IND vs NZ : भारत से वनडे सीरीज हारने के बाद टूट गए न्यूजीलैंड के कप्तान, गिनाए हार के कारण

IND vs NZ 2nd ODI : भारत वनडे सीरीज हारने के बाद न्यूजीलैंड के कप्तान टॉम लैथम बुरी तरह से टूट गए हैं। उन्होंने कहा कि मोहम्मद शमी और मोहम्मद सिराज ने शानदार गेंदबाजी की है। दोनों ही गेंदबाजों की लाइन लेंथ हमारे लिए काफी चुनौतीपूर्ण रही। उन्होंने बल्लेबाजों को रन बनाने का मौका नहीं दिया। लैथम ने कहा कि ये दिन उनके लिए अच्छा था और हमारे लिए खराब रहा।

ind-vs-nz-2nd-odi-tom-latham-statement-tom-latham-feeling-very-sad.jpg
IND vs NZ : भारत से वनडे सीरीज हारने के बाद टूट गए न्यूजीलैंड के कप्तान, गिनाए हार के कारण।
IND vs NZ 2nd ODI : भारत वनडे सीरीज हारने के बाद न्यूजीलैंड के कप्तान टॉम लैथम काफी दुखी हैं। रायपुर में शनिवार को खेले गए दूसरे मुकाबले में टीम इंडिया ने न्यूजीलैंड को सस्ते में समेटकर 8 विकेट से बड़ी जीत दर्ज करते हुए तीन मैचों की वनडे सीरीज में 2-0 से अजेय बढ़त हासिल कर ली है। कप्तान रोहित शर्मा समेत पूरा भारतीय खेमा जहां जीत की खुशियां मना रहा है, वहीं न्यूजीलैंड के कप्तान टॉम लाथम अपनी टीम के प्रदर्शन से बेहद दुखी हैं। उन्होंने कहा कि मोहम्मद शमी और मोहम्मद सिराज की गेंदबाजी का सामना करने में हम लगातार दूसरी बार असफल रहे हैं। इसी वजह से न्यूजीलैंड भारत के खिलाफ वनडे सीरीज में हारा है।
बता दें कि भारत के खिलाफ पहले एकदिवसीय मैच में माइकल ब्रेसवेल ने कीवी टीम की अच्छी वापसी कराई थी, लेकिन उसके बावजूद उस रोमांचक मुकाबले में न्यूजीलैंड 12 रनों से हार गया। वहीं, शनिवार को हुए दूसरे मुकाबले में न्यूजीलैंड की टीम महज 108 रनों पर सिमट गई। शमी और सिराज की गेंदबाजी के सामने न्यूजीलैंड का टॉप ऑर्डर एक बार फिर बिखर गया और अंत कीवी टीम को झटके लगते रहे।
'शमी-सिराज ने रन बनाने का मौका नहीं दिया'

न्यूजीलैंड के कप्तान टॉम लैथम ने वनडे सीरीज हारने के बाद कहा है कि मोहम्मद शमी और मोहम्मद सिराज ने शानदार गेंदबाजी की है। दोनों ही गेंदबाजों की लाइन लेंथ हमारे लिए काफी चुनौतीपूर्ण रही। उन्होंने बल्लेबाजों को रन बनाने का मौका नहीं दिया। दूसरे वनडे में मिली करारी हार पर लैथम ने कहा कि ये दिन उनके लिए अच्छा था और हमारे लिए खराब। हम वापसी नहीं कर सके।

'साझेदारी नहीं बना पाना भी असफलता का कारण'

उन्होंने आगे कहा कि जब आप 100 रन के आसपास आउट होते हैं तो चीजें मुश्किल हो जाती हैं। हमारी किस्मत अच्छी नहीं थी। अब हम अगले मैच में चीजें बदलने का प्रयास करेंगे। उन्होंने कहा कि टीम की असफलता का सबसे बड़ा साझेदारी नहीं बना पाना है। हालांकि सैंटनर और ब्रेसवेल ने साझेदारी बनाने का प्रयास किया और फिर फिलिप्स और सैंटनर ने भी किया। लेकिन, 100 रन के स्कोर के आसपास आउट होंगे तो वापसी मुश्किल होगी।

Comments

Popular posts from this blog

स्व. श्री कैलाश नारायण सारंग की जयंती पर संपूर्ण देश में मना मातृ-पितृ भक्ति दिवस

श्री हरिहर महोत्सव समिति के अध्यक्ष बने राजेंद्र शर्मा

प्रदेश के सभी जिलों को एयर एंबुलेंस सुविधा दिलाने के लिए होगी पहल