पृथ्वी शॉ ने 379 रनों की तूफानी पारी खेल रचा इतिहास, टीम इंडिया के चयनकर्ताओं को दिया मुंहतोड़ जवाब

Prithvi Shaw Ranji Trophy : भारतीय टीम से बाहर चल रहे सलामी बल्लेबाज पृथ्वी शॉ एक बार फिर तूफानी पारी खेलते हुए इतिहास रच दिया है। इसके पारी के साथ ही पृथ्वी ने टीम इंडिया के चयनकर्ताओं को मुंहतोड़ जवाब भी दिया है। मुंबई बनाम असम के रणजी ट्रॉफी मुकाबले में पृथ्वी ने 379 रन बनाए हैं। वह 400 रन के एतिहासिक आंकड़े से महज 21 रन से चूक गए हैं।

prithvi-shaw-ranji-trophy-record-indian-first-class-cricket-mumbai-vs-assam-match-updates.jpg
पृथ्वी शॉ ने 379 रनों की तूफानी पारी खेल रचा इतिहास, चयनकर्ताओं को दिया मुंहतोड़ जवाब।
Prithvi Shaw Ranji Trophy : मुंबई और असम के बीच खेले जा रहे रणजी ट्रॉफी 2022-23 के मुकाबले में पृथ्वी शॉ ने तूफानी पारी खेलते हुए इतिहास रच दिया है। पृथ्वी शॉ ने ताबड़तोड़ बल्लेबाजी करते हुए 379 रनों की जबरदस्त पारी खेली है। हालांकि वह 400 रन के एतिहासिक आंकड़े से चूक गए हैं। शॉ को असम के गेंदबाज रियान पराग ने एलबीडब्ल्यू आउट किया। बता दें कि श्रीलंका के खिलाफ भी 23 वर्षीय पृथ्वी शॉ काे टीम इंडिया में शामिल नहीं किया गया है। पृथ्वी शॉ ने एक बार फिर शानदार प्रदर्शन करते हुए टीम इंडिया के चयनकर्ताओं को बल्ले से मुंहतोड़ जवाब दिया है।
गुवाहाटी के अमीनगांव क्रिकेट स्टेडियम में मुंबई और असम के बीच रणजी ट्रॉफी का मैच खेला जा रहा है। जिसमें पृथ्वी शॉ ने 379 रनों की जबरदस्त पारी खेली है। इस पारी के साथ ही पृथ्वी भारतीय फर्स्ट क्लास क्रिकेट और रणजी ट्रॉफी के इतिहास में सबसे बड़ा दूसरा स्कोर बनाने वाले खिलाड़ी बन गए हैं। उन्होंने 1991 में मुंबई के लिए हैदराबाद के खिलाफ संजय मांजरेकर के 377 रनों के रिकॉर्ड को तोड़ दिया है। अब उनसे आगे सिर्फ महाराष्ट्र के ही बीबी निम्बालकर हैं, जिन्होंने 1948 में काठियावाड़ के खिलाफ 443 रनों की नाबाद पारी खेली थी।
इस तरह पृथ्वी शॉ ने खेली ताबड़तोड़ पारी

पृथ्वी शॉ ने 383 गेंदों का सामना करते हुए 379 रनों की तूफानी पारी खेली है। सलामी बल्लेबाज के तौर पर उतरे पृथ्वी ने अपनी पारी में चार छक्के और 49 चौके जड़े हैं। पृथ्वी का स्ट्राइक रेट 98.96 का रहा। बता दें कि पहले दिन मंगलवार को 240 रनों पर नाबाद पारी खेलकर पवेलियन लौटे थे। वहीं आज पृथ्वी शॉ 379 रन बनाकर आउट हो गए, अगर वह थोड़ी देर और क्रीज पर रुकते तो 400 रनों का रिकॉर्ड बना देते। वह मुंबई को 598 के मजबूत स्कोर तक पहुंचाकर तीसरे विकेट के रूप में आउट हुए हैं। जबकि टीम के कप्तान अजिंक्य रहाणे शतक बनाकर क्रीज पर मौजूद हैं।

रणजी ट्रॉफी में सर्वश्रेष्ठ स्कोर

1. बीबी निम्बालकर - नाबाद 443 रन (महाराष्ट्र बनाम काठियावाड़ 1948 में)

2. पृथ्वी शॉ - 379 रन (मुंबई बनाम असम 2023 में)

3. संजय मांजरेकर - 377 रन (बंबई बनाम हैदराबाद 1991 में)

4. एमवी श्रीधर - 366 रन (हैदराबाद बनाम आंध्रा 1994 में)
5. विजय मर्चेंट - नाबाद 359 रन (बंबई बनाम महाराष्ट्र 1943 में)

5. सुमित गोहेल- नाबाद 359 रन (गुजरात बनाम ओडिशा 2016 में)

Comments

Popular posts from this blog

स्व. श्री कैलाश नारायण सारंग की जयंती पर संपूर्ण देश में मना मातृ-पितृ भक्ति दिवस

श्री हरिहर महोत्सव समिति के अध्यक्ष बने राजेंद्र शर्मा

कोविड-19 महामारी में बचाव कार्य करने वाले समस्त कोविड स्टाफ को बहाल किया जाए एवं संविदा नियुक्ति दी जाए:- डॉ सूर्यवंशी