Urfi: साजिद ने एमसी स्टैन को दिया अर्चना को थप्पड़ मारने का सुझाव, उर्फी बोलीं- उनके व्यक्तित्व से बदबू आती है

 

साजिद खान ने हाल के बिग बॉस एपिसोड में एमसी स्टैन को अर्चना के थप्पड़ मारने की सलाह दी थी,  अब उर्फी जावेद ने इसी बात को लेकर साजिद खान पर निशाना साधा है और पोस्ट साझा कर कहा कि उनके व्यक्तित्व से बदबू आती है।

उर्फी जावेद, साजिद खान

मीटू के चलते 'बिग बॉस 16' की शुरुआत से ही निर्देशक साजिद खान सोशल मीडिया यूजर्स के निशाने पर रहे हैं। उनको लेकर आए दिन कोई न कोई बवाल मचता ही रहता है, चाहे वह अब्दू के साथ मजाक हो या अर्चना गौतम के साथ उनकी लड़ाई। अब हाल ही में एक बार फिर से साजिद खान ने कुछ ऐसा कर दिया कि एक बार फिर से लोगों का गुस्सा चढ़ गया है। वहीं हमेशा अपने कपड़ों और बेबाक बयानों को लेकर चर्चा में बनी रहने वाली उर्फी जावेद ने भी इस पर अपनी कड़ी प्रतिक्रिया दी है।

एमसी स्टैन और अर्चना गौतम में हुई थी जबरदस्त फाइट
दरअसल हाल ही के एपिसोड में अर्चना गौतम और एमसी स्टैन के बीच जमकर झगड़ा देखने को मिला था, जिसके बाद एमसी स्टैन बेहद गुस्से में दिखाई दिए और वह वॉलेंटियर एग्जिट (शो छोड़ना) चाहते थे। इस दौरान उन्होंने खुद को कुछ देर के लिए लॉक भी कर लिया और घर में पड़ा फर्नीचर भी फेंक देते हैं। जिसके बाद साजिद को कहते सुना जा सकता है कि ऐसे क्यों कर रहे हो इससे अच्छा अर्चना गौतम को थप्पड़ मार दो। तुम्हें खुद ही बाहर कर दिया जाएगा।

साजिद के कहने के बाद अर्चना को मारने दौड़े एमसी स्टैन
इसके बाद एमसी स्टैन गुस्से में तुरंत अर्चना को थप्पड़ मारने के लिए दौड़ पड़ते हैं। हालांकि साजिद खान ने यह क्यों कहा ये तो वह बाद में खुद ही स्पष्ट करेंगे लेकिन अब उर्फी जावेद ने इस पर पोस्ट साझा कर खरी-खोटी सुनाई है। उर्फी ने अपनी इंस्टाग्राम स्टोरी से पोस्ट साझा करते हुए लिखा, "साजिद खान ने सोचा था कि बिग बॉस में आने से उनकी छवि साफ हो जाएगी लेकिन उन्होंने अपना असली रंग दिखा दिया। वह वास्तव में अपने साथी प्रतियोगी को एक महिला प्रतियोगी को मारने  के लिए प्रोत्साहित कर रहे हैं, उनके व्यक्तित्व से बदबू आ रही है।"

Comments

Popular posts from this blog

स्व. श्री कैलाश नारायण सारंग की जयंती पर संपूर्ण देश में मना मातृ-पितृ भक्ति दिवस

श्री हरिहर महोत्सव समिति के अध्यक्ष बने राजेंद्र शर्मा

सनातन संस्कृति की रक्षा में संतों का अद्वितीय योगदान है - मुख्यमंत्री डॉ. यादव