Harshit India news

breaking news | Bhopal local news | Madhya Pradesh news | Indore news

दंतेवाड़ा में जवानों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़: डीआरजी जवानों ने मुठभेड़ में 5 लाख रुपए के इनामी नक्सलीेंडरर को मार गिराया; बीजापुर में नक्सलियों ने दी बंद की चेतावनी

विज्ञापन से परेशान है? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

दंतेवाड़ा / बीजापुर39 मिनट पहले

  • कॉपी लिस्ट

छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में DRG जवानों ने मुठभेड़ में नक्सलींदरर को ढेर कर दिया।

छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में मंगलवार सुबह सुरक्षाबलों ने मुठभेड़ में 5 लाख रुपये के इनामी नक्सली को नष्ट कर दिया। मारा गया नक्सली मलंगिर क्षेत्र कमेटी का सदस्य था। जवानों ने मौके से उसका शव बरामद कर लिया है। वहीं पिस्टल, आईईडीवी सहित अन्य सामान भी बरामद हुआ है। यह मुठभेड़ अरनपुर थाना क्षेत्र के नीलकृत के जंगलों में हुई है। वर्तमान में जवानों के लौटने के बाद पूरी जानकारी सामने आ सकेगी।

घटना स्थल से जवानों ने 9 एमएम पिस्टल, 1 देसी भरमार, 3 किलो की आईईडी, पिट्ठू, दवाई सहित अन्य सामान बरामद किया है।

घटना स्थल से जवानों ने 9 एमएम पिस्टल, 1 देसी भरमार, 3 किलो की आईईडी, पिट्ठू, दवाई सहित अन्य सामान बरामद किया है।

जानकारी के मुताबिक, नीलकृत के जंगलों में नक्सली पिछले चार दिनों से उत्पात मचा रहे थे। बार-बार वहां सड़क काटने की घटनाएं सामने आ रही थीं। यह देखता है कि DRG जवानों को छोड़ा गया था। सुबह करीब 6 बजे जंगल में पहुंचे जवानों पर अचानक नक्सलियों ने फायरिंग शुरू कर दी। जवानों ने भी जवाबी कार्रवाई की। थोड़ी देर चली मुठभेड़ के बाद नक्सली जंगल में भाग निकले। इसके बाद के युवाओं ने सर्चिंग ऑपरेशन चलाया।

15 साल से संगठन में सक्रिय मारा गया था
जवानों ने मौके से मारे गए नक्सली का शव बरामद कर लिया है। उसकी पहचान मल्लापारा, नीलकृत निवासी कोसा के रूप में हुई है। कोसा पिछले 15 वर्षों से नक्सली संगठन में सक्रिय था। मलंगीर क्षेत्र कमेटी में काम कर रहा था और नक्सलियों की इंटेलीजेंस कमेटी का इंचार्ज था। उसके खिलाफ अलग-अलग थानों में 15 मामले दर्ज हैं। जवानों ने घटना स्थल से 9 MM पिस्टल, 1 देसी भरमार, 3 किलो की IED, पिट्ठू, दवाइयां बरामद की हैं।

बीजापुर में नक्सलियों ने बांधे बैनर, 26 को बंद की चेतावनी
वहीं दूसरी ओर से बीजापुर में नक्सलियों ने भैरमगढ़ बस्ती में बैनर, डाक लगाकर 26 अप्रैल को भारत बंद की कोशिश की है। वहीं नक्सलियों ने पर्चे भी लगाए हैं। इसमें कहा गया है कि मोदी सरकार कृषि कानूनों को लाकर किसानों को ग़ुलाम बनाना चाहती है। नवजनवादी क्रांति से ही जनता को हर तरह की उत्पीड़न से मुक्ति मिलेगी। ऑफ़लाइन शिक्षा से छात्रों का भविष्य बर्बाद हो रहा है। डाक में दक्षिण सब जोनल ब्यूरो लिखा है।

खबरें और भी हैं …

(*5*)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: