जोशीमठ : सीएम धामी कैबिनेट के अहम फैसले, बिजली-पानी बिल और सालभर के लिए लोन माफ

 CM Dhami cabinet decisions जोशीमठ भू धंसाव को लेकर उत्तराखंड सीएम पुष्कर धामी ने कैबिनेट की आपात बैठक बुलाई थी। जिसमें कई अहम फैसले लिए गए हैं।

uttarakhand_cm.jpg
जोशीमठ : सीएम धामी कैबिनेट के अहम फैसले, बिजली-पानी बिल और सालभर के लिए लोन माफ
जोशीमठ भू धंसाव से प्रभावित लोग अपने जीवन को लेकर बेहद चिंतित हैं। आगे क्या होगा, सभी के मन में सिर्फ यह सवाल तैर रहा है। जोशीमठ भू धंसाव से प्रभावित लोगों के हित और पुर्नवास के लिए उत्तराखंड सीएम पुष्कर सिंह धामी की अध्यक्षता में शुक्रवार को कैबिनेट बैठक हुई। जिसमें कई अहम फैसले लिए गए हैं। धामी कैबिनेट बैठक में फैसला किया गया कि, प्रभावितों ने अगर सहकारिता बैंक से लोन लिया है तो उस ऋण की किस्त एक साल के लिए माफ कर दी गई है। वहीं राष्ट्रीयकृत और निजी बैंक से लोन की किस्त को एक साल माफ करने के लिए केंद्र को प्रस्ताव भेजा जाएगा। इसके साथ ही उत्तराखंड कैबिनेट ने बिजली और पानी बिल नवंबर माह से अगले 6 माह के लिए माफ कर दिया गया है। इसके अतिरिक्त एक बड़ी राहत है कि, उत्तराखंड कैबिनेट के सभी मंत्री एक माह का वेतन मुख्यमंत्री राहत कोष में दान करेंगे।
प्रभावित के विस्थापन के लिए पांच नई जगह चिह्नित
जोशीमठ संकट पर उत्तराखंड सीएम पुष्कर धामी की कैबिनेट बैठक के बाद सचिव आपदा रंजीत सिन्हा ने बताया कि, प्रभावित लोगों को विस्थापन के लिए पीपलकोटी, गौचर, ढाक, कोटिफार्म, सेलांग के साथ-साथ नई जगह चिह्नित की गई हैं। सरकार ने 5000 रुपए तक किराया बढ़ाने का फैसला लिया है। यह सिर्फ मकान मालिक के लिए है। किराएदारों के लिए कोई राहत नहीं है।
राहत शिविर में एक कमरे के देने होगे 950 रुपए महीना

उत्तराखंड कैबिनेट के फैसले के अनुसार, सरकार ने राहत शिविर में एक कमरा अधिकतम 950 रुपये महीना रुपए की घोषणा की है। खाने के लिए प्रतिदिन प्रति व्यक्ति 450 रुपए खर्च होगा। विस्थापित लोगों के परिवार से 2 लोगों को मनरेगा में काम मिलेगा। इसके अतिरिक्त प्रति जानवर 15 हजार रुपए दिए जाएंगे। जोशीमठ में 80 बड़े और 45 छोटे पशु हैं।

Comments

Popular posts from this blog

स्व. श्री कैलाश नारायण सारंग की जयंती पर संपूर्ण देश में मना मातृ-पितृ भक्ति दिवस

श्री हरिहर महोत्सव समिति के अध्यक्ष बने राजेंद्र शर्मा

सनातन संस्कृति की रक्षा में संतों का अद्वितीय योगदान है - मुख्यमंत्री डॉ. यादव