नरेंद्र सिंह तोमर, राजनेता


नरेंद्र सिंह तोमर एक भारतीय राजनीतिज्ञ और 17वीं लोकसभा के सदस्य हैं (Narendra Singh Tomar BJP MP). वह भारत सरकार के कृषि और किसान कल्याण मंत्री हैं (Narendra Singh Tomar Minister of Agriculture & Farmers Welfare). वह पहले और दूसरे मोदी सरकार में विभिन्न अवधियों के लिए ग्रामीण विकास मंत्री, पंचायती राज मंत्री, खान मंत्री और संसदीय मामलों के मंत्री रहे हैं. वे भारतीय जनता पार्टी के नेता हैं. वह 2009 से 2014 तक मुरैना से पंद्रहवीं लोकसभा के सदस्य और 2014 से 2019 तक ग्वालियर से सोलहवीं लोकसभा के सदस्य भी थे. 2019 में, उन्होंने अपना निर्वाचन क्षेत्र बदल दिया और फिर से मुरैना से लोकसभा के लिए चुने गए (Narendra Singh Tomar MP From Muraina).

तोमर का जन्म 12 जून 1957 (Narendra Singh Tomar Date of Birth) को मध्य प्रदेश के मुरैना जिले के ओरेठी गांव में एक राजपूत परिवार में मुंशी सिंह तोमर और शारदा देवी तोमर के घर हुआ था (Narendra Singh Tomar Parents and Education). उन्होंने जीवाजी यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन किया है. नरेंद्र तोमर ने किरण तोमर (Narendra Singh Tomar Wife) से शादी की है, जिनसे उनके दो बेटे और एक बेटी है .

उन्हें 27 मई 2014 को नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता वाली कैबिनेट में केंद्रीय इस्पात, खान, श्रम और रोजगार मंत्री के रूप में नियुक्त किया गया था. उन्हें 26 मई 2014 को भारत के तत्कालीन राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने पद की शपथ दिलाई थी. 5 जुलाई 2016 को, कैबिनेट फेरबदल के बाद, उन्होंने पंचायती राज, ग्रामीण विकास और पेयजल और स्वच्छता मंत्री के रूप में बीरेंद्र सिंह की जगह ली. पीयूष गोयल ने नरेंद्र सिंह तोमर को खान मंत्री (स्वतंत्र प्रभार वाले राज्य मंत्री) के रूप में रिप्लेस किया. मई 2019 में, उन्होंने ग्रामीण विकास और पंचायती राज मंत्रालय के साथ काम करना जारी रखा और उन्हें कृषि और किसान कल्याण मंत्रालय का प्रभार दिया गया. हरसिमरत कौर बादल के पद से इस्तीफा देने के बाद 18 सितंबर 2020 को तोमर को खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्रालय का अतिरिक्त प्रभार सौंपा गया (Narendra Singh Tomar Political Career).

 

Comments

Popular posts from this blog

स्व. श्री कैलाश नारायण सारंग की जयंती पर संपूर्ण देश में मना मातृ-पितृ भक्ति दिवस

श्री हरिहर महोत्सव समिति के अध्यक्ष बने राजेंद्र शर्मा

सनातन संस्कृति की रक्षा में संतों का अद्वितीय योगदान है - मुख्यमंत्री डॉ. यादव