मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने स्मार्ट पार्क में पीपल, बरगद, खिरनी, गुलमोहर, नीम और जामुन के पौधे लगाए

मुख्यमंत्री श्री चौहान के साथ तंजानिया के प्रतिनिधि-मंडल ने पौध-रोपण किया

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने स्मार्ट पार्क में तंजानिया के अतिथियों के साथ स्मार्ट पार्क (वाटर विजन पार्क) में पीपल, बरगद, खिरनी, गुलमोहर, नीम और जामुन के पौधे लगाए सांसद श्री वी.डी. शर्मा भी उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने पौधे लगाने के बाद मीडिया प्रतिनिधियों से कहा कि प्राचीन समय से भारत और तंजानिया के मधुर संबंध हैं। अटल जी ने इन संबंधों को प्रगाढ़ बनाने का कार्य किया। उन्होंने तंजानिया के विद्यार्थियों, किसानों आदि को मध्यप्रदेश आने के लिए आमंत्रित किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बताया कि तंजानिया के प्रतिनिधि-मंडल के सदस्यों को मध्यप्रदेश और भोपाल के प्राकृतिक सुंदरता पसंद आई है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि तंजानिया की सीसीएम पार्टी के पदाधिकारियों का एक उच्चतरीय प्रतिनिधि-मंडल आज मध्यप्रदेश आया है। श्री अब्दुल रहमान किनाना सीसीएम पार्टी के वाइस प्रेसीडेंट हैं। उनके साथ राष्ट्रीय कार्यकारिणी और संसदीय समिति के सदस्य अबदुल्ला म्वीनी श्री मसाफिरी विल्बर्ट, श्री थाडेओ बुरटन और सलुम बकारी सूमा भी आएं हैं। प्रधानमंत्री श्री मोदी जी के नेतृत्व में इन संबंधों को गहराई मिल रही है। मध्यप्रदेश में हो रहे विशेषकर महिला सशक्तिकरण, गरीब कल्याण, कृषि सहित प्रदेश के विकास के बारे में उन्हें बताया गया। मुझे खुशी है कि तंजानिया के प्रतिनिधि-मंडल के सदस्य लाड़ली लक्ष्मी योजना से बहुत प्रभावित हुए है।

प्रतिनिधि-मंडल के प्रमुख श्री अब्दुल रहमान किनाना ने बताया कि वे मध्यप्रदेश में किसान वर्ग, बहन और बेटियों को सहायता देने की योजनाओं से प्रभावित हैं। विशेष रूप से लाड़ली लक्ष्मी योजना काफी उपयोगी योजना है। मध्यप्रदेश आकर उन्हें प्रसन्नता हो रही है। यह स्वच्छता की दृष्टि से भी अच्छा प्रदेश है। इन्दौर विश्व के स्वच्छतम शहरों में एक है।तंजानिया के प्रतिनिधि-मंडल के सदस्यों ने उद्यान में पौधे लगाए और मुख्यमंत्री श्री चौहान के साथ श्रमदान भी किया।

Comments

Popular posts from this blog

स्व. श्री कैलाश नारायण सारंग की जयंती पर संपूर्ण देश में मना मातृ-पितृ भक्ति दिवस

श्री हरिहर महोत्सव समिति के अध्यक्ष बने राजेंद्र शर्मा

सनातन संस्कृति की रक्षा में संतों का अद्वितीय योगदान है - मुख्यमंत्री डॉ. यादव