Harshit India news

breaking news | Bhopal local news | Madhya Pradesh news | Indore news

लाल आतंकियों की करतूत: दंतेवाड़ा से राजनांदगांव तक सड़क नहीं मिली, इसलिए सड़कों के बीच बांधों बैनर; वाहन- इस सड़क पर नहीं चले हैं वाहन

विज्ञापन से परेशान है? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

दंतेवाड़ा3 मिनट पहले

  • कॉपी लिस्ट

दंतेवाड़ा जिले में नक्सलियो ने व्यापारियों को जागृत भरे पोस्टर लगाए थे। जिसे मालेग्रेशन थाना पुलिस ने बरामद कर लिया है।

छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा जिले में नक्सलियों के बैनर बांधकर व्यापारियों को धमकी दी है। बैनल में लिखा है कि पल्ली-बारसूर रोड पर वाहन बिल्कुल न चले हैं। पुलिस की गाड़ी में न बैठें। दरअसल, नक्सलियो ने मालेबंदी थाना क्षेत्र में सड़क के बीचों बीच पोस्टल लगाए हैं, जिसे पुलिस ने बरामद कर लिया है और मामले की जांच कर रही है। पूर्व बस्तर डिविजनल कमेटी की तरफ से इस डाक को लगाया गया था।
सड़क निर्माण की सुरक्षा में तैनात जवान हैं
ये इलाका नक्सलियों का गढ़ माना जाता रहा है। इसी क्षेत्र के पल्ली-बारसूर मार्ग पर ही रोड़ बनाई जा रही है। इसकी सुरक्षा में जवान तैनात हैं। इस सड़क के बनने से दंतेवाड़ा से राजनांदगांव तक कि दूरी सैकड़ों किलोमीटर कम हो जाएगी। यही कारण है कि नक्सली बौखलाए हुए हैं और लगातार इस इलाके में कोई न कोई घटना को अंजाम देते रहे हैं। इससे स्पष्ट है कि उनके निशाने पर सुरक्षबल हैं और उनकी मंशा है कि किसी भी हाल में इस सड़क का निर्माण नहीं हो सकता है।

50 से 60 की संख्या में पहुंचे नक्सली थे
इससे सप्ताह भर पहले भी नक्सलियों ने मालेग्रेशन थाना के ही घोटिया मोड़ पर 5 किलो का आईईडी प्लांट किया था। इसे सीआरपीएफ 195 बटालियन और सीएएफ के जवानों ने समय रहते डिफ्यूज कर दिया था। वहीं, 10 दिन पहले बचेली में रेल लाइन दोहरीकरण में लगे पोकलेन को आग के हवाले कर दिया था। उस दौरान 50 से 60 की संख्या में नक्सली वहां पहुंचे थे। जबकि, पिछले साल मार्च में भी नक्सलियों ने इसी स्थान पर सुरक्षा बलों को निशाना बनाया था। इसमें 2 जवान शहीद हो गए थे। उस दौरान नक्सलियों ने एक के बाद एक 10 से ज्यादा आईडस्टस्ट किया था।

खबरें और भी हैं …

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: