Harshit India news

breaking news | Bhopal local news | Madhya Pradesh news | Indore news

सीएम भूपेश बोल-कालीचरण है या गल चरण: उभयचर के अवमान के बाद का ‘गांधी हमारे अभिमान’ कार्यक्रम, सभी बड़े जन समूह; कुछ समय के लिए धरना

रायपुर17 पहली

रपुर में नीद के गुण धरने पर बैठे थे। गांधी परिसर में स्वयंभू भूपेश बघेल इस मौन धरने में शामिल होने के लिए। पार्टी के अध्यक्ष मोहन मरकाम भी उपलब्ध हैं। गांधी जी ने लोकसभा चुनाव के बाद सदस्यता रद्द करने के बाद ‘गांधी’ के अभिमान’ कार्यक्रम में शामिल हो गए। रघुपति राघव राजा राम, गांधी गांधी अभिमानी सन्मति दे जैसे भजन गाए गए। कुछ छोटे चरणों में गांधीजी की सफाई में।

कार्यक्रम में बाद में कार्यक्रम के बाद मंच से सभी को भेंट करें। वही कहा गया था कालाचरण है या गलीचरण है, गली फिक्स के लिए सुपुर्द किया गया था क्या? छत्तीसगढ़ में कभी नहीं देखा गया, और गांधीजी के हत्यारे गोडसे की प्रशंसा करने लगे। महात्मा गांधी के लिए जनक भाषा का प्रयोग किया जाता है। धर्म संसद में इस तरह की बातें।

भूपेश बघेल 26 सदस्य सभा सदस्य सदस्य मंच से मंच को संबोधित करते थे। आगे कहा जाए कि धर्म में कौन-सी बातें हैं, वे हैं, संबंधित बातें। प्रेग्नेंसी के दौरान गांधीजी के विपरीत बातें। 1934-35 में गांधीजी रविंद्रनाथ टैगोर के कमरे में थे, तो टैगोर ने उन्हें एकला चलो जैसे लिखा..। प्रवचन में शब्द का प्रयोग किया गया। ये जो विपरीत बोल रहे हैं, क्या रविंद्र नाथ टैगोर से बड़ा गल चरण हो गया है?

गांधी जी
अहमदाबाद के अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा कि गांधी के कातिल गोडसे के विचारों में यह भी शामिल है। प्रेसीडेंसी के बारे में ऐसे लोग हैं जो ऐसे व्यक्ति हैं। 🙏

कोर्ट पहुंचा बापू का अपमान करने वाला कालीचरण: अदालत में केवल नाम और उम्र बताई, मुस्कुराते हुए बाहर निकला; ऊँ काली का नारा

कालचरण ने दी गली
26 दिसंबर को रायपुर की धर्म लोकसभा में अखला महाराष्ट्र के प्रबंधक ने 1947 में मोहनदास करमचंद गांधी को बदल दिया था। नमस्ते नाथूराम गोडसे को, दृढता से मार गिराया। . अब धारा राजरोह के मामले में 153 ए (1) (ए), 153 बी (1) (ए), 295 ए, 505 (1) (बी), 124 ए केस दर्ज करें। . गतिविधियों के दौरे का क्रमाें हैं।

खबरें और भी…

.

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: