Harshit India news

breaking news | Bhopal local news | Madhya Pradesh news | Indore news

अनशन बदलने की योजना में: कन्या विवाह और रेडी–इट योजना में 30 लाख रु। का; स्त्री और बाल विकास अधिकारी

  • हिंदी समाचार
  • स्थानीय
  • छत्तीसगढ
  • छत्तीसगढ़ में कन्या विवाह योजना और रेडी टू ईट योजना में घोटाला; महिला एवं बाल विकास अधिकारी महासमुंद में कार्रवाई के अभाव में भूख हड़ताल पर बैठे

विज्ञापन से हैग है? बेन विज्ञापन के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

महासमुंदी7 घंटे पहले

  • लिंक लिंक

महासमुंद में महिला और बाल विकास विभाग के सुधाकर बोदले अपने आवास पर ही थे।

छत्तीसगढ़ के महासमुंद में महिला और बाल विकास विभाग के सुधाकर बोद में रखे गए हैं। विभाग विवाह विवाह योजना और रेडी-टू-इट योजना में 30 लाख खराब का है। जांच भी पूरी तरह से हो चुकी है, एक में भी जांच की गई। ट्वेलियल ओरिमेंट डॉ. रमन सिंह ने मंत्रिपत्र की जांच की।

जगह
भविष्य के लिए बीमा योजना की जानकारी शामिल है। इसके लिए भी। यह कि 2020 और 2021 में दर्ज किया गया है। सुरक्षित सामग्री के खराब होने के थे। मौसम के हिसाब से यह स्थिति कैसी है। 10 लाख अनियमितता।

अनसन के लिए
निरीक्षण अधिकारी ने 23 अप्रैल 2020 को बोदलेख में संशोधन किया था। फिर साल 5 मई और 10 मई को पत्र लिखा गया है, पर लागू होने पर। मौसम में आने वाले मौसम में आने वाले मौसम में यह स्थिति और स्थिति को बदल सकती है और इसे शहर में रखा जा सकता है। I बात I यह कहा गया है, अपराध करने के लिए.

अफसर और पुलिस ने

शेम को बाल विकास विभाग के अधिकारियों ने सुरक्षा में रखा है। बदलते समय के लिए. इस मामले में जांच की जा रही है। यह भी व्यक्तिगत रूप से सही नहीं है।

कोई विज्ञापन नहीं
सुधाकर बोदले ने, ‘अनियमितता पर नियंत्रण के लिए नियंत्रण और नियंत्रण प्रणाली को दुरुस्त किया है। योजना को दोबारा करने के लिए 10 लाख की अनियमितता के संबंध में भी जांच के बाद पत्र लिखा गया था। अच्छी तरह से पूरा किया हुआ है। उसी के आधार पर दोषी शासकीय अमले पर कार्रवाई की मांग की गई थी, लेकिन आज तक कार्रवाई नहीं हुई। यह अनसन के लिए बहुत ही खराब है।’

रमन सिंह ने लिखा पत्र- रात्री ज की बैठक में निरीक्षण

ट्विल ओर पूर्व पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने मंत्रिपत्र भूपेश बघेल को पत्र प्रकाशित किया है जिसमें कहा गया है कि दोषियों पर कार्यवाई के लिए मंत्र जद की बैठक में प्रभावी। मानव और बाल विकास अधिकारी सुधाकर बोदले के असंशन को कहते हैं। सरकार के खिलाफ़ विपरीत परिस्थितियाँ हैं। क्या अब आरबीआई के विपरीत अनशन पर अधिकारी को अधिकार मिलते हैं।

मौसम के मामले में मौसम के अनुसार
बैट डोमन सिंह ने कहा है कि सुधा बोदले ने जो सुधार के संबंध में कार्य किया है, उसे अपग्रेड करने के लिए कार्य किया जाएगा।.. ………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………….. प्रकार स्तर से संरक्षित किया गया है। यह प्रथम श्रेणी के वातावरण के बीच के वातावरण में बादलों के कारण होता है।

मेरी तैनाती से समस्या है सुधाकर जी को-मनुष्य सिन्हा
बारी-बारी से प्रबंधक अधिकारी मनोज सिंहा ने कहा कि जिला महिला बाल विकास अधिकारी सुधाकर बोदले का अनशन और सत्याग्रह है। उन्होंने कहा कि पद पर पद के क्रम का क्रम कभी भी नहीं होगा। शासन व्यवस्था में नियंत्रण करने वाले अधिकारी हैं। यह कहा गया था कि, उससे कहें, तो उसने कहा कि वह गुण वाला है। छवियाँ भी नष्ट करने की कोशिश की। वो और के प्रति द्वेष की भावना।

खबरें और भी…

.

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: