Harshit India news

breaking news | Bhopal local news | Madhya Pradesh news | Indore news

सीएम भूपेश बघेल का निर्देश: अब कलेक्टर खरीद करेंगे रेमदेसीविर व दवाइयां, बालोद-मुंगेली में आरटीपीसीआर तंबाकू

विज्ञापन से परेशान है? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

रायपुर3 घंटे पहले

  • कॉपी लिस्ट
  • सीएम भूपेश बघेल ने कलेक्टरों से कहा – बिना थके, बिना रूके जीतना है कोरोना से लड़ाई

राज्य के सभी कलेक्टर अब जरूरत के अनुसार रेमडेसिवीर और अन्य आवश्यक दवाओं की प्राप्ति कर सकते हैं। सीएम भूपेश बघेल ने कोरोना के हालात की समीक्षा के दौरान ये निर्देश दिए। उन्होंने बालोद और मुंगेली में आरटीपीसीआर टेस्टिंग एमबीए की स्थापना को भी मंजूरी दी।

सीएम ने कक्षा बैठक में सोमवार को महासमुंद, गरियाबंद, धातरी, बालोद, कबीरधाम, मुंगेली, जीपीएम, सरगुजा, सूरजपुर, कोरिया और बलरामपुर जिले की समीक्षा की। सीएम बघेल ने कहा कि कोरोना पर तेजी से नियंत्रण के लिए हमें जिलों में पाजित सरकार रेट 5 प्रतिशत से नीचे लाने के लिए हर संभव प्रयास करना होगा। उन्होंने कहा कि हमें बिना थके, बिना रूके कोरोना से लड़ाई जीतना है। सबके सहयोग और टीम भावना के साथ व्यवस्थित रूप से काम करने की जरूरत है। ग्रामीण क्षेत्रों में लक्षण वाले रोगियों को जल्द से जल्द उपचार देने के लिए स्वास्थ्य विभाग विशेषज्ञों के माध्यम से आवश्यक दवाईयों का किट तैयार करवाएं और मितानिनों के माध्यम से बंटवाएं।

अफसर दस-दस मरीजों से हर दिन फोन पर बात करते हैं: सिंहदेव

बैठक में स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने कहा कि होम आइसोलेशन वाले मरीजों का फालोअप किया जा रहा है। कलेक्टर, एसपी, सीएमएचओ, सीईओ और संभव हो तो जनप्रतिनिधि प्रतिदिन 10-10 मरीजों से संपर्क पर संपर्क कर उनकी स्थिति की जानकारी लेकर उनके उपचार में सहायता करते हैं। बैठक में सी। अमिताभ जैन, एसीएस स्वास्थ्य रेणु जी। पिल्ले, सुब्रत साहू, मुख्यमंत्री के सचिव सिद्धार्थ कोमल सिंह परदेशी, श्रम सचिव अंबलगन पी।, संभाग के कमिश्नर, आई.जी., सभी 11 जिलों के कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक शामिल थे।

क्वारेंटाइन व आइसोलेशन की व्यवस्था अलग हो
सीएम ने कहा कि बाहर से आने वाले लोगों की रेल्वे रेल, बस स्टैण्डों और अंतर्राज्यीय सीमाओं के खासकर एंट्री प्वाइंट पर ही कड़ाई से टेस्टिंग सुनिश्चित की जाए। टेस्टिंग की रिपोर्ट के आधार पर क्वारेंटाइन सेंटर और आइसोलेशन सेंटर में उन्हें अलग-अलग रखने की व्यवस्था की जाए।

डाक के बजाय अब घरों में स्टेंसिल पेंट से दी जाए पॉजिटिव रोगी होने की सूचना
सीएम ने कहा कि कोटेबल मरीजों के घरों में डाक की जगह स्टेंसिल पेंट कर सूचना प्रदर्शित की जाए। उन्होंने कहा कि घरों में लगाए जाने वाले डाकघर अक्सर हो जाते हैं। घर में प्रदर्शित की जाने वाली सूचना का संदेश सकारात्मक हो और प्रेरणादायी नारों से युक्त हो। इसके लिए स्वास्थ्य विभाग संदेश का प्रारूप डिजाइन कर उपलब्ध कराए। सीएम ने सभी जिलों में ऑक्सीजन बिस्तर, आईसीयू बिस्तर, वेंटिलेटर वाले बिस्तर की उपलब्धता, ऑक्सीजन की सप्लाई चैन, ऑक्सीजन सिलेंडरों की उपलब्धता और रोटेशन, मेडिकल स्टाफ की उपलब्धता और उनकी भर्ती की प्रगति, रेमडेसिविर, दवा आदि की समीक्षा की।

खबरें और भी हैं …

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: