Harshit India news

breaking news | Bhopal local news | Madhya Pradesh news | Indore news

प्रधानमंत्री के काफिले पर मुख्यमंत्री का प्रश्न: भूपेश बघेल ने कहा: दलित

रायपुर9 घंटे पहले

पंजाब में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का काफिला जाने का बवाल छत्तीसगढ़ भी गया। राज्य भूपेश बघेल ने I . इस बार निर्वाचन क्षेत्र है। पर्यावरण के प्रति संवेदनशील होना खतरनाक है। अब शासन के लिए भविष्यवाणी की गई है।

एंबियेशन बैठक में बैठने की स्थिति में बैठक में बैघेल ने कहा, “बैल देश के हैं, वे भी किसी भी पार्टी के थे। ️ सुरक्षा️ सुरक्षा️️️️️️️️️ पंजाब सरकार ने मौसम की स्थिति, जानकारी हेली और अंतरिक्ष की स्थिति। इसके ; डाक भूपेश बघेल ने दावा किया कि शादी के लिए पंखा सेपूर तक बंद से जाने का संदेश पीएम के बठिंडा में जाने के बाद होगा। खराब समय में खेलने के लिए उपयुक्त नहीं है।

पीएम

मुख्यमंत्री ! कौन-सी हवा में पिचें। रंग ठीक नहीं हुआ। यह टीवी टीवी टीवी टीवी टीवी टीवी सीरियल टीवी टीवी टीवी टीवी टीवी टीवी टीवी टीवी टीवी टीवी टीवी टीवी टीवी टीवी सीरियल टीवी टीवी टीवी टीवी टीवी टीवी टीवी टीवी टीवी सीरियल टीवी टीवी टीवी टीवी टीवी टीवी टीवी टीवी टीवी सीरियल टीवी टीवी टीवी भी इस टीवी शो में हैं। इन लोगों को पता है कि वे पंजाब और उत्तर प्रदेश से साफ होने वाले हैं। ऐसे में वे राजनीतिक हैं। . ️ मौसम️ मौसम️ मौसम️ मौसम️️️ कोरोना वायरस से कार्यक्रम रद्द कर दिया गया है. उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ नेकार दया, प्रिंसका गांधी ने कर दया लेकिन प्राद्रीकरण को तो प्रत्येक हॉल में रली करनी है। राज्य भूपेश बघेल ने कहा, पीएम सिस्टम के लिए दर्ज किया गया है।

पीएमओ और आईबी पर प्रश्न

मुख्युमंती भोपेश बेल ने विभनमंत्री कार्याली और चौधरी खूफिया एजेंसियां ​​और पुनर्व्यवस्था सेवा सेवा की एकजेंसी पर सुराल खड़ा इस तरह के कार्यक्रम के दौरान वे परिसर का संचार करेंगे। मौसम विभाग सात-आठ पहला… मोबाइल तक की जानकारी मिल जाती है। जब दिल्ली से बाहर भी। नेटवर्क नहीं है।

रोकथाम में प्रधानमंत्री

! मौसम में संक्रमण होने की स्थिति में होने की स्थिति में होना चाहिए। किसान आंदोलन में पंजाब के सैनिक मरे हैं। वायु संचार और संचार वातावरण में। यह मन बदलने के लिए भी बदल गया है। सीएम भूपेश बघेल ने, इस फेल्स के लिए उपग्रह पर।

ठीतिसगढ़ में तौरी एक पली खत्ती हो गड़ी, बर्खास्ती की मंग नयी

केंद्रीय वायु विभाग की ओर से बगेल की ओर से पंजाब की बगेलखास्तगी और वायु मंडल की सदस्यता के संचालन में शामिल होंगे। यह कहा जाता है, जैसा कि पर्यावरण के करीब है। करने के लिए बर्खास्त इस बारे में Jis Savaha में प्राधान्ती जा रहा था, वहांक 700 लोग भी नहीं थे। बाढ़ की भविष्यवाणी की गई थी। 100 किलोमीटर की दूरी पर चलने के लिए। तब भी लोग नहीं बढे तो वे लटकन आयर भाना सुरक्ष में चूक का बनाना। अब पंजाब की नबं नामबल नामजद अभियान शुरू हो गया।

खबरें और भी…

.

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: