Nusrat Jahan: प्यार, शादी, धोखा और विवाद...करियर से लेकर निजी जिंदगी तक कुछ ऐसा रहा है नुसरत जहां का सफर

बंगाली सिनेमा की अभिनेत्री से लेकर राजनीति की गलियों तक का सफर बखूबी तय करने वाली नुसरत जहां आज अपना जन्मदिन सेलिब्रेट कर रही हैं। 8 जनवरी 1990 को कोलकाता में जन्मीं नुसरत जहां ने फिल्मों में राज चक्रवर्ती की फिल्म शोत्रु (2011) से डेब्यू किया था। नुसरत ने साल 2010 में मॉडलिंग से अपने करियर की शुरुआत की थी। इसी साल वह फेयर वन मिस कोलकाता भी बनी थीं। ठीक-ठाक फिल्मी करियर के साथ ही राजनीति में भी नुसरत ने धाक जमा दी। कहते हैं कि जब शोहरत कदम चूमती है तो विवाद भी पीछे लगने लगते हैं। ऐसा ही  कुछ नुसरत जहां की जिंदगी का सफर भी रहा है। जानते हैं कि कब-कब अभिनेत्री की जिंदगी से जुड़ा विवादों का नाता।
नुसरत जहां
वेस्टर्न ड्रेस में पार्लियामेंट पहुंचने पर हुआ जमकर हंगामा
नुसरत जहां तृणमूल कांग्रेस की सीट से सांसद बनी थीं। सांसद बनने के बाद जब पहले दिन नुसरत जहां पार्लियामेंट में पहुंचीं तो उनके कपड़ों पर जमकर हंगामा हुआ। दरअसल एक्ट्रेस संसद में वेस्टर्न ड्रेस पहनकर पहुंचीं थी। इस तस्वीर को उन्होंने सोशल मीडिया पर भी साझा किया था, जिसके बाद राजनेताओं से लेकर आम लोगों ने उनकी आलोचना की थी। हालांकि
नुसरत ने भी इस पर बेबाकी से अपना पक्ष रखा।
नुसरत जहां
नुसरत जहां की शादी के बाद निजी जिंदगी भी रही विवादों के हवाले
नुसरत ने 2019 में बॉयफ्रेंड निखिल जैन से तुर्की में शादी की थी। दोनों की शादी हिंदू और मुस्लिम रीति-रिवाज के साथ हुई लेकिन शादी के कुछ ही दिनों बाद खूब विवाद हुआ। दोनों ने एक दूसरे पर खूब आरोप-प्रत्यारोप लगाए। इस तरह से नुसरत और निखिल जैन ने अपने रास्ते अलग कर लिए।
नुसरत जहां
प्रेग्नेंसी की खबर ने मचाया था तहलका
साल 2021 में नुसरत और अभिनेता यश दासगुप्ता के अफेयर की खबरें सामने आने लगीं और यह जानकारी भी सामने आई कि पति निखिल जैन द्वारा उन्हें नोटिस भेजा गया है। हालांकि एक्ट्रेस ने इससे इंकार किया था। इसी बीच नुसरत के प्रेग्नेंट होने की खबरें सामने आने लगीं। उस समय अपने पति निखिल जैन से नुसरत का विवाद चल रहा था ऐसे में बच्चे के पिता के नाम को लेकर भी नुसरत को खूब ट्रोल किया गया।
नुसरत जहां
जब माथे पर सिंदूर लगाए संसद पहुंचीं नुसरत जहां
नुसरत  जहां ने निखिल जैन से शादी की थी, जबकि वह मुस्लिम समुदाय से आती हैं। अपनी शादी के बाद जब नुसरत पहली बार संसद पहुंचीं तो इस दौरान वह साड़ी में थीं और उन्होंने मंगलसूत्र के साथ मांग में सिंदूर भी लगाया था। उनका मंगलसूत्र और सिंदूर भी   खूब चर्चा का विषय बना। इसी के चलते नुसरत जहां के खिलाफ देवबंद के धर्मगुरुओं ने फतवा भी जारी कर दिया। उनका कहना था कि मुस्लिम लड़कियों को सिर्फ मुस्लिम लड़कों से ही निकाह करना चाहिए। नुसरत एक मुस्लिम महिला हैं तो वो सिंदूर कैसे लगा सकती हैं। सिंदूर और मंगलसूत्र देखने के बाद यह भी सवाल उठे कि क्या उन्होंने अपना धर्म परिवर्तन कर लिया है।

 

Comments

Popular posts from this blog

स्व. श्री कैलाश नारायण सारंग की जयंती पर संपूर्ण देश में मना मातृ-पितृ भक्ति दिवस

श्री हरिहर महोत्सव समिति के अध्यक्ष बने राजेंद्र शर्मा

सनातन संस्कृति की रक्षा में संतों का अद्वितीय योगदान है - मुख्यमंत्री डॉ. यादव