छिंदवाड़ा आदिवासी बाहुल्य मिलेट फसलों और व्यंजनों का जबलपुर की राष्ट्रीय मिलेट कार्यशाला में प्रदर्शन

जवाहरलाल नेहरु कृषि विश्वविद्यालय जबलपुर में आज दो दिवसीय राष्ट्रीय मिलेट कार्यशाला संपन्न हुई । कार्यशाला में आंचलिक कृषि अनुसंधान केंद्र और कृषि विज्ञान केन्द्र छिन्दवाड़ा एवं कृषि विज्ञान केन्द्र व्दितीय देलाखारी/तामिया द्वारा वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉ.विजय पराडकर, डॉ.आर.सी.शर्मा और डॉ.सुरेंद्र पन्नासे के मार्गदर्शन में छिंदवाड़ा जिले के आदिवासी बाहुल्य मिलेट व मक्का फसलों की प्रजाति और मिलेट उत्पादों का प्रदर्शन किया गया।
कृषि विज्ञान केंद्र के वैज्ञानिक डॉ.डी.सी.श्रीवास्तव ने बताया कि कार्यशाला में मुख्य अतिथि द्वारा श्री अनाज का अभिनंदन कविता का विमोचन किया गया तथा मुख्य अतिथि को मिलेट व्यंजन के उत्पाद भेंटस्वरूप दिये गये। कार्यशाला में उप संचालक कृषि श्री जितेन्द्र कुमार सिंह के मार्गदर्शन में कृषि विभाग द्वारा मिलेट योजनाओं की जानकारी दी गई । कार्यशाला में आंचलिक कृषि अनुसंधान केन्द्र के वैज्ञानिक डॉ.गौरव महाजन व तकनीकी अधिकारी देलखारी तामिया डॉ.एस.के.अहिरवार ने भी भाग लिया।

Comments

Popular posts from this blog

स्व. श्री कैलाश नारायण सारंग की जयंती पर संपूर्ण देश में मना मातृ-पितृ भक्ति दिवस

श्री हरिहर महोत्सव समिति के अध्यक्ष बने राजेंद्र शर्मा

कोविड-19 महामारी में बचाव कार्य करने वाले समस्त कोविड स्टाफ को बहाल किया जाए एवं संविदा नियुक्ति दी जाए:- डॉ सूर्यवंशी