जम्मू-कश्मीर में जोशीमठ जैसा संकट! दर्जनों घरों में आई दरारें, 19 परिवारों को किया शिफ्ट

जम्मू कश्मीर के डोडा जिले में भी जोशीमठ जैसा संकट सामने आया है। डोडा जिले के एक गांव की जमीन धंस रही है जिसके चलते इमारतों में लगातार दरारें आ रही हैं। अब तक 19 घरों, 1 मस्जिद और 1 मदरसे को खाली कराया गया है। निवासियों में दहशत का माहौल है।


भू-धंसाव संकट से जूझ रहे उत्तराखंड के जोशीमठ के बाद अब जम्मू-कश्मीर में भी इस तरह का खतरा मंडराने लगा है। डोडा जिले के एक गांव में 21 घरों में बड़ी दरारें आ गई हैं। इतना ही नहीं इनमें से कुछ घर ढह गए हैं। किसी अनहोनी से बचने के लिए 19 परिवारों को सुरक्षित स्थानों पर भेजा गया है। अधिकारियों ने एक धार्मिक स्थल तथा छात्राओं के लिए धार्मिक स्कूल को भी असुरक्षित घोषित किया है।


19 परिवारों के 117 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया

एसडीएम ठाठरी अतहर आमिन जरगर के अनुसार, अब 19 परिवारों के 117 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है। स्थिति पर पूरी नजर रखी जा रही है। ग्रामीणों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए कदम उठाए जाएंगे। उन्होंने जोशीमठ जैसे हालात से इन्कार करते हुए कहा कि भूस्खलन से दिक्कत आई है। चिनाब वैली पावर प्रोजेक्ट्स तथा नेशनल हाईवे प्राधिकरण के भूगर्भशास्त्रियों ने भी मौके का निरीक्षण किया है।

Comments

Popular posts from this blog

स्व. श्री कैलाश नारायण सारंग की जयंती पर संपूर्ण देश में मना मातृ-पितृ भक्ति दिवस

श्री हरिहर महोत्सव समिति के अध्यक्ष बने राजेंद्र शर्मा

प्रदेश के सभी जिलों को एयर एंबुलेंस सुविधा दिलाने के लिए होगी पहल