Harshit India news

breaking news | Bhopal local news | Madhya Pradesh news | Indore news

कोरोनावायरस: दुर्ग जिले में रिकवरी में हुई बढौतरी, संक्रमण की दर 25 से 30 के बीच, पिछले 7 दिनों में 9616 लोगों की मृत्यु 141 की मौत

विज्ञापन से परेशान हैं? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

भिलाई(*25*)19 मिनट पहले

  • कॉपी लिस्ट

दुर्ग जिले में रिकवरी रेट में बढौतरी देखी जा रही है। वहाँ संक्रमण की दर 25 से 30 के बीच में बनी हुई है।

छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले में कोरोना को लेकर हालात चिंताजनक हो गए हैं। जिले में पिछले सात दिन में कोरोना की औसत रिकवरी और ट्रांस पास दर घट बढ़ रही है। 24 अप्रैल से इस महीने के विज्ञापन दिवस 30 अप्रैल तक कोरोना रोगियों का औसत रिकवरी दर लगभग 169 प्रतिशत और संक्रमण दर 28 प्रतिशत रही है। वहीं हर रोज औसतन 18 लोगों की मौत भी हुई। 30 अप्रैल को जिले में 5502 सैंपल लिए गए, जिनमें 1312 प्रकार मिले हैं। वहीं 1794 मरीज ठीक होकर घर गए हैं। इसके अलावा भर्ती रोगियों में 20 की मौत हो गई।
(*30*)कोरोनावायरस के रोगियों में रिकवरी में सुधार हुआ
दुर्ग जिले में रिकवरी रेट में सुधार देखने को मिल रहे हैं। लेकिन संक्रमण की दर लगातार घटती और बढ़ती रही है। 24 अप्रैल को संक्रमण की दर लगभग 31 प्रति रही। 25 अप्रैल को यह 35 प्रतिशत तक पहुंच गया। 26 अप्रैल को यह घटकर लगभग 24 प्रतिशत आ गया। 27 अप्रैल को फिर से बढ़ा और 26 प्रति आ पहुंची। 28 अप्रैल को यह 31 प्रतिशत से अधिक हो गया। 29 अप्रैल को अंतर पास फिर कमी आयी करीब 27 फीसदी पर आ गई। और 30 अप्रैल को यह 24 प्रतिशत तक पहुंच गया।
(*30*)रिकवरी रेट में तेजी से बढ़ौतरी, जांच बढाई गई
जिले में रिकवरी दर में तेजी से सुधार आ रहा है। लेकिन धमनों की संख्या अब भी हर दिन एक हजार से ज्यादा है। इसके नेतृत्व में प्रशासन ने लगातार जांच बढ़ाई है। हर दिन औसत 4000 से ज्यादा सैंपल के लिए किया जा रहा है। चेतों के आसपास अन्य रोगियों की ट्रेसिंग भी की जा रही है। लेकिन संक्रमण की दर अब भी तय मानक 5 प्रतिशत से बहुत अधिक है। इस प्रकार की जांच का दायरा भी बढ़ा दिया गया है।

दुर्ग जिले में कोरोना की जांच का मापरा उठाया गया है।

दुर्ग जिले में कोरोना की जांच का मापरा उठाया गया है।

(*30*)जिले में औसतन हर रोज 20 लोगों की मौत
अगर पिछले सात दिनों में देखें तो, हर दिन औसतन 20 लोगों की मौत हो रही है। 24 अप्रैल से 30 अप्रैल तक 141 लोगों की मौत हो चुकी है। मृत्यु में भी कमी नहीं आ रही है। अप्रैल माह की 29 अप्रैल को सबसे कम 12 मौतों हुई थी।

तारीख मृत्यु
24 अप्रैल २३
25 अप्रैल २१
26 अप्रैल २०
27 अप्रैल २४
28 अप्रैल २१
29 अप्रैल १२
30 अप्रैल २०

(*30*)अभी तक नहीं टला
लॉकडाउन के चलते कोरोना का संक्रमण ज़रूर कम हुआ है। लेकिन अब भी टला नहीं है। पूरे अप्रैल महीने में 1 हजार से ज्यादा मामले रोज सामने आ रहे हैं। संक्रमण की दर 25 से 30 के बीच बनी हुई है। जबकि ICMR की गाइडलाइन के मुताबिक 5 प्रतिशत में ही कोरोना को महामारी माना गया है। इस प्रकार अब भी पांच गुना से ज्यादा अंतर जिले में है। यह देखता है कि प्रशासन ने लॉकडाउन लगा दिया है। लोगों की जरुरतों को देखते हुए कुछ ढील हैं।
(*30*)कोरोनावायरस से मृत्यु के कारण
जिले में कोरोनावायरस के संक्रमण से लोगो की मौत हो रही हैं। मौतो के पीछे की जानकारी बताती है कि खुद लोग इसके लिए जिम्मेदार है। जिला अस्पताल के सिविल सर्जन डा 0 बाल किशोर ने बताया कि अब कोरोनावायरस का पीक नीचे हो रहा है। इस लिए थोड़े से परिस्थिति में सुधर रहा है। उन्होने बताया कि कोरोना रोगियों की मौत के पीछे 3 से 4 कारण हो सकते हैं। पहला कारण लोगो की लापरवाही है। दूसरी बड़ी वजह यह है कि लोग संकाय और फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं करते हैं। तीसरी वजह उनकी सफाई पर ध्यान नहीं देना है। और जब तक कोई जरुरी काम न हो तो घर से बाहर न बाहर निकलें।

खबरें और भी हैं …

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: