IPL 2023 : महिला आईपीएल में फ्रेंचाइजी टीमों को लेकर बीसीसीआई ने की ये बड़ी घोषणा

 बीसीसीआई ने महिला आईपीएल 2023 के लिए सभी फ्रेंचाइजी टीमों के स्वामित्व और संचालन के लिए इच्छुक प्रतिष्ठित संस्थाओं को आमंत्रित करने के लिए एक निविदा जारी की। बता दें कि वूमन आईपीएल का पहला सीजन 3 से 26 मार्च तक होने के आसार हैं। इसके लिए इच्छुक संस्थाओं को 21 जनवरी तक पांच लाख रुपये का आईटीटी खरीदना होगा।


भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ने महिला इंडियन प्रीमियर लीग के पहले सीजन को लेकर तैयारियां शुरू कर दी हैं। बीसीसीआई ने सभी फ्रेंचाइजी टीमों के स्वामित्व और संचालन के लिए इच्छुक पार्टियों को आमंत्रित करने के लिए एक निविदा जारी की। बता दें कि महिला आईपीएल का पहला सीजन पुरुष आईपीएल से ठीक पहले 3 से 26 मार्च तक होने की संभावना है। भारतीय क्रिकेट बोर्ड ने एक बयान जारी करते हुए कहा है कि बीसीसीआई महिला इंडियन प्रीमियर लीग में एक टीम के स्वामित्व और संचालन के अधिकार के लिए निविदा आमंत्रण जारी करने की घोषणा की गई है।
बीसीसीआई ने कहा है कि आईपीएल की गवर्निग काउंसिल ने एक निविदा प्रक्रिया के माध्यम से महिला इंडियन प्रीमियर लीग में एक टीम के स्वामित्व और संचालन का अधिकार हासिल करने के लिए प्रतिष्ठित संस्थाओं से बोली आमंत्रित की है। आईटीटी 21 जनवरी 2023 तक पांच लाख रुपये के गैर वापसी योग्य शुल्क पर खरीद के लिए उपलब्ध होगा।
आईटीटी खरीदना जरूरी
बताया गया है कि बोली जमा करने की इच्छुक किसी भी पार्टी के लिए आईटीटी खरीदना आवश्यक है। हालांकि, केवल आईटीटी में निर्धारित पात्रता मापदंडों को पूरा करने वाले और उसमें निर्धारित अन्य नियमों और शर्तों के अधीन ही बोली लगाने के पात्र होंगे। यह स्पष्ट किया जाता है कि केवल इस आईटीटी को खरीदने से कोई व्यक्ति बोली लगाने का हकदार नहीं हो सकता।
कितनी टीमों पर लगेगी बोली, नहीं दी जानकारी
बीसीसीआई ने यह भी कहा कि वह अपने विवेक से किसी भी स्तर पर बोली प्रक्रिया को रद्द या संशोधित करने का अधिकार सुरक्षित रखता है। हालांकि कितनी टीमों की बोली लगेगी, इस बारे में अभी कोई जानकारी नहीं दी गई है।

Comments

Popular posts from this blog

स्व. श्री कैलाश नारायण सारंग की जयंती पर संपूर्ण देश में मना मातृ-पितृ भक्ति दिवस

श्री हरिहर महोत्सव समिति के अध्यक्ष बने राजेंद्र शर्मा

कोविड-19 महामारी में बचाव कार्य करने वाले समस्त कोविड स्टाफ को बहाल किया जाए एवं संविदा नियुक्ति दी जाए:- डॉ सूर्यवंशी