सामाजिक क्रांति लायेगी “मुख्यमंत्री लाड़ली बहना योजना” : मुख्यमंत्री श्री चौहान

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने ग्वालियर साडा क्षेत्र के गाँवों को दी 84 करोड़ रूपए की सौगातें साडा क्षेत्र के 28 गाँवों के हर घर में नल से मिलेगा जल पुरानी छावनी बनेगी नई तहसील और सरकार लगायेगी कुलैथ में भगवान जगन्नाथ का मेला मध्यप्रदेश अब देश भर में बढ़ते हुए राज्य के रूप में जाना जाता है: केन्द्रीय मंत्री श्री तोमर

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने ग्वालियर के साडा क्षेत्र में बसे गाँवों सहित अन्य ग्रामों के रियासतकालीन जलाशयों को भरने की महत्वाकांक्षी परियोजना सहित लगभग 84 करोड़ रूपए की लागत के विकास कार्यों की सौगातें दी। साथ ही कहा कि साडा क्षेत्र की 18 ग्राम पंचायतों के 28 गाँवों के लिये सरकार ने 60 करोड़ रूपए लागत की समूह नल-जल योजना मंजूर कर दी है। इन गाँवों के हर घर में नल से पानी उपलब्ध होगा। कार्यक्रम में बड़ी संख्या में मौजूद महिला शक्ति को खुशखबरी सुनाते हुए मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि राज्य सरकार ने महिलाओं के हित में “मुख्यमंत्री लाड़ली बहना” योजना शुरू की है जो सामाजिक क्रांति लाने वाली योजना साबित होगी।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने तिघरा जलाशय के समीप पुलिस प्रशिक्षण शाला में शुक्रवार को हुए विकास कार्यों के भमि-पूजन एवं लोकार्पण समारोह में पुरानी छावनी को नई तहसील बनाने और कुलैथ में राज्य सरकार की ओर से भगवान जगन्नाथ का मेला लगाने की घोषणा भी की। साथ ही सरकार की विभिन्न योजनाओं हितलाभ भी हितग्राहियों को वितरित किए। अध्यक्षता केन्द्रीय कृषि एवं किसान-कल्याण मंत्री श्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने की।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि बहनें सशक्त होंगीं, तो परिवार सशक्त होगा, तो परिवार सशक्त होगा तो प्रदेश और देश सशक्त होगा। इसी सोच के साथ राज्य सरकार ने “मुख्यमंत्री लाड़ली बहना योजना” शुरू की है। योजना के आवेदन फॉर्म आगामी 5 मार्च से भरने शुरू हो जायेंगे। पाँच एकड़ तक जमीन वाले सीमांत किसान परिवारों की महिलाओं सहित ढ़ाई लाख रूपए तक की आमदनी वाले हर परिवार की महिला को योजना का लाभ मिलेगा। सरकार के प्रयास होंगे कि हर माह की 10 तारीख तक प्रत्येक पात्र महिला के खाते में एक हजार रूपए पहुँच जाएँ। उन्होंने किसानों को जीरो प्रतिशत ब्याज पर खेती के लिए ऋण उपलब्ध कराने की वचनबद्धता भी दोहराई।

मुख्यमंत्री की घोषणा, पुरानी छावनी बनेगी नई तहसील

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने उद्यानिकी एवं खाद्य प्र-संस्करण राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री भारत सिंह कुशवाह द्वारा क्षेत्रीय जनता की ओर से की गई अधिकांश माँगे मंजूर करने की घोषणा की। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने ग्वालियर जिले में “पुरानी छावनी” को नई तहसील बनाने की घोषणा की। साथ ही कुलैथ में लगने वाले भगवान जगन्नाथ का मेला और रथ यात्रा को शासकीय तौर पर आयोजित करने और कुलैथ में सर्वसाधन युक्त सीएम राईज स्कूल खोलने की घोषणा की। उन्होंने बताया कहा कि जागेश्वर मंदिर को पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने के लिये डीपीआर तैयार कराई जा रही है। महेश्वरा – भदेश्वर खदान को फिर से शुरू करने का प्रस्ताव भी जल्द ही केन्द्र सरकार को भेजा जायेगा।

घाटीगाँव क्षेत्र के गाँवों के लिये समूह पेयजल योजना की घोषणा

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने विकासखंड घाटीगाँव (बरई) के पथरीले क्षेत्र में बसे गाँवों की पेयजल समस्या के स्थायी समाधान के लिये समूह पेयजल योजना की घोषणा की। सांसद श्री शेजवलकर ने अपने उदबोधन के दौरान घाटीगाँव क्षेत्र के गाँवों की पेयजल समस्या के समाधान के लिये पेयजल योजना मंजूर करने के लिये ध्यान आकर्षित किया था, जिसे मुख्यमंत्री श्री चौहान ने सहर्ष स्वीकार किया।

केन्द्रीय कृषि एवं किसान-कल्याण मंत्री श्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने कहा कि मध्यप्रदेश अब पूरे देश में तेजी से बढ़ते हुए राज्य के रूप में जाना जाता है। गुड गवर्नेंस अब मध्यप्रदेश में निवेश के लिये बड़े-बड़े उद्योगपति तैयार रहते हैं। मुख्यमंत्री श्री चौहान के नेतृत्व में गाँव, गरीब और किसान के चेहरे पर खुशी है और उनके जीवन-स्तर में बड़ा बदलाव आया है। साथ ही नई-नई सड़कें, सीएम राईज स्कूल, गाँव-गाँव में नल से स्वच्छ पानी और हर घर तक रोशनी पहुँचाने का काम किया जा रहा है। प्रदेश की कानून-व्यवस्था भी बेहतर है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने महिलाओं के हित में मुख्यमंत्री कन्या विवाह एवं लाड़ली लक्ष्मी योजना के बाद अब लाड़ली बहना योजना शुरू की है, जिससे हर साल पात्र महिला के खाते में 12 हजार रूपए पहुँचेंगे। केन्द्रीय मंत्री श्री तोमर ने इस अवसर पर राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार एवं क्षेत्रीय विधायक श्री भारत सिंह कुशवाह द्वारा क्षेत्र के विकास की दिशा में कराए गए कार्यों की सराहना की।

जिला प्रभारी एवं जल संसाधन मंत्री श्री तुलसीराम सिलावट ने कहा कि प्रदेश में सिंचाई सुविधाओं के विस्तार में क्रांतिकारी काम हुआ है। वर्ष 2003 में प्रदेश में सिंचाई का रकबा लगभग 6 लाख हेक्टेयर था जो अब बढ़कर 45 लाख हैक्टेयर हो गया है। सरकार वर्ष 2025 तक 65 लाख हेक्टेयर रकबे में सिंचाई के लक्ष्य को लेकर काम कर रही है। इसी कड़ी में ग्वालियर जिले में रियासतकालीन जलाशयों के सुदृढ़ीकरण एवं उन्हें भरने की परियोजना स्वीकृत की गई है।

उद्यानिकी एवं खाद्य प्र-संस्करण राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री भारत सिंह कुशवाह ने ग्वालियर ग्रामीण क्षेत्र को दी गई बड़ी-बड़ी सौगातों के लिये मुख्यमंत्री श्री चौहान के प्रति क्षेत्रवासियों की ओर से धन्यवाद व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि साडा क्षेत्र की 18 ग्राम पंचायतों में बसे 28 गाँवों की वर्षों से चली आ रही पेयजल की समस्याओं के समाधान के लिये मुख्यमंत्री श्री चौहान ने लगभग 60 करोड़ रूपए की धनराशि मंजूर की है। ग्वालियर ग्रामीण विधानसभा क्षेत्र के बच्चों को कम्प्यूटर शिक्षा एवं बुजुर्गों के दाँतों के इलाज के लिये धनराशि उपलब्ध कराई गई है। रियासतकालीन के जलाशयों को भरने के लिये 63 करोड़ की योजना भी उन्होंने मंजूर की है। इसके लिये पूरा ग्वालियर ग्रामीण क्षेत्र मुख्यमंत्री के प्रति आभार प्रकट कर रहा है। सांसद श्री विवेक नारायण शेजवलकर ने भी संबोधित किया।

इन कार्यों का हुआ भूमि-पूजन एवं लोकार्पण

मुख्यमंत्री श्री चौहान एवं केन्द्रीय मंत्री श्री तोमर सहित अन्य अतिथियों ने लगभग 84 करोड़ रूपए लागत के विकास कार्यों का डिजिटल लोकार्पण और भूमि-पूजन किया। इनमें 63 करोड़ 75 लाख रूपए की लागत से रायपुर बाँध, मामा का बाँध, गिरवाई बाँध को भरने के लिये सांक-नून ट्विन डक और फीडर चैनल (नहर) का निर्माण, 17 करोड़ 54 लाख रूपए की लागत से तिघरा जलाशय का सीपेज रोकने के लिये होने जा रहे संधारण कार्य, ग्रामीण विकास विभाग की विभिन्न योजनाओं में लगभग एक करोड़ 74 लाख रूपए के विकास कार्यों का शिलान्यास एवं लगभग 95 लाख की लागत के विकास कार्यों का लोकार्पण शामिल है।

हितलाभ वितरण

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने तिघरा में विकास कार्यों के लोकार्पण एवं भूमि-पूजन समारोह में लाड़ली लक्ष्मी योजना, कस्टम हायरिंग केन्द्र, मत्स्य-पालन पट्टे, प्रधानमंत्री आवास योजना, स्व-सहायता समूहों को नल-जल योजना का संधारण, राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन की साख सीमा, भू-अधिकार पट्टा, कम्‍प्यूटर प्रशिक्षण प्रमाण-पत्र, दंत क्रांति सहित अन्य योजनाओं के हितलाभ बाँटे। साथ ही एडॉप्ट एन आँगनवाड़ी अभियान और विद्यालयों के उन्नयन में सहयोग देने वालों को सम्मानित किया।

मुख्यमंत्री श्री चौहान के प्रति धन्यवाद जताने पहुँचे लाभान्वित

आयुष्मान भारत योजना की सहायता से किडनी ट्रांसप्लांट कराकर नया जीवन पाने वाले श्री यश पवार के पिता एवं राज्य सरकार की छात्रवृत्ति योजना में मेडिकल की पढ़ाई कर रहे श्री कोमल सिंह ने मुख्यमंत्री के प्रति धन्यवाद व्यक्त किया। इसी तरह लाड़ली लक्ष्मी, आहार अनुदान, कृषि सिंचाई और उद्यम क्रांति योजना सहित सरकार की अन्य योजनाओं से लाभान्वित हितग्राहियों ने हाथों में तख्तियाँ लेकर मुख्यमंत्री श्री चौहान का आभार जताया पहुँचे।

मुख्यमंत्री ने लिया समूह की दीदियों द्वारा तैयार समोसे का स्वाद

आरंभ में मुख्यमंत्री श्री चौहान ने ग्रामीण आजीविका मिशन के स्व-सहायता समूह की दीदियों द्वारा “स्वाद संगम” नाम से संचालित चलित रेस्टोरेंट वाहन को हरी झण्डी दिखाई। साथ ही समूह की दीदियों द्वारा तैयार समोसे का स्वाद भी लिया। उन्होंने प्रधानमंत्री टीबी मुक्त भारत अभियान के “निक्षय पोषण” रथों को हरी झण्डी दिखा कर रवाना किया। मुख्यमंत्री ने साडा क्षेत्र के 28 गाँव के लिये बनाई गई समूह पेयजल योजना के मॉडल का अवलोकन भी किया।

Comments

Popular posts from this blog

स्व. श्री कैलाश नारायण सारंग की जयंती पर संपूर्ण देश में मना मातृ-पितृ भक्ति दिवस

श्री हरिहर महोत्सव समिति के अध्यक्ष बने राजेंद्र शर्मा

कोविड-19 महामारी में बचाव कार्य करने वाले समस्त कोविड स्टाफ को बहाल किया जाए एवं संविदा नियुक्ति दी जाए:- डॉ सूर्यवंशी