Harshit India news

breaking news | Bhopal local news | Madhya Pradesh news | Indore news

मरीजों के सामने सड़क का भी संकट: जीपीएम, कोरिया सहित कई जिलों को जोड़ने वाला एनएच इतना खराब है कि बिलासपुर आने में लगते हैं घंटे, लाए जा रहे मरीजों की जान जोखिम में।

  • हिंदी समाचार
  • स्थानीय
  • छत्तीसगढ
  • जीपीएम, कोरिया सहित कई जिलों को जोड़ने वाला राष्ट्रीय राजमार्ग इतना खराब है कि बिलासपुर आने में घंटों लग जाते हैं, मरीजों की जान जोखिम में पड़ जाती है

विज्ञापन से परेशान है? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पेंड्रा19 मिनट पहले

  • कॉपी लिस्ट

बिलासपुर-जबलपुर नेशनल हाइवे बदहाल है। पेंड्रा-गौरेला की महज 97 किमी की दूरी तय करने में 3 घंटे से भी अधिक समय लग रहा है।

इस समय को विभाजित पॉजिटिव पेशेंट्स को बेहतर इलाज के लिए बड़े शहरों में शिफ्ट किया जा रहा है। बिलासपुर के आसपास के जिलों में यहां तक ​​कि मध्यप्रदेश के मंडला, शहडोल तक के मरीजों को यहां के अस्पतालों में लाया जा रहा है, लेकिन इसमें सबसे बड़ी समस्या बन गई है बिलासपुर-जबलपुर नेशनल हाइवे की बदहाल स्थिति। परिस्थिति यह है कि पेंड्रा-गौरेला की महज 97 किलोमीटर की दूरी तय करने में तीन घंटे से भी अधिक समय लग रहा है।

बंजारी घाट में सात बड़े खतरनाक मोड़ हैं।  यहां लगातार दुर्घटना हो रही है।  सड़क पर बड़े गड्ढों के कारण भारी वाहन फंस रहे हैं।

बंजारी घाट में सात बड़े खतरनाक मोड़ हैं। यहां लगातार दुर्घटना हो रही है। सड़क पर बड़े गड्ढों के कारण भारी वाहन फंस रहे हैं।

काम ही शुरू नहीं हो पाया नेशनल हाइवे का

दो साल पहले केंद्रीय मंत्री नितिन गड़करी ने जबलपुर से बिलासपुर तक नेशनल हाइवे बनाने की घोषणा की थी। इसके बाद पिछले साल यह सड़क नेशनल हाइवे अथॉरिटी को पीसीओवर कर दी गई थी। उसके बाद से विभागीय खींचतान और लेटलतीफी के कारण मंडला, शहडोल, पेड्रा, केंदा, रतनपुर वाले बिलासपुर आने वाली इस सड़क के अधिकांश हिस्से में कोई काम नहीं हो सका। केंदा से बिलासपुर की सड़क पर फिर भी मरम्मत और डामरीकरण हुआ लेकिन पेंड्रा से पहले और केंदा तक की सड़क बदहाल ही रही।

बंजारी घाट में बड़ी समस्या है

GPM जिले से बिलासपुर आने का सबसे आसान मार्ग RMKK मार्ग है। यह सड़क अचानकमार टाइगर रिजर्व की सड़क से कम घुमावदार और छोटी है। मध्यप्रदेश के शहडोल, मंडला, अनूपपुर जैसे जिलों से आने वाले लोग भी इसी मार्ग का इस्तेमाल करते हैं, लेकिन अब इस सड़क की बदहाली बढ़ने लगी है। यहां के बंजारी घाट में सात बड़े खतरनाक मोड़ हैं। यहां लगातार दुर्घटना हो रही है। सड़क पर बड़े गड्ढों के कारण भारी वाहन फंस रहे हैं। पूरे घाट पर सड़क खराब है और लोगों को इसे पार करने में बहुत देर लग रही है।

कलेक्टर को शिकायत लेकिन कोई जवाब नहीं

जीपीएम के लोगों ने लगातार कलेक्टर, लोगों को इस सड़क को बेहतर बनाने के लिए ज्ञापन दिए हैं। मांगे की हैं, लेकिन कोई हल नहीं निकला है। अब लोगों का कहना है कि कोरोना काल में हमें यहां से रोज कई मरीजों को बिलासपुर ले जाना पड़ रहा है। ऐसे में यदि सड़क नहीं बनी है तो कई रोगियों की स्थिति में ही गंभीर हो रही है। लोगों का गुस्सा सड़क निर्माण नहीं होने को लेकर बढ़ता जा रहा है।

खबरें और भी हैं …

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: