री कैलाश नारायण सारंग की जयंती पर संपूर्ण देश में मना मातृ-पितृ भक्ति दिवस

श्री हरिहर महोत्सव समिति के अध्यक्ष बने राजेंद्र शर्मा

कोविड-19 महामारी में बचाव कार्य करने वाले समस्त कोविड स्टाफ को बहाल किया जाए एवं संविदा नियुक्ति दी जाए:- डॉ सूर्यवंशी