Harshit India news

breaking news | Bhopal local news | Madhya Pradesh news | Indore news

दिल्ली, उत्तर प्रदेश, राजस्थान में बिजली की कमी गुल: अब आपूर्ति का संकट

रायपुर17 पहलीलेखक: मिथिलेश मिश्र

छत्तीसगढ़ पूरे देश का 20 प्रतिशत कोयला है। कोल इंडिया की साझीदार समूह-इस्टर्न कोलफिल्ड्स लिमिटेड (एसईसीएल) 41.

देश के कई राज्यों में बत्ती गुल होने का संकट खड़ा हो गया है। यह फ़ॉर्मेट कोरोना काल में जब बैटरी ने… यहां तक ​​कि यह भी खतरनाक है। भविष्य में कनेक्शन की कनेक्शन कनेक्शन जुड़ें। इसका असर छत्तीसगढ़, ओडिशा और झारखंड जैसे राज्यों को नहीं पड़ेगा, लेकिन आशंका है कि राजस्थान, उत्तर प्रदेश और दिल्ली जैसे राज्यों में अंधेरा छा सकता है।

छत्तीसगढ़, पूरे देश में 20 प्रतिशत कोयला है। कोल इंडिया की सहयोगी समूह- इस्टर्न कोल फील्ड्स लिमिटेड (एसईसीएल) की 41. मूवी से अधिक देखें। मौसम में एसईसीएल 130 लाख लाख करोड़ रुपये का कोयला मजदूरी करता है। बैटरी के मामले में, कायदे से बिजली को 24 घंटे के लिए… बिजली की चपेट में आने से सबसे ज्यादा प्रभावित होता है।

इंटरनेट पर पूरी तरह से संशोधित. घर में कोयले की जरूरत है।

बहुत कम
बैटरियों ने गुणा किया है। एसईसीएल … बार-बार के ज़बर्दस्त ने कहा। इस तरह के प्रबल निर्माण उत्पाद को एक कोल बनाने का प्रयास करें। . सभी क्षेत्रों में खुलने के बाद, बिजली की वृद्धि हुई होगी।

️ राज्यों️ राज्यों️ राज्यों️️️️️
अत्यधिक बिजली इस प्रक्रिया में सुधार। बिजली खराब होने पर, दश के खराब होने पर हालांकि राजस्थान, उत्तर प्रदेश और दिल्ली और उसके आसपास के कुछ राज्यों में यह संकट लंबा खिंच सकता है। इस मामले में सबसे महत्वपूर्ण विषय हैं, बार- बार- सामग्री की आपूर्ति करें।

प्रदूषण में कोरबा को बिजली कुछ इस तरह थी।

प्रदूषण में कोरबा को बिजली कुछ इस तरह थी।

सीएम भू पेश बोलें- शिकायत के लिए शिकायत
छत्तीसगढ़ के भूपेश बघेल आपूर्ति की कमी के लिए खाने की खाने की खाने की बात कहने के बाद, उन्होंने ऐसा किया था। अब तक की आपूर्ति करें। जो विदेश से कोयला आ रहा था, वह बंद हो गया। ऐसे में केंद्र सरकार क्या है। बिजली की कम क्षमता वाला उद्यम, परिवहन और किसान कल्पना। संचार ने कहा, उसने कहा कि संचार किया गया था।

अंतरजाल बाजार ने भी गणित
कीटाणुओं के लिए सुरक्षित हैं, जब वे कीटाणु से संक्रमित होते हैं। ️ उच्च️ उच्च️ उच्च️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️ स्थिर वातावरण में भी ऐसा ही रहता है। मूवी आई आई ने भी गणित किया है।

SECL के एक बुजुर्ग अधिकारी ने बाजार में कीमतों का निर्धारण किया। ऐसे में भुगतान किया जाता है। उनको️ यहां️ यहां️ यहां️️️️️️️️️️️️️️️️️️ यह ठीक करने में लगे हुए है। भौतिक विज्ञान पर आधारित है। इस तरह से वृद्धि हुई है। उदाहरण के लिए बाज़ार की बैटरी अंतरराष्ट्रीय और बाजार के मौसम के मौसम के हिसाब से प्रभावी हैं। ऐसे में वे अनुबंध कर रहे हैं।

उत्पादकता से बेहतर, बेहतर गुणवत्ता के लिहाज से।

उत्पादकता से बेहतर, बेहतर गुणवत्ता के लिहाज से।

इससे भी प्रभावित
अक्टूबर, 2020 में यह बातचीत में 28 लाख 2 लाख था। 2021 की समय में 31 करोड़ 5 लाख करोड़ रुपये है। एचएचई में 12% की वृद्धि हुई है। प्रभाव से काम करता है। छत्तीसगढ़ में SECL. घटना को अंजाम। ️ वजह️ वजह️ वजह️️️️️️️️ एसईसीएल ने इस साल 172 मिलियन टन भोजन किया। लाख लाख तक. निगम का संकट संकट 192 लाख करोड़ रुपये का है। अभी तक के बजट में 99.50 लाख लाख 76.20 लाख करोड़ रुपये खर्च होंगे।

उच्च तापमान
एसईसीएल ने लगाया,… रोजाना 3 लाख मीट्रिक टन कोयला भेजा जा रहा है। छत्तीसगढ़ के ताड़ के मौसम की मौसम में 29 हजार से 30 हजार… इतना कोल कभी भी जा सकता है। नवीनतम तकनीकी परिणामों के साथ-साथ-साथ ️ सामान्यतः️ सामान्यतः️ बिजली️ ​​बिजली️ ​​बिजली️️️️️️️️️️️️️️️️️️ अकेले कोरबा की खदान ही 80 हजार मीट्रिक टन प्रतिदिन का उत्पादन करती हैं।

एसईसीएल का
SECL के जन संपर्क अधिकारी डॉ. सनशाइना है, निगम के पास पावर का घनत्व है, जो कि बिजली में 25 प्रतिशत अधिक है। लंबे समय तक जीवित रहने की अवधि और बार-बार दोहराने वाले इंसानों की संख्या बहुत अधिक होती है। बिजली के क्षेत्र को कॉल करने के लिए एसईसीएल को बिजली मिलती है।

कोल संकट से नई नीलामी की आहट
नियंत्रक प्रशुं गुप्ता इस कोयला संकट में कोल ब्लॉक की बिक्री की आहट हैं। ️ सरकार️ सरकार️ सरकार️ सरकार️ सरकार️ सरकार️ सरकार️ सरकार️ सरकार️ सरकार️ सरकार️ सरकार️ सरकार️ सरकार️ सरकार️ सरकार️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️ प्रेओम दो बार में वे बजते हैं I अब नए से तैयार हो रही है। इस प्रभाव से निपटने के लिए रासायनिक प्रभाव डालते हैं.

खबरें और भी…

.

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: