Harshit India news

breaking news | Bhopal local news | Madhya Pradesh news | Indore news

काश ऐसा ही होता है: एक साल पहले सरकारी आंकड़े वाली रिपोर्ट में मौत का कॉलम ही नहीं था, अब वहां लिखा है 10 हजार 158 जानें गईं, 21 से 1 लाख 31 हजार हो गए एक्टिव केस

छत्तीसगढ़ में 7 मई 2021 की रात जारी किए गए सरकारी आंकड़ों को देखकर हैरानी होती है। ठीक एक साल पहले यानी की 7 मई 2020 तक प्रदेश के विभाजित आंकड़ों की जो रिपोर्ट जारी की जाती है, उस शीट में मौत का कोई कॉलम नहीं था। उस समय तक शायद प्रशासन यह मान नहीं रहा था, कि कोरोना जानलेवा भी हो सकती है। 29 मई 2020 को पहली मौत के बाद ये कॉलम भी जोड़ा गया। अब हालात इतने भयावह हैं कि एक साल बाद मौतों वाले कॉलम का आंकड़ा 10 हजार 158 है। ये 10 हजार से ज्यादा वो लोग हैं जो पिछले साल 29 मई से अब तक कोरोना संक्रमण से जूझते हुए अपनी जान गंवा बैठे हैं।

पिछले 24 घंटों में कोरोना
छत्तीसगढ़ में शुक्रवार की रात जारी सरकार की तरफ से आंकड़ों की मानें तो सिर्फ 24 घंटे में 208 किस्मोंस की मौत हो गई हैं। प्रदेश के अब तक प्रदेश में 10 हजार 158 लोगों की जान जा चुकी है। प्रदेश में 13 हजार 628 नए कोरोना क्षमता मिले। अब प्रदेश में सक्रिय मरीजों की संख्या 1 लाख 31 हजार 41 हो गई है। राज्य में कल शुक्रवार को 61 हजार 939 सैंपल की जांच की गई। ठीक होने वालों की संख्या 13 हजार 39 रही।

इन प्रमुख शहरों में कोरोना का हाल
रायपुर शहर में पिछले 24 घंटे में 818 नए मरीज मिले हैं। 40 लोगों की मौत हुई, अब राजधानी में सक्रिय मरीज 10 हजार 470 है। दुर्ग में 443 नए मरीज, 11 लोगों की जान चली गई। बिलासपुर में 605 नए मरीज मिले, 30 लोगों की मौत हुई। अब यहां सक्रिय मरीज 8193 हैं।

राजनांदगांव में 506 नए मरीज मिले, 5 लोगों की मौत हुई। यहां एक्टिव केस 6948 हैं। रायगढ़ में 1238 नए मरीज मिले, 14 लोगों की मौत हुई है। अब एक्टिव केस 11576 हैं। कोरबा में 801 लोग प्रभावित हुए, 15 चेतों की मौत हुई। अब यहाँ 9037 सक्रिय रोगी हैं। छत्तीसगढ़ के नारायणपुर जिले में सबसे कम 48 मरीज हैं, यहां 359 सक्रिय मरीज हैं।

तब दवा नहीं थी
7 मई 2020 की स्थिति से तुलना करें तो कुछ राहत देने वाली बातें भी हैं। 10 हजार से अधिक मरीज हर रोज ठीक हो रहे हैं। पिछले साल कोरोना संक्रमण की कोई दवा नहीं थी। अब इसका वैक्सीन हमारे पास है। बुजुर्गों, फिर मध्यम आयु वर्ग के बाद अब 18+ उम्र के लोगों को भी टीका लग रहा है। सियासी और न्यायिक विवाद की वजह से रुकाईकरण 8 मई से शुरू कर दिया गया है।

अब तीन काउंटर बनेंगे
रायपुर में 18-44 आयु वर्ग के लोगों को अंत्योदय, बीपीएल और एपीएल तीन प्रशिक्षण में टीका लग रहा है। हाईकोर्ट की हस्तक्षेपल के बाद अब अंत्योदय, बीपीएल और एपीएल राशन कार्ड वालों के लिए 3 अलग काउंटर बन रहे हैं।]रायपुर शहर में सांस्कृतिक भवन चंगोराभाठा, पं। दीनदयाल उपाध्याय आडिटोरियम और जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान (BTI) परिसर अभ्यास पूर्व मा। और प्रो। शाला शकनगर। बिरगाँव नगर निगम क्षेत्र में अडवानी आलिकान उच्चतर माध्यमिक शाला बीरगाँव मैं केंद्र बनाया गया है। दाऊ पोषण लाल चंद्रवंशी शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय परसतराई धरसींवा, कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय अभनपुर, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, आरंग और पोषण आहार भवन, वार्ड कमांक 18, तिल्दा में केंद्र बनाया गया है।

इन दस्तावेजों के माध्यम से सीसा लगेगा
ये केंद्रों में सुबह 8:00 बजे से पंजीयन का कार्य प्रारंभ हुआ, 9:00 बजे से टीकाकरण शुरू हो गया। नए नियम के अनुसार अंत्योदय और बीपीएल श्रेणी के लिए कार्ड धारकों को निर्धारित आईडी / दस्तावेज के साथ-साथ राशन कार्ड भी दिखाना होगा, जबकि ए.पी.एल. श्रेणी के लिए निर्धारित पहचान पत्र जैसे आधार कार्ड, पेन कार्ड या अन्य मान्य दस्तावेज में से कोई एक दिखाना नहीं होगा। एपीएल श्रेणी के लिए राशन कार्ड दिखाने की आवश्यकता नहीं होगी।

खबरें और भी हैं …

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: