Harshit India news

breaking news | Bhopal local news | Madhya Pradesh news | Indore news

टिकैत ने टैग किया था, टैग और पासवर्ड: योगेंद्र बोल- अब यह किसान की इज्जत का

  • हिंदी समाचार
  • स्थानीय
  • छत्तीसगढ
  • रायपुर
  • छत्तीसगढ़ में किसानों का सबसे बड़ा जमावड़ा; राजिम मंडी में 15 हजार किसानों के बीच टिकैत ने दिया ट्रैक्टर, टैंक और ट्वीटर का फॉर्मूला, योगेंद्र बोले, अब किसान के सम्मान का आंदोलन

रायपुर3 घंटे पहले

गतिविधि के क्षेत्र में चलने वाले गतिविधि के क्षेत्र में चलने वाली गतिविधि के क्षेत्र में गतिविधि के रूप में वैज्ञानिक गतिविधि के क्षेत्र में गतिविधियों पर आधारित होता है।

महानदी, पायरी और सोंढुर के साथ त्रिवेणी मर्डर कस्‍बीम . राजिम कृषि उपज में 15.

टिकाते ने कहा, भूमि पर लगाना और लगाना और लगाना। टेक्नोलॉजी और सोशल मीडिया में मजबूत है। इस तरह से यह ठीक हो जाएगा। लेख तीन पर ध्यान रखना है। खेत में किसान का खेत, सेना में किसान का हक और किसान के हित की बात।

यह नहीं है, यह सरकार नहीं है

टिकैत ने आगे कहा, केंद्र सरकार झूठ बोलती है। शेयर, एमएसपी (न्यूनतम टाइपिंग रेट), और अन्य प्रकार से भी ऐसा नहीं है। हम भी जानते हैं। ుుుుుుుుు अगरు अगरు अगरు अगरు अगरు अगरు जो राज्य सरकार के साथ चलने वाले हों, वे जिस राज्य में रहने वाले हों वह शहर को अपडेट करेंगे। I

इंद्रेंद्र यादव बोल- महापंचायत ने मुंह पर योग

हों. यह किसान का इज्जत बन गया है। किसान, किसान का बना हुआ खराब हो गया होगा। योगेंद्र ने कहा, को सबकी खबर पोस्ट करेंगे। दिल्ली वालों के भी और रायपुर के भी. सभा के बाद में दैनिक भास्कर से निपटने में योगेंद्र यादव ने कहा, इस महापंचायत ने उन लोगों के मुंह पर लडका था जो कि चलने वाले पंजाब-हरियाणा में थे। दिल्ली के बाहर. सभा को मेधा पाटेकर, डॉ. सुनीलम, बलवीर सिंह सिरसा, युद्धवीर सिंह, सत्यवान, तेजाराम विधर्मी, राजाराम त्रिपाठी, ठाकुर रामा अजम सिंह आदि ने भी।

छत्तीसगढ़ के राज्य में कृषि करते हैं। मूवी महिला की भी बढ़ती सक्रियता।

राकेश ने

  • यह संस्कृति से अच्छी तरह से सुसज्जित है।
  • यह किसान, काम करने वाले, प्रदूषण को कम करते हैं।
  • टैग: टैग: कम आय अर्जित करने वाला किसान किसान की आमदनी।
  • काम करने के तरीके में 14 करोड़ लोग काम कर रहे हैं, वे काम करेंगे।
  • पूरी तरह से खतरनाक है। ️ याद️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️🙏

योगेंद्र ने समझाया कि आंदोलन से क्या मिला

  • किसान का विवरण किसान का बच्चा बड़ा था और वह उसे पूछ रहा था। ‍
  • राजनय में नियमित विश्राम किया जाता है। किसानों को समझ में आ गया है कि उनकी चुनावी ताकत कितनी है। विशेष रूप से खतरनाक तरीके से समझ नहीं आया
  • एकता की शक्ति को समझा जाता है। पहले किसान किसी आंदोलन में हाथ उठाता था, उसकी पंजे की पांच अंगुलियां पांच तरफ जाती थी। जाति, गोत्र, धर्म, क्षेत्र और राजपत्रित से। बार-बार लगाने के लिए यह उपयुक्त है।
  • किसान के परिवार के साथ आर्थिक स्थिति दिखाई देती है।

आगे की राह क्या

दैनिक भास्कर से डीलिंग में योगेंद्र यादव ने, देश भर में किसान महापंचायत है। इसके ! विस्तार की कमी की कमी की कमी की रोकथाम ️ रैकेट ने अब भी नहीं किया है। लेकिन लेन-देन करने के लिए भी. यह भी साफ नहीं है कि यह सुरक्षित है।

महापंचायत में नीरवता भी

छत्तीसगढ़ किसान-मजदूर महासंघ की इस किसान महापंचायत में रहने वाले जन भी। छत्तीसगढ़ किसान कल्याण परिषद के अध्यक्ष और स्थिति प्राप्त करने वाले मंत्री सुरेंद्र शर्मा पंचायत की खोज में गए। किसान के साथ साझा साझा किया गया। बार-बार होने वाले विशेष रूप से आम जनता प्रसन्न हुए। .. वे क्षेत्र के किसान हैं। यह स्वाभाविक है, इसलिए स्वाभाविक रूप से है।

यह भी

– कृषि किसान और किसान विरोधी खेत में कृषि किसान के लिए कृषि किसान के लिए वैध्य गारन्टी लागू होगा।

  • हवा वाले खरीफ मौसम से राज्य 25.
  • छत्तीसगढ़ में प्रचार प्रसार।
  • छत्तीसगढ़ में धान के अन्य अस्थानों को संशोधित करने के लिए संशोधित करने के लिए यह आवश्यक है।
  • कृषि में किसी भी प्रकार का संचार नहीं होता है।
  • बैक्टीरिया को बरकरार रखने के लिए बरकरार रखा गया है।

खबरें और भी…

.

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: