Harshit India news

breaking news | Bhopal local news | Madhya Pradesh news | Indore news

महामारी के ताजा हालात पर एक्सपर्ट व्यू: प्रदेश में दूसरी लहर कमजोर या नहीं दो सप्ताह बाद ही कुछ कहना संभव है

विज्ञापन से परेशान हैं? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

रायपुर2 घंटे पहले

  • कॉपी लिस्ट
  • देश में जननीति और स्वास्थ्य तंत्र के विशेषज्ञ डाॅ। चंद्रकांत लहारिया ने विश्लेषण किया छत्तीसगढ़ के हालात का

राजधानी रायपुर और दुर्ग जैसे जिलों में केस कम हुए हैं, इसलिए यह चर्चाएं चल रही हैं कि कोरोना की दूसरी लहर यहां कमजोर पड़ी है। इसके पीछे कारण यह बताई जा रही है कि प्रदेश में एक सप्ताह में सक्रिय रोगियों की संख्या में लगातार कमी हो रही है। मरीजों के ठीक होने की दर बढ़ी है, नए केस कम आ रहे हैं। लेकिन विशेषज्ञों का मानना ​​है कि दूसरी लहर कब खत्म होगी, इस बारे में आने वाले दो सप्ताह तक और नजर रखनी पड़ेगी। देश में जननीति और स्वास्थ्य तंत्र एक्सपर्ट डॉ। चंद्रकांत लहारिया से भास्कर के अमिताभ अरुण दुबे ने इस संबंध में कुछ सवाल किए, जिनके जवाब ज्यों के त्यों: –

प्रश्न- क्या प्रदेश में दूसरी लहर अब जा रही है?
उत्तर: एक सप्ताह से केस में कमी आ रही है। सक्रिय रोगियों के कर्व में बदलाव दिख रहा है। नए प्रकारों की संख्या भी घट रही है। लेकिन दूसरी लहर को खत्म तबी माना जा सकता है, जब लंबे अरसे तक यह स्थिति बनी रहेगी। अभी कम से कम दो सप्ताह और नजर रखनी होगी, तभी कुछ कहा जा सकता है।

सवाल- केस कम हुए हैं, अब लोगों को क्या करना चाहिए?
उत्तर: नए और सक्रिय रोगी दोनों में कमी आ रही है। इससे राहत तो है, लेकिन महामारी में कोई लहर कितनी देर तक रहेगी, यह ह्यमुन बिहेवियर यानी हमारे बर्ताव पर भी निर्भर है। लॉकडाउन में लोगों ने कोरोना प्रोटोकाॅल का पालन कैसे किया, अब ऐसा ही जारी रखते हैं तो कुछ दिन में लहर खत्म हो सकती है।

प्रश्न- क्या 23 अप्रैल को छत्तीसगढ़ में दूसरी लहर का पीक था?
उत्तर: 23 अप्रैल को 17 हजार मरीज मिले थे, लेकिन इसे पीक कहना अब भी मेरे नजरिए से अभी तक जल्द ही शुरू होगा। एक बार हमें कर्व के फ्लेट होने का इंतजार करना चाहिए, यानी दो सप्ताह तक आंकड़ों को और देखना होगा। यदि कुछ विशेष परिवर्तन नहीं हुआ है, तो इस तिथि को पीके मानेंगे।

सवाल इसलिए क्योंकि … अब 100 में 17 मरीज ही सक्रिय हैं, पहले यह संख्या 29 थी
छत्तीसगढ़ में कोरोना की दूसरी लहर में किस तरह राहत मिल रही है। ऐसा समझा जा सकता है कि दो सप्ताह पहले तक प्रदेश में प्रति 100 रोगियों में से 29 रोगी तक सक्रिय थे। दो सप्ताह बाद अब 100 में से केवल 17 मरीज ही सक्रिय हैं। यही नहीं रेवाड़ी रेट दो सप्ताह पहले 71 प्रतिशत के नीचे पहुंच गया था। जो कि अब 81.8 प्रतिशत से अधिक हो गया है। वहाँ नए रोगियों के मिलने की अवस्था भी अब कम हो रही है।

सक्रिय रोगियों में कमी
अप्रैल मरीज
22 121555
23 123479
२४ १२२ ९ ६३
२५ १२३ 25३५
26 121352
27 119068
28 118846
29 117910
30 118958

खबरें और भी हैं …

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: