महिलाओं को आर्थिक रूप से सशक्त बनाएगी लाड़ली बहना योजना : मुख्यमंत्री श्री चौहान

बाघों से मिलेगी शिवपुरी को अंतर्राष्ट्रीय पहचान मुख्यमंत्री शिवपुरी में लाड़ली बहना संवाद एवं पर्यटन संवर्धन कार्यक्रम में हुए शामिल

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने राजमाता विजयाराजे सिंधिया और माधवराव सिंधिया को नमन करते हुए कहा कि आज का दिन शिवपुरी के लिए ऐतिहासिक है। शिवपुरी जिले में 27 वर्ष बाद फिर से बाघ की वापसी हुई है। बाघों का आना न केवल पर्यावरण की दृष्टि से बल्कि पर्यटन की दृष्टि से भी बहुत लाभदायक है। बाघों के आने से शिवपुरी को अंतर्राष्ट्रीय पहचान मिलेगी। यहाँ बाघ प्रोजेक्ट बनाया जाएगा, जिससे रोजगार के अवसर भी बढ़ेंगे। मुख्यमंत्री श्री चौहान आज शिवपुरी जिले में लाड़ली बहना संवाद एवं पर्यटन संवर्धन कार्यक्रम में शामिल हुए। उन्होंने कन्या-पूजन और दीप जला कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने हाल ही में घोषित की लाड़ली बहना योजना की जानकारी देते हुए कहा कि मध्यप्रदेश की धरती पर पहले बेटी के जन्म को अभिशाप समझा जाता था, अब बेटी को वरदान माना जाता है। बेटियों के लिए लाड़ली लक्ष्मी और मजदूर बहनों के लिए प्रसूति सहायता योजना शुरू की गई। अब लाडली बहना योजना शुरू की गई है, जो महिलाओं को आर्थिक रूप से सशक्त बनाएगी। योजना के आवेदन 25 मार्च से भरे जाएंगे। बहनों को किसी भी प्रमाण-पत्र के लिए परेशान होने की जरूरत नहीं है। उनकी सुविधा के लिये गाँव और वार्ड में ही शिविर लगा कर आवेदन भरवाये जायेंगे।

केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री श्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि आज ऐतिहासिक दिन है। पूज्य पिताजी स्व. माधवराव सिंधिया की जयंती पर विकास और प्रगति की श्रंखला को आगे बढ़ाने के लिए यह सच्ची श्रद्धांजलि है। साथ ही शिवपुरी के विकास के लिए अनेक सौगातें दी जा रही हैं। पुराने ग्वालियर स्टेट में दो अंकुर मोती होते थे। एक मोती कूनो का होता था और दूसरा मोती शिवपुरी का माधव नेशनल पार्क होता था। ये दोनों मेरे पूर्वजों के द्वारा स्थापित किए गए हैं। समय के साथ दोनों अंकुर मोतियों से वन्य-प्राणी विलुप्त हो गए। आज 27 साल बाद प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी एवं मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में दोबारा शिवपुरी में बाघ आया है। मुख्यमंत्री ने शिवपुरी में बाघ लाकर क्षेत्र का सम्मान पुनः लौटाया है। इन बाघों की दहाड़ एक कोने से दूसरे कोने तक सुनाई देगी। उन्होंने कहा कि कई तैयारियों के बाद 18 करोड़ के डीपीआर के साथ केन्द्र एवं राज्य शासन से स्वीकृति प्राप्त की गई। परिणामस्वरूप आज बल्लारपुर में बनाए गए टाइगर बाड़े में एक नर और एक मादा बाघ का जोड़ा छोड़ा गया है। इससे शिवपुरी क्षेत्र में व्यवसाय बढ़ेगा और स्थानीय लोगों को रोजगार के अवसर प्राप्त होंगे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने लाड़ली लक्ष्मी, प्रधानमंत्री आवास, मुख्यमंत्री बाल आशीर्वाद योजना सहित प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम और आजीविका मिशन के महिला स्व-सहायता समूहों को हितलाभ वितरित किये। मुख्यमंत्री ने शिवपुरी जिले के पर्यटन पर केन्द्रित सचित्र पुस्तिका का विमोचन भी किया। खेल एवं युवा कल्याण मंत्री श्रीमती यशोधरा राजे सिंधिया और खजुराहो सांसद श्री व्ही.डी. शर्मा ने भी संबोधित किया।

शिवपुरी जिले के प्रभारी औरपंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री महेन्द्र सिंह सिसोदिया, लोक निर्माण राज्य मंत्री श्री सुरेश धाकड़, क्षेत्रीय सांसद डॉ. के.पी. यादव, सहित विधायक, जन-प्रतिनिधि और बड़ी संख्या में महिलाएँ एवं नागरिक उपस्थित रहे।

Comments

Popular posts from this blog

स्व. श्री कैलाश नारायण सारंग की जयंती पर संपूर्ण देश में मना मातृ-पितृ भक्ति दिवस

श्री हरिहर महोत्सव समिति के अध्यक्ष बने राजेंद्र शर्मा

सनातन संस्कृति की रक्षा में संतों का अद्वितीय योगदान है - मुख्यमंत्री डॉ. यादव