Harshit India news

breaking news | Bhopal local news | Madhya Pradesh news | Indore news

18+ वैक्सीनेशन: पहले आओ, पहले लगवाओ: छत्तीसगढ़ में रायपुर सहित कई जिलों में सुबह 7 बजे से शुरू लाइन, 9 बजे शुरू हुआ टीकाकरण, फिर भी एक घंटे में APL के लिए वैक्सीन खत्म

विज्ञापन से परेशान हैं? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

रायपुर / बिलासपुर6 मिनट पहले

(*9*)

  • कॉपी लिस्ट
  • यह तस्वीर रायपुर के शंकर नगर में बनाए गए वैक्सीनेशन सेंटर की है। यहां टीकाकरण शुरू होने के एक घंटे बाद ही एपीएल के निए वैक्सीन खत्म होने की सूचना लगा दी गई।

    छत्तीसगढ़ में कोरोना के संक्रमण से बचाव के लिए 18 से 44 वर्ष के लोगों का वैक्सीनेशन शनिवार सुबह 9 बजे से शुरू हो रहा है। पहले आओ, पहले लगवाओ की तर्ज पर हो रहे इस टीकाकरण के लिए लोग 7 बजे ही केंद्रों के बाहर लाइन में लग गए। इसके बाद भी तमाम लोगों के हाथ निराशा ही लगी है। हाईकोर्ट की फटकार के बाद सभी वर्ग का वैक्सीनेशन तो शुरू हुआ, पर एक घंटे बाद ही एपीएल के लिए वैक्सीन खत्म का बोर्ड भी लग गया।

    रायपुर: टीकाकरण के लिए 8 केंद्र बनाए गए, हर केंद्र पर सिर्फ 600 वैक्सीन की आपूर्ति
    अंत्योदय ही नहीं बल्कि बीपीएल और एपीएल राशन कार्डधारकों को भी टीके लगाए जा रहे हैं। टीकाकरण केंद्रों में पंजीकरण करवाकर टीके लगवा सकते हैं। रायपुर जिले में अभी तक इसके लिए 8 टीकाकरण केंद्र बनाए गए हैं। शहर में 3 स्थानों पर टीके लगेंगे। इसके साथ ही 45 साल से ऊपर के लोगों को पुराने टीकाकरण केंद्रों में पहले की तरह ही टीके लगते रहेंगे। हालांकि हर केंद्र में सिर्फ 600 वैक्सीन की आपूर्ति ही की गई है। ऐसे में लोग निराश होकर घर लौट रहे हैं।

    यह फोटो रायपुर में सांस्कृतिक भवन चंगोराभाठा में बनाए गए वैक्सीनेशन सेंटर की है।  जहां से ही लोगों की लाइन लगी है।

    यह फोटो रायपुर में सांस्कृतिक भवन चंगोराभाठा में बनाए गए वैक्सीनेशन सेंटर की है। जहां से ही लोगों की लाइन लगी है।

    इन केंद्रों पर वैक्सीनेशन हो रहा है, शो को दस्तावेज़ माना जाएगा
    रायपुर में सांस्कृतिक भवन चंगोराभाठा, पं। दीनदयाल उपाध्याय आडिटोरियम, BTI परिसर, अभ्यास पूर्व माध्यमिक एवं प्राथमिक शाला शंकरनगर, बिरगांव निगम में अडवानी आलिकान स्कूल में वैक्सीनेशन किया जा रहा है। वैक्सीन लगवाने के लिए अंत्योदय और BPL को अपने राशन कार्ड के साथ ही एक शासकीय पहचान पत्र दिखाना होगा। एपीएल परिवारों के सदस्य आधार कार्ड, पैन कार्ड या अन्य कोई मान्य शासकीय दस्तावेज दिखा सकते हैं।

    बिलासपुर: बीपीएल, एपीएल और अंत्योदय कार्डधारकों के लिए अलग-अलग केंद्र
    बिलासपुर में 18+ केकैनीकरण के लिए 5 केंद्र बनाए गए हैं। इनमें BPL, APL और अंत्योदय परिवारों के लिए अलग-अलग केंद्र हैं। बीपीएल परिवारों के लिए सरकंडा के नूतन चौक स्थित कन्या हाई स्कूल में टीका लगाया जाएगा। वहीं अंत्योदय कार्डधारियों को केक पहले की तरह देवकीनंदन स्कूल में ही लग रहा है। एपीएल के टीकाकरण के लिए शहर में 3 केंद्र बर्जेश हायर सेकेंडरी स्कूल, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र हेमुनगर और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र तिफरा में बनाया गया है।

    3.5 लाख डोज कोविशील्ड वैक्सीन आज आएगी
    18 साल या इससे ज्यादा उम्र वालों के लिए शनिवार को 3.5 लाख डोज वैक्सीन आएगी। यह वैक्सीन कोविशील्ड की होगी। सुबह मुंबई से आने वाली फ्लाइट में वैक्सीन आएगी। अभी जिलों के स्टोर में 1.04 लाख वैक्सीन है।

    एक दिन पहले ही हाईकोर्ट ने कहा था- वैक्सीनेशन स्टार्ट करे सरकार
    एक दिन पहले ही हाईकोर्ट ने साफ कर दिया था कि सरकार वैक्सीनेशन पर रोक नहीं लगा सकती है। कोई बहानेबाजी नहीं चलेगी। आदेश दिया कि सभी वर्ग को 33% के हिसाब से सामान रूप से वैक्सीन लगाई जाए। इससे पहले कोर्ट ने सरकार से दो दिन में स्पष्ट नीति बनाने को कहा था। राज्य सरकार ने 18+ के वैक्सीनेशन में अंत्योदय कार्डधारियों को प्राथमिकता दी थी। इसके खिलाफ अमित जोगी सहित अन्य ने जनहित याचिका दायर की।

    अब तक 10 हजार मौतें, मृत्युदर का आंकड़ा राष्ट्रीय औसत के बराबर
    प्रदेश में शुक्रवार को कोरोना से मरने वालों की संख्या 10000 के पार चली गई। पहली मृत्यु 29 मई 2020 को हुई थी, तब से अब तक 344 दिनों में 10158 कोरोना रोगियों की मृत्यु हुई है। प्रदेश में वर्तमान मृत्युदर 1.2 प्रतिशत है, जो कि राष्ट्रीय औसत ही है। कोरोना से हुई पहली मौत से अब तक अगर 344 दिनों का औसत निकाला जाए, तो यह रोज़ाना 29.36 यानी लगभग 30 मौज़ा का है। इस अवधि में रायपुर में 2732 लोगों की कोरोना से मृत्यु हो चुकी है।

    प्रदेश में 13628, रायपुर में 818 नए मरीज मिले
    पिछले चौबीस घंटे में रायपुर में 818 सहित प्रदेश में 13628 नए रोगी मिले हैं। रायपुर में 40 सहित प्रदेश में 208 मरीजों की मौत भी हुई है। जहां तक ​​जांच का सवाल है, प्रदेश में शुक्रवार को 61939 जांच हुई है। पिछले एक महीने से जांच का औसत लगभग यही है। हालांकि बीच-बीच में 60 हजार के अासपास भी जांच हुई है। अप्रैल में इतनी ही जांच में औसतन प्रदेश में 15 से 16 हजार मरीज निकल रहे थे। अब यह कुछ घट घटकर 12 से 13 हजार के बीच आ गए हैं।

    खबरें और भी हैं …

    Source link

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    %d bloggers like this: