Harshit India news

breaking news | Bhopal local news | Madhya Pradesh news | Indore news

जुआरियों के खिलाफ उतरीं महिलाएं: कोरबा में महिला सरपंच के नेतृत्व में ग्रामीणों ने डंडा के बारे में दौड़ाया; समाचार पत्र-संक्रमण का खतरा, जोखिम भरे क्षेत्र में खाली जगहों पर कराएं

विज्ञापन से परेशान है? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कोरबा33 पहले

  • कॉपी लिस्ट

सरपंच चैतिन बाई ने लिखा है कि बकरा भात और दा पार्टी के लिए 200-250 को इकट्ठा करना है। विरोध करने पर गुंडागर्दी और धमकी दी जाती है।

छत्तीसगढ़ के कोरबा में जुआरियों के खिलाफ महिलाओं ने मोर्चा खोला दिया है। महिला सरपंच के नेतृत्व में तमाम ग्रामीण दो दिन पहले जंगल में उतर गए। में चलने के लिए इन खेलों में। इस दौरान जुए की बिसात बिछवा सरगना और ग्रामीणों के बीच जमकर विवाद भी हुआ। अब सरपंच ने लिखा है कि कोरोना संक्रमण का खतरा बढ़ रहा है। उनके गांव को जुआरियों से खाली कराएं।

सूक्ष्म, कटघोड़ा के अंडे में जंगली जानवर के अंदर काम करते हैं। इसकी जानकारी ग्राम पंचायत लबेद की सरपंच चैतिन बाई को लगी तो वे महिलाओं और ग्रामीणों के साथ लाठियां लेकर जंगल में पहुंच गए। अचानक कई लोगों को डंडे के लिए जुआरियों में भगदड़ मच गया। इसके कारण जुआ खिलवा रहे व्यक्ति से विवाद भी हुआ। एक ग्रामीण ने वीडियो बनाने की कोशिश की तो उसे मना कर दिया।

बकरा भट और दारू के लिए 200 लोगों को किया जाता है
बाहरी भोजन से अलग। इसके बाद सरपंच चैतन्य बाई ने कलेक्टर को पत्र लिखा है। कहा गया है कि तुमान और रामभाटा के जंगलों में जुआ चल रहा है। इसके नेतृत्व में एक ओर जहां कोरोना संक्रमण फैलने का खतरा है, वहीं गांव के युवा भी पथभ्रष्ट हो रहे हैं। वहाँ बकरा भट और दारू पार्टी करने के लिए 200-250 लोगों को एकत्र कर जुआ खिलाया जाता है। विरोध करने पर गुंडागर्दी और धमकी दी जाती है।

खबरें और भी हैं …

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: