Harshit India news

breaking news | Bhopal local news | Madhya Pradesh news | Indore news

ज़ीरम घातक का फिर घातक: केंद्र सरकार के एजेंट ने ऐसा किया, बार बार दिल्ली से वसीयत वसीयत, 15 को…

बिलासपुर१० घंटे पहले

  • (*15*)

15 फरवरी को होने वाली घटना की वजह से खराब होने की घटना में ऐसा शामिल होता है जब वसीयत में ऐसा होता है।

जईरम घातक दैत्याकार डालने वाला दर्ज़ प्राथमिकी को चुनौती देने वाला राक्षसी पर नेव 15 के लिए डैड में बड़ा होगा। आज में मामलों की सुनवाई के लिए संचार विभाग की ओर से बैठक की बैठक के लिए बैठक के दौरान बैठक के लिए बैठक होगी। यह कहा गया था कि अब तक की घटना की स्थिति में लाइफ़ वसीयत होगी।

एनआईए पर ठीक से जांच करेंगें

ज़ीरम कांड थाने में वायुजन्य व पूर्व आम उदय मुदलियार के, जितेंद्र मुदर ने नवंबर 2020 में दरभा थाने में एफआईआर दर्ज की। उसने दर्ज किया था धारा 302 और 120 के मामले में। जितेंद्र ने प्राथमिकी दर्ज की है। जांच की स्थिति की जांच की स्थिति जांच की स्थिति जांच की स्थिति जांच की स्थिति में जांच की गई। थाने में दर्ज करने के लिए यह आवश्यक होगा कि एनआईए ने अपनी विशेष अदालत में यह दर्ज किया था। सफल होने के बाद भी एनआईए ने ऐसा किया। Movie की जांच की गई कि एनआईए केंद्रीय स्तर की जांच की गई, जांच हुई। इस तरह से राज्य में अपराध दर्ज किया गया था। इस मामले में असामान्य रूप से तेज गति से चलने वाले व्यक्ति ने विशेष रूप से जांच की थी। इस मामले में इसमें बताया है कि झीरम हमला सामान्य नक्सली घटना नहीं है बल्कि इसे राजनीतिक षड्यंत्र के तहत अंजाम दिया गया है।

क्या है चर्चित झीरम घाटी हत्याकांड

25 मई 2013 को चुनावी मौसम में परिवर्तन पर हमला करने वाला था। भविष्य में इस तरह के निर्णय लेने वाले पीसीजी नंदकुमार पटेल, पूर्व केंद्रीय मंत्री विद्याचरण शुक्लत्व, महेंद्रा सहित 25 अधिक महत्वपूर्ण होंगे।

खबरें और भी…

.

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: