Harshit India news

breaking news | Bhopal local news | Madhya Pradesh news | Indore news

उलटा मौसम: बिजली और बिजली की बूंदें; दोपहर के बाद आंधी-बिजली, बारिश

विज्ञापन से परेशान हैं? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

रायपुर4 घंटे पहले

  • कॉपी लिस्ट

कोरोना के बढ़ते दायरे ने सभी को सोचने लायक कर दिया है कि आखिर क्या किया जाना चाहिए। प्रशासन को मजबूरी में जहां मौतों से पहले ही चिताएं तैयार रखनी पड़ रही है, वहीं डॉ भी कई जगह बेबस नजर आने लगे हैं। इस त्रासदी के सामने सरकारें रोज कुछ न कुछ कोशिशें कर रही हैं, जिससे आम लोगों को थोड़ी-थोड़ी राहत मिल सकेगी।

राजधानी रायपुर सहित राज्य के कई हिस्सों में मंगलवार को दोपहर बाद तेज अंधड़ के साथ बारिश हुई। दुर्ग-राजनांदगांव में कई स्थानों पर ओले भी गिरे। राजधानी में भी दोपहर बाद काफी तेज अंधड़ चला गया और हल्की बारिश हुई, जिससे दोपहर की गर्मी गायब हो गई। शाम तक ठंडी तेज हवा चलती रही। रायपुर में हल्की बारिश के बाद मौसम साफ तो हुआ लेकिन ठंडी हवा चलती रही। विदर्भ के ऊपर एक ऊपरी हवा का चक्रवाती घेरा है। मध्यप्रदेश से केरल तक एक द्रोणिका बनी हुई है।

आज भी बािरश होगी
लालपुर मौसम केंद्र के मौसम विज्ञानी एचपी चंद्रा के अनुसार बुधवार को भी राज्य में कुछ स्थानों पर तेज अंधड़ के साथ बारिश हो सकती है।

ये बिजली की बिजली; इतने मौतों की आशंका कि चिताएं सजाकर रखनी पड़ रही हैं

ये प्रशासन की मजबूरी भी है, क्योंकि चेतन बॉडी को जल्द ही जल्द ही निष्क्रिय करना जरूरी है
गौरेला-पेंड्रा-मरने वाले जिले में कोरोना रोगियों की लगातार संख्या बढ़ रही है। मंगलवार तक यहां 1691 लोग मिल चुके हैं। दो-तीन लोगों की मौत यहां रोजाना हो रही है। इस स्थिति को देखते हुए प्रशासन ने टीकर कला हायर सेकंडरी स्कूल के पीछे एडवासन में 8-10 चिताएं सजाकर रख ली हैं। गौरेला के टीकरविच हायर सेकंडरी स्कूल में ही कोविड कैर सेंटर है। गौरेला एसडीएम डिगेश पटेल ने बताया कि स्कूल ग्राउंड में दो-तीन लोगों का अंतिम संस्कार किया गया है। बढ़ते संक्रमण और मौत के कारण 8-10 चिताएं बनाकर रख ली हैं। जिन पर मृतकों का को विभाजित नियमों के तहत अंतिम संस्कार किया जाएगा। ये प्रशासन की मजबूरी भी है, क्योंकि चेतन बॉडी को जल्द ही जल्द ही विवादित करना जरूरी है।

और ये राहत की बूंदें; अब कपड़ों की दुकानों से भी होम नोट, घर में ठीक हो ज्यादा मरीज

दुकान से ग्राहक को सामान भेज दिया गया
लॉकडाउन के दौरान घरों में राशन की बढ़ती किल्लत को देखते हुए राज्य सरकार ने व्यापारियों दुकानदारों को आवेदन की छूट दे दी है। नई गाइडलाइन के मुताबिक दुकानदार राशन की होम ऑफर कर रहे हैं। लेकिन उन्हें दुकान खोलकर सामान बेचने की छूट नहीं दी गई है। इससे पहले सरकार ने ठेलों के माध्यम से राशन बेचने का आदेश जारी किया था। जो व्यवहारिक रूप से संभव नहीं था। इसके बाद यह नई गाइडलाइन जारी की गई है। ऐसा इसलिए किया गया है ताकि लोग एक-दूसरे के संपर्क में न आए, व कोरोना की चेन को तोड़ा जा सके। कलेक्टरों से कहा गया है कि वे व्यापारिक सामान लोगों को घर पर मिले इसकी व्यवस्था करें। शेष | पेज 4

अपने-अपने जिलों में कलेक्टर के स्टोर से लोगों के घर होम नोट से घरेलू आवश्यकता की वस्तुओं की आपूर्ति करवाएंगे। घरेलू दुकानदार फोन पर आर्डर के बारे में होम नोट कर रहे होंगे। दुकान खोल कर सीधा ग्राहक को सामान बेचने के पाए जाने पर प्रकरण कार्रवाई होगी। वे दुकानदार होम ऑफर के लिए छोटे वाहनों का प्रयोग कर सकते हैं। इससे पहले सरकार ने राशन दुकानों से हर रोज 75 लोगों को राशन देने की व्यवस्था की है।

रायपुर में 7 दिन में 25 हजार से ज्यादा स्वस्थ
छत्तीसगढ़ में कोरोना के 15625 नए किस्म मिले। रायपुर में 2225 पॉजिटिव मिले हैं। पिछले 24 घंटों में राजधानी की 77 सहित 191 मौतें हुई हैं। सूरजपुर के कलेक्टर, छत्तीसगढ़ी फिल्मों के कलाकार अनुज शर्मा भी कोरोनात्मक हो गए हैं। वे होम आइसोलेशन में इलाज करवा रहे हैं। राजधानी के सेंट्रल जेल में एक कैदी की मौत के बाद जेल डीआईजी आइसोलेशन में चले गए हैं। इस बीच, रिले की बड़ी बात ये है कि प्रदेश में मरीजों की औसत वृद्धि दर अब 3 प्रतिशत से घटकर 2.1 प्रतिशत पर आ गई है। प्रदेश में सर्वाधिक केस मिलने के बावजूद राजधानी रायपुर में रिकवरी रेट यानी मरीजों के ठीक होने की दर प्रदेश के औसत से ज्यादा है। प्रदेश में अभी 77.02 के लगभग रिकवरी रेट है। जबकि राजधानी में ये 81.86 प्रतिशत है। रायपुर में पिछले एक सप्ताह में 25 हजार से ज्यादा मरीज केवल होम आइसोलेशन यानी घर में इलाज के बाद स्वस्थ हो चुके हैं।

प्रदेश में 15830 लोग ठीक हैं
प्रदेश में मंगलवार को कोरोना से इलाज के बाद अस्पताल और घर से 15830 लोग ठीक साथ डिस्चार्ज हो गए हैं।

खबरें और भी हैं …

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: