Harshit India news

breaking news | Bhopal local news | Madhya Pradesh news | Indore news

कांग्रेस की महिला नहीं रही। शाम को कोरोना कोम द्वारा 10 दिन बाद लौटे घर थे

विज्ञापन से परेशान हैं? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

गरियाया हुआ39 मिनट पहले

  • कॉपी लिस्ट

बल्दी बाई के घर वर्ष 1985 में पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी अपनी पत्नी सोनिया गांधी के साथ पहुंचे थे। पूर्व प्रधानमंत्री ने अपने गांव को गोद लिया था।

छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की सहयोगी लेडी कही जाने वाली बुलदी बाई का 92 साल की उम्र में गुरुवार सुबह करीब 8 बजे हार्ट अटैक से निधन हो गया। वह एक दिन पहले ही मंगलवार शाम कोरोना को मां द्वारा अपने घरग्राम गरियाबंद के कुल्हाड़ीघाट लौटी थे। 80 के दशक में पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी को कंदमुल खिलाने के बाद वह चर्चा में आई थीं। पूर्व प्रधान उनके गांव में घर पर मिलने के लिए गए थे।

10 दिन में कोरोना कोम द्वारा लौटे घर थे
मैनपुर विकासखंड के ग्राम कुल्हाड़ीघाट की रहने वाली बल्दी बाई की तबीयत बिगड़ने पर 25 अप्रैल को उनका एंटीजन टेस्ट किया गया था। इसमें उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। उनमें सामान्य सर्दी-बुखार के लक्षण थे। जानकारी मिलने पर प्रशासन ने उन्हें रायपुर स्थित अंबेडकर अस्पताल में भर्ती कराया था। उनकी तबीयत को लेकर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भी बेहतर उपचार के निर्देश दिए थे। इसके बाद बुधवार को वह ठीक हो गए थे।

92 साल की दादी ने दी कोरोना को मां: पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी को कंदमूल खिलाने वाली बल्दी बाई स्वस्थ होकर घर लौंटी, 10 दिन पहले हुई अस्पताल में भर्ती थीं

सीएमएचओ ने बताया- हालत ठीक थी, मेडिकल चेकअप भी किया जा रहा था
सीएमएचओ डॉ। एन आर नवरत्न ने बताया कि मेकाहारा रायपुर में उनका कोविड -19 उपचार चल रहा था। रिपोर्ट नेगेटिव होने के बाद उन्हें बुधवार को डिस्चार्ज कर दिया गया। गरियाबंद जिला चिकित्सालय में भी उनका प्राथमिक चेकअप किया गया था। घर पहुंचने पर भी टीम ने उनकी जांच की थी। उनकी स्थिति सामान्य थी। सुबह करीब 8 बजे उनकी तबीयत खराब हुई और कार्डियक अरेस्ट के कारण उनकी मौत हो गई।

कोरोना से छत्तीसगढ़ कांग्रेस महासचिव की मृत्यु: बस्तर टाइगर शहीद महेंद्र कर्मा के पुत्र दीपक कर्मा की निधन; रायपुर के एक प्राथमिक अस्पताल में इलाज चल रहा था

कांग्रेस की सहयोगी महिला हैं बल्दी बाई, पूर्व प्रधानमंत्री पहुंचे थे घर
बल्दी बाई कांग्रेस की डाक लेडी हैं। उनके घर वर्ष 1985 में पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी अपनी पत्नी सोनिया गांधी के साथ पहुंचे थे। उन्होंने राजीव गांधी को कंदमूल भी खिलाया। पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने अपने गांव को गोद लिया था। आदिवासी समुदाय से आने वाली बल्दी बाई जिला मुख्यालय गरियाबंद से 75 किमी दूर स्थित गांव कुल्हाड़ी घाट में रहते थे। 2 महीने पहले पीसीसी चीफ मोहन मरक भी उनके घर पहुंचे थे।

खबरें और भी हैं …

(*10*)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: