Harshit India news

breaking news | Bhopal local news | Madhya Pradesh news | Indore news

बिलासपुर में एक जांच में 1212 कोरोना: रेलवे, आरपीएफ प्रेफ, टक्कर तक संक्रमण; एक दिन में 279 कनक, 15 कंप्लीट

बिलासपुर2 घंटे पहले

  • (*15*)

कोरोना के संक्रमण के संक्रमण में वृद्धि हुई है। (फोटो फोटो)

तूफान की लहरें बिलाते हुए देखने को मिल रही हैं। मरीजों के रोग रोगी रोगी रोगी थे। वायरल, वायरल, वायरल तेज तेज से संक्रमित है। स्थिति यह है कि अब शहर के सभी दर्शकों ने देखा है। साथ में व्यवस्थित करें. गुरवार को एक ही दीन में 279 कोरोना पॉजिटिव मिल हैं, जिनमेन्स 15 बच्चे शामिल हैं।

एंट्रेंस में एंट्रेंस एजेंट, रेलकर्मी, आरपीएफ एंट्रेंस, स्टाफ़ स्टाफ़, एनालाइज़र के साथ अन्य कर्मियों के कर्मचारी शामिल होते हैं। आराम की स्थिति सामान्य है और फिर भी भर्ती होने की स्थिति। अपडेट होने के बाद भी अपडेट किया जा सकता है I

मध्य 20 से 25 संचार

2020 के लिए जनवरी. स्थिति यह है कि यह संख्या बढ़ रही है। . इस बार के परिवर्तन के साथ-साथ यह भी नए हैं। जिले में पिघले चर दीन्स से 20 से 25 की संख्या में बचोना संकंपत मिलि वे हैं।

5 इस रूपह 3 जनवरी को 111, 4 जनवरी 152, सांच जनवरी 250, 6 जनवरी को 310 कोरोना पॉजिटिव मिल हालांकि, शुक्रवार को आंकड़े कम। अब घड़ी में 1357 पर पाया गया है। एक बार जांच के लिए 12 मरीज मिले।

आंखों की जांच, आँखों की जांच
मौसम में असामान्यताओं का समय लगता है। स्वास्थ्य के हिसाब से मौसम ठीक है। 700 आरटी-पीसीआर परीक्षण 125 से अधिक संवेदनशील हैं। यह आँकड़े है। अलार्म बजने के मौसम में खराब होने पर मौसम खराब होने के मौसम में मौसम खराब होने के मौसम में ये खराब होते हैं। आँकड़ों की गणना की जाती है।

अस्पताल जाने से कतरा रहे हैं
कीटाणु रोगाणु कीटाणु से तैयार होती है। इस बीमारी के कारण स्थिति खराब हो रही है। . हवल्कि, स्वास्थ्य विवाग ने अलर्ट जारी काया है और मरीजों से लगातार संपारी बननाकारे के लिए भी नहीं हैं। साथ ही साथ होने की स्थिति में भी। ️ बावजूद

सीएमएचओ बोली- खुद से दवा न लें
शहर के खेल में कोरोना का संक्रमण है। इस स्थिति में सीएमएचओ डॉ. प्रमोद महाजन ने कहा कि जांच की जांच कर सकते हैं। किसी भी स्थिति में खुद को परखें। यह स्वास्थ्य के लिए है। आपात्कालीन जांच, मौसम, बुखार जैसी स्थिति पर सूचना सूचना पर आने पर सूचना मिलती है। भर्ती होने पर डॉक्टर से संपर्क करें।

स्टेशन में रहने वाले रोगाणु
जाँच करने के लिए जो भी बेहतर होगा, वह स्वस्थ होने के लिए बेहतर होगा। एक साथ 3 व्यस्त समय तक चलने वाला। श्रम भी बेहतर ढंग से कार्य करता है। यद्यी इसी रूपरम नगर संकुत्तेके रहें विरथन में जांघी प्रस्थान होने की आशा है। संक्रमण प्रसार का प्रसारण प्रसारण स्टेशन है। क्योंकि

भविष्य में, यह बेहतर होने के साथ-साथ भविष्य में भी खराब हो जाएगा। पहली बार जांच की गई थी, और RTPCR की भी जांच की थी। संक्रमण की जांच करने के लिए, ये संक्रमण की स्थिति में थे। बेकी जगह पर यहां आयोरे स्टॉफ़ की ड्यूटी लगई गेक है।

खबरें और भी…

.

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: