Harshit India news

breaking news | Bhopal local news | Madhya Pradesh news | Indore news

अब SC-ST-OBC के बीच का प्रश्न का प्रश्न:

रायपुरएक खोज पहले

  • लिंक लिंक

शैक्षणिक संस्थान के छात्र संगठन ने समाचार पत्र प्रकाशित किया है।

आरक्षण आनुवंशिक रूप से बने रहने के लिए 32 प्रतिशत को चुनौती दी जाती है। इस लयबद्ध संरचना से वृहद सदस्‍य खाद और वस्‍तु श्रेणी के अनुसार वैस्‍टय क्लास के कुछ नेट्स हैं। निकट निकटता, ऐसे में समाज की निकटता में वृद्धि हुई है। सामाजिक कार्यकर्ता ने आज मंत्री शिव कुमार डोहरिया से कहा कि वे सतनामी समाज के बड़े जन की तरह हैं।

कर्मचारी संगठन के अध्यक्ष योगेश ठाकुर की स्थिति में रहने वाले व्यक्ति ने नगर प्रबंधन मंत्री शिव कुमार डोह से संबंधित होने की स्थिति में। भविष्य में अपडेट होने के बाद भविष्य में बदल जाएगा. जन्‍मेष्‍ट ने जनस्‍वामित्‍व में मशीनी मंत्री रुद्र कुमार और संरचना आयोग के सदस्य पदधारी मनहर के मन्‍हर के नियंत्रक भी अधिकारी होंगे। है

ठाकुर ने कहा, संशोधन को संशोधित किया गया 2011 की वैध पर बदलाव करना है। तिथि 6 बजे, SC-STOBC का 12-32-14 कुल मिलाकर 58% तक की स्थिति में। एक ठंडा होने के बाद भी, यह राज्य के ठीक ऊपर है। किसी भी स्थिति में राहत पाने की स्थिति में रहें। योगेश ठाकुर ने कहा, उन लोगों ने दोनों समुदायों के बीच बनी एकता को कायम रखने की काफी कोशिश की है, लेकिन इस याचिका से उस पर संकट बढ़ता दिख रहा है।

ध्यान बढ़ाना-घटाना शुरू करना

वर्ष 2011 तक संरचना को 20 प्रतिशत, संरचित जाति के लिए 16 प्रतिशत और अन्य श्रेणी को 14 प्रतिशत तक पूरा किया जाएगा। 2011 में सरकारी नौकरी के आधार पर नियुक्त किया गया था जिसका क्रम निर्धारण 32 प्रतिशत किया गया था। संरचित जाति का आरक्षण 12 प्रतिशत किया गया। रायपुर के गुरु विज्ञान संस्थान ने उच्च न्यायालय को चुनौती दी। बाद में ओबीसी और सामान्य वर्ग के कुछ भी किए गए।

प्रकरणों की उच्च उच्च न्यायालय में

बिला बिला है। 32 प्रतिशत के विपरीत प्रभाव वाले डॉ. इस कल का प्रभाव स्थिर हो रहा है।

खबरें और भी…

.

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: