नई आबकारी नीति में शराब पीने पर लगाया है नैतिक प्रतिबंध: मुख्यमंत्री श्री चौहान

मुख्यमंत्री ने नई आबकारी नीति लाकर ऐतिहासिक कार्य किया : सुश्री उमा भारती नई नीति से सामाजिक परिवर्तन का मार्ग प्रशस्त होगा : सांसद श्री शर्मा मुख्यमंत्री श्री चौहान का हुआ अभिनंदन

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि जन-कल्याण और विकास कार्यों के लिए पैसे की कोई कमी नहीं है। नई आबकारी नीति में शराब पीने पर नैतिक प्रतिबंध लगाया गया है। सार्वजनिक स्थानों पर शराब पीने पर रोक लगाई गई है। दुर्घटनाएँ रोकने और समाज-सुधार की दृष्टि से यह बड़ा कदम है। उन्होंने कहा कि सुश्री उमा भारती को मैं माँ, बहन, बेटी और मित्र के रूप में देखता हूँ। दीदी को कभी निराश नहीं करूँगा। माता-बहनों और बेटियों पर अत्याचार के खिलाफ मैंने और दीदी ने मिल कर कार्य किया है। इसी का परिणाम लाड़ली लक्ष्मी और मुख्यमंत्री लाड़ली बहना योजना है। मुख्यमंत्री श्री चौहान रवीन्द्र भवन में प्रदेश की मातृ शक्ति के सम्मान, सुरक्षा एवं हितों के अनुरूप आबकारी नीति लाने पर अपने अभिनंदन समारोह' में शामिल हुए। समारोह में मुख्यमंत्री श्री चौहान का पूर्व मुख्यमंत्री सुश्री उमा भारती ने अंगवस्त्र पहना, पुष्प-वर्षा और अभिनंदन-पत्र भेंट कर स्वागत किया। समारोह माता, बेटी, बाई स्मृति शिक्षण समिति द्वारा किया गया।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि मैं वर्षों से उमा दीदी के साथ काम करता आया हूँ। दीदी जगत-कल्याण के लिए कार्य करती हैं। वे अन्याय कभी सहन नहीं करती हैं। समाज-सुधारक हैं। नशा मुक्ति, गाय की रक्षा और जैविक खेती को बढ़ावा देने के लिए लगातार काम कर रही हैं। सरस्वती उनके कंठ में विराजमान हैं। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि मुख्यमंत्री लाड़ली बहना योजना से बहनों के खाते में एक-एक हजार रूपए प्रतिमाह अंतरित किये जायेंगे। उन्होंने कहा कि मैं दीदी के सुझावों पर हमेशा कार्य करूँगा। दीदी का आशीर्वाद अच्छे कार्यों के लिए मुझे सदैव मिलता रहा है और आगे भी मिलता रहेगा। उनकी प्रेरणा से ही मैं यह कार्य कर पाया हूँ। बेटी और बहन के कल्याण के लिए बेहतर से बेहतर कार्य किये जायेंगे।

पूर्व मुख्यमंत्री सुश्री उमा भारती ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री चौहान ने नई आबकारी नीति लाकर ऐतिहासिक कार्य किया है। इसके लिये उन्होंने मुख्यमंत्री को धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि नई नीति से मैं बहुत खुश हूँ। मुझे आत्म-संतोष है। मुख्यमंत्री ने मेरे मन की कामना पूरी की है। ऐसी आबकारी नीति भारत के किसी भी राज्य में नहीं है। नई नीति में अहाते बंद करने का सराहनीय कार्य किया गया है। नई नीति में शराब पीकर वाहन नहीं चला सकते हैं और न ही सड़क पर चल सकते हैं। यह नीति ऐसे हालात पैदा कर देगी कि लोग शराब छोड़ने के लिए मजबूर हो जायेंगे। समाज की मर्यादा रखने में यह नीति मील का पत्थर साबित होगी।

सुश्री भारती ने कहा कि नीति का पालन कराना प्रशासन के साथ जन-प्रतिनिधियों की भी बड़ी जिम्मेदारी है। उन्होंने कहा कि कृषि के मामले में मध्यप्रदेश पंजाब और हरियाणा से भी आगे निकल गया है। गौ-माता की रक्षा के लिए जैविक खेती कारगर होगी।

सांसद श्री वी.डी. शर्मा ने कहा कि राज्य सरकार पंडित दीनदयाल उपाध्याय के अंत्योदय के विचार पर आगे बढ़ने का कार्य कर रही है। नई आबकारी नीति से सामाजिक परिवर्तन का मार्ग प्रशस्त होगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कुशल मार्गदर्शन में यह कार्य संभव हो पाया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश को समृद्धशाली बनाने के लिए कोई कमी नहीं छोड़ी जा रही है। केन-बेतवा लिंक परियोजना प्रदेश के विकास में महत्वपूर्ण सिद्ध होगी। इसमें प्रधानमंत्री श्री मोदी, मुख्यमंत्री श्री चौहान और पूर्व मुख्यमंत्री सुश्री उमा भारती का अहम योगदान है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने दीप जला कर समारोह का शुभारंभ किया। आयोजन समिति की बहनों ने पुष्पमाला से अतिथियों का स्वागत किया। बड़ी संख्या में लाड़ली लक्ष्मी बहने, महिलाएँ और नागरिक उपस्थित थे।

Comments

Popular posts from this blog

स्व. श्री कैलाश नारायण सारंग की जयंती पर संपूर्ण देश में मना मातृ-पितृ भक्ति दिवस

श्री हरिहर महोत्सव समिति के अध्यक्ष बने राजेंद्र शर्मा

प्रदेश के सभी जिलों को एयर एंबुलेंस सुविधा दिलाने के लिए होगी पहल