Harshit India news

breaking news | Bhopal local news | Madhya Pradesh news | Indore news

आय से अधिक संपत्ति का मामला: पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह के खिलाफ पीएमओ में हुई थी शिकायत, दिल्ली से प्रदेश सरकार के पास पहुंची चिट्ठी

विज्ञापन से परेशान हैं? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

रायपुर6 घंटे पहले

  • कॉपी लिस्ट

कई मौकों पर पूर्व सीएम डॉ। रमन इन आरोपों को खारिज कर इसे सिर्फ राजनीतिक चर्चा बताते रहे हैं।

पूर्व मुख्यमंत्री डॉ। रमन सिंह पर कांग्रेस नेता विनोद तिवारी ने आय से अधिक संपत्ति जमा करने के आरोप लगाए थे। इसकी शिकायत प्रधान कार्यालय में की गई। अब प्रदेश सरकार के पास दिल्ली से इस शिकायत को ट्रांसफर कर उचित कदम उठाने को कहा गया है। शिकायतकर्ता विनोद तिवारी ने मंगलवार को ई-मेल के जरिए मुख्य सचिव से इस मामले में अब तक हुई कार्रवाई की जानकारी मांगी है। गृह मंत्रालय से रमन सिंह के खिलाफ शिकायत का पत्र 5 अप्रैल को प्रदेश के मुख्य सचिव अमिताभ जैन को भेजा गया था।

हो सकता है केस दर्ज

शिकायतकर्ता विनोद तिवारी ने बताया कि 5 अप्रैल से मुख्य सचिव के पास पूरे मेरे द्वारा पीएमओ को दिए गए तथ्य और पत्र प्रेषित हैं। इसे देखकर प्रदेश सरकार को कार्यवाही के लिए दस्तावेज भेजे गए हैं। मुझे उम्मीद है कि प्रदेश के मुख्य सचिव इस मामले में गंभीरता दिखाते हुए कार्रवाई करेंगे। मैंने ई-मेल भेजकर उनसे कहा है कि इस मामले में किसी भी तरह की हस्तक्षेप वगैरह के लिए मैं उपलब्ध हो सकता हूं। इस मामले में जल्द ही केस भी दर्ज हो सकता है। अप्रैल महीने के आखिर में इस मामले में बिलासपुर हाईकोर्ट में भी सुनवाई होनी है।

विनोद तिवारी पिछले कई महीनों से इस मामले में जांच करवाने की मांग कर रहे हैं।

विनोद तिवारी पिछले कई महीनों से इस मामले में जांच करवाने की मांग कर रहे हैं।

यह पूरा मामला है

4 अगस्त वर्ष 2020 में कांग्रेस नेता विनोद तिवारी ने प्रधानमंत्री कार्यालय से डॉ। रमन सिंह और उनके बेटे अभिषेक सिंह की शिकायत की। तब पीएमओ ने शिकायत रजिस्टर कर केस अवर सचिव को ट्रांसफ़र कर दिया था। विनोद ने कहा कि डाक्टर रमन सिंह छत्तीसगढ़ राज्य के 2003 से 2018 तक मुख्यमंत्री रहे। 1998 का ​​चुनाव हारने के बाद रमन सिंह कर्ज में थे फिर 2003 में छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री बने 2018 तक मुख्यमंत्री के पद पर रहने वाले उनके परिवार के पास कोई खास आया का स्रोत नहीं है। मगर चुनावी शपथ पत्र में सोना, जमीन, नगद बैंक FD की जानकारी दी गई थी। लेकिन ये सब आया कहां से इसकी जानकारी नहीं है।

खबरें और भी हैं …

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: