IND vs AUS: अक्षर-अश्विन नहीं, ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ यह स्पिनर हो सकता है एक्स-फैक्टर, गंभीर ने बताई वजह, जानें

 

विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप के पॉइंट्स टेबल में फिलहाल ऑस्ट्रेलिया और भारत की टीमें शीर्ष दो स्थान पर काबिज है। जैसे-जैसे ये सीरीज पास आ रही है, वैसे-वैसे फैंस में टीम चयन को लेकर भी दिलचस्पी बढ़ गई है। भारत में टेस्ट सीरीज होने पर स्पिन हमेशा एक प्रमुख हथियार रहा है।

भारतीय टीम

श्रीलंका और न्यूजीलैंड के खिलाफ सीमित ओवरों की सीरीज के बाद भारत अगले महीने से ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चार मैचों की टेस्ट सीरीज खेलेगा। वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल के लिए क्वालिफाई करने के लिहाज से यह सीरीज टीम इंडिया के लिए काफी महत्वपूर्ण है। भारतीय टीम को इस सीरीज में कम से कम दो मैच जीतने होंगे। सीरीज हारने पर टीम इंडिया पर वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल से बाहर होने का खतरा होगा।

गंभीर ने इस खिलाड़ी को बताया एक्स-फैक्टर

विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप के पॉइंट्स टेबल में फिलहाल दोनों टीमें शीर्ष दो स्थान पर काबिज है। जैसे-जैसे ये सीरीज पास आ रही है, वैसे-वैसे फैंस में टीम चयन को लेकर भी दिलचस्पी बढ़ गई है। भारत में टेस्ट सीरीज होने पर स्पिन हमेशा एक प्रमुख हथियार रहा है। ऐसे में भारत के पूर्व दिग्गज बल्लेबाज गौतम गंभीर को लगता है कि कुलदीप यादव अनुभवी ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन और बाएं हाथ के स्पिनर अक्षर पटेल की जगह भारत के लिए 'एक्स-फैक्टर' साबित होंगे।

गौतम गंभीर
गौतम गंभीर - फोटो : सोशल मीडिया
गुरुवार को श्रीलंका के खिलाफ दूसरे वनडे में भारतीय थिंक-टैंक द्वारा बार-बार ठुकराए गए कुलदीप ने एक और बार अपनी क्षमता साबित की। उन्होंने सिराज के साथ मिलकर श्रीलंकाई बैटिंग लाइन अप को तहस नहस कर दिया। दोनों ने तीन-तीन विकेट झटके। कुलदीप ने 10 ओवर में 51 रन देकर तीन विकेट झटके। साथ ही 'मैन ऑफ द मैच' का पुरस्कार जीता। भारत ने केएल राहुल के 64 रन बनाकर नाबाद रहते हुए चार विकेट से मैच जीत लिया। कुलदीप और राहुल के प्रदर्शन के कारण भारत ने तीन मैचों की सीरीज में 2-0 की अजेय बढ़त बना ली।

गंभीर ने मैच के बाद कहा- वह हमेशा इसी तरह से कंसिस्टेंट रहते हैं। यह सिर्फ उनका आत्मविश्वास जाहिर करता है। हमने रोहित शर्मा के बारे में जो कुछ भी देखा है, उनमें युवा गेंदबाजों को वह आत्मविश्वास देने की क्षमता है। अब समय आ गया है कि उन्हें कुलदीप यादव के साथ खड़े रहना चाहिए। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में उनकी गेंदबाजी से काफी फायदा होगा। ऑस्ट्रेलिया टेस्ट सीरीज में कुलदीप की गेंदबाजी में महत्वपूर्ण होगी। यदि आप कुलदीप को शेड में रखते हैं और उन्हें वनडे फॉर्मेट खेलने नहीं देते हैं और आप उन्हें अचानक टेस्ट सीरीज के लिए लाते हैं, तो उनके पास कम बॉलिंग प्रैक्टिस होगी।

गंभीर ने कुलदीप की तारीफ की

IND vs BAN: Kuldeep Yadav shatters Ashwin and Kumble's records with  smashing return to India Test side | Cricket News

गंभीर ने कहा- मुझे लगता है कि कुलदीप को ऑस्ट्रेलिया टेस्ट सीरीज तक हर वनडे में खिलना चाहिए क्योंकि वह उस सीरीज में बहुत महत्वपूर्ण होने वाले हैं। मेरे लिए, वह आर अश्विन, अक्षर से आगे एक्स-फैक्टर बनने जा रहे हैं। दरअसल, कुलदीप को हाल ही में बांग्लादेश के खिलाफ दो मैचों की टेस्ट सीरीज के पहले मैच में टीम में शामिल किया गया था। उस मैच में वह मैन ऑफ द मैच भी रहे थे, लेकिन अगले ही टेस्ट में उन्हें ड्रॉप कर दिया गया। इसको लेकर टीम मैनेजमेंट की खूब आलोचना हुई थी। भारत को श्रीलंका के खिलाफ तीसरा वनडे 15 जनवरी को तिरुवनंतपुरम में खेलना है। इसके बाद टीम न्यूजीलैंड के खिलाफ तीन-तीन मैचों की वनडे और टी20 सीरीज खेलेगी। नौ फरवरी से भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच टेस्ट सीरीज की शुरुआत होगी।

Comments

Popular posts from this blog

स्व. श्री कैलाश नारायण सारंग की जयंती पर संपूर्ण देश में मना मातृ-पितृ भक्ति दिवस

श्री हरिहर महोत्सव समिति के अध्यक्ष बने राजेंद्र शर्मा

कोविड-19 महामारी में बचाव कार्य करने वाले समस्त कोविड स्टाफ को बहाल किया जाए एवं संविदा नियुक्ति दी जाए:- डॉ सूर्यवंशी