Harshit India news

breaking news | Bhopal local news | Madhya Pradesh news | Indore news

दुर्ग में अब 26 अप्रैल तक सब बंद: जिले में तीसरे बार ताला लॉकडाउन; थेलों पर मिलेंगे सब्जी, फल और राशन; 7 दिनों में 11895 लोग कोरोनाअर की क्षमता वाले होते हैं

दुर्ग जिले में लॉकडाउन -3.0 शुरू हो गया है। कलेक्टर ने सभी अधिकारियों को इसे पालन कराने के निर्देश दिए हैं।

छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले में लॉकडाउन 3.0 शुरू हो गया है। इस साल का यह तीसरा लॉकडाउन है, जो 19 अप्रैल से 26 अप्रैल तक रहेगा। पहला लॉकडाउन 6 से 14 अप्रैल तक था। दूसरा 15 से 19 अप्रैल तक लॉकडाउन लगाया गया था, जिसे अब बढ़ाकर 26 अप्रैल तक कर दिया गया है। तीसरे लॉकडाउन में कलेक्टर ने कुछ स्थानों पर ढील दी है।

कलेक्टर ने अधिकारियों को सौंपी जिम्मेदारी

दुर्ग जिले के कलेक्टर डा 0 सर्वेश्वर नरेन्द्र भुरे ने बताया कि पहले निर्धारित लॉकडाउन के दौरान सभी अधिकारियों ने जिम्मेदारी के साथ काम किया है। इससे लॉकडाउन के उद्देश्यों को पूरा करने में मदद मिली है। जिससे कोरोनावायरस की बढ़ती अवस्था को कम करने में कामयाबी मिली है। लॉकडाउन की अवधि अब 26 अप्रैल तक बढ़ा दी गई है। उन्होंने कहा कि अब आगे भी पूरी शिद्दत से जवाबदेही के साथ कार्य करना है।

कोरोना गाइडलाइन में ढील

  • इस बार के लॉकडाउन -3.0 में जिले को विभाजन जोन घोषित किया गया है। पहले से जारी निर्देश में कुछ आंशिक रूप से छूट दी गई है। अभी भी थोक सब्जी बाजार पूरी तरह से बंद रहेगा। लेकिन थेलों के माध्यम से स्ट्रीट वेंडर फल, सब्जी और राशन बेच सकते हैं। लेकिन शहरी क्षेत्रों के जिस मोहल्ले को संरक्षण जोन घोषित किया गया है। वहाँ बेचना प्रतिबंधित रहेगा। सभी स्ट्रीट वेंडरों को कोरोना गाइडलाइन का पालन करना अनिवार्य होगा।
  • ठेले वालों को सुबह 6 बजे से दोपहर 2 बजे तक की अनुमति होगी। फैस और फिजिकल डिस्टेसिंग का कड़ाई से पालन करना अनिवार्य होगा।
  • इस अवधि में सभी प्रकार के आयोजन, सामाजिक कार्यक्रम, विवाह और मृत्यु भोज में केवल 10 लोगो के शामिल होने की अनुमति होगी।
  • पैट्रिक शाप / एक्वेरियम को केवल पशुओं को चारा देने के लिए खोला जाएगा।
  • दूध के विक्रय समय में बढोतरी की गई है। अब सुबह 6 बजे से 8 बजे और शाम को 5 बजे से 6.30 बजे तक विक्रय किया जा सकेगा।
  • पीडीएस की दुकानों का संचालन किया जा सकता है। उस बटुक वितरण के आधार पर संचालन किया जाएगा। एक दिन में अधिकतम 40 से 50 लोगों को ही टोकन जारी किया जाएगा।
  • मेडिकल स्टोर संचालकों के लिए कहा कि वे संकाय, सेनिटाइजर और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करेंगे।
  • मोबाइल टीम करेगी गली-मोहल्ले में पहुंचकर ऐसे लोगों की लेगी जानकारी।
  • जिले में संचालित सभी शराब की दुकानें बंद रहेंगी।

चारों ओर आवाजजही की ही वेंडरों को अनुमति मिलेगी

सब्जी की बुल मंडियां भी इस लॉकडाउन में पूरी तरह से बंद रहेंगी। गली-कूंचन व कॉलोनियों में घूमकर सब्जी बेचने वाले अपने आसपास की बाड़ी से सब्जी खरीदेंगे। एक गांव से दूसरे गांव की बाड़ी में सब्जी लेने के लिए नहीं जाना है। इसी तरह शहरी क्षेत्र से लगे बाबलों में भी वाहनों के मालिकों को जाने की छूट नहीं दी गई है। स्थानीय व्यवस्था सब्जी की रहेगी।

(*26*)सब्जी ठेले वालों को मोहल्लों में सब्जी बेचने की अनुमति सुबह 6 बजे से दोपहर 2 बजे तक दी गई है।  लेकिन लोग सब्जी वालों से कम ही सतर्कता खरीद रहे हैं।

सब्जी ठेले वालों को मोहल्लों में सब्जी बेचने की अनुमति सुबह 6 बजे से दोपहर 2 बजे तक दी गई है। लेकिन लोग सब्जी वालों से कम ही सतर्कता खरीद रहे हैं।

यात्रियों और स्ट्रीट वेंडरों की कोरोना टेस्ट होगी

जिले में कोरोना के हस्तक्षेप के लिए एक बार फिर से मेडिकल स्टोर संचेकर्स की कोरोना टेस्टिंग कराई जाएगी। साथ ही रेलवे से सफर में आने वाले सभी यात्रियों का अनिवार्य रूप से टेस्टिंग जारी रहेगा। साथ ही थेलों के माध्यम से फल और सब्जी का विक्रय करने वाले स्ट्रीट वेंडरों की भी टेस्टिंग कराने के लिए निर्देश दिए गए हैं।

इतना डर ​​कि कम ही लोग ले रहे हैं सब्जी

शहर में तीसरे लॉकडाउन में सब्जी ठेले पर बेचने वाले मोहल्लों में सब्जी बेच रहे हैं। लेकिन ए आवासत के तौर पर कम लोग ही अपने घरों से निकलकर सतर्कता खरीद रहे हैं। दरअसल कोरोना का डर सभी को सता रहा है। घरों से भी लोग कम ही निकल रहे हैं।

राम पुकार सब्जी विक्रेता ने बताया कि सब्जी बेचने की अनुमति मिली है। लेकिन पहले दिन ज्यादा बिक्री नहीं हो रही है। वहीं दूसरी ओर शहर की सड़कों पर सन्नाटा पसरा है। घर से वहाँ लोग निकल रहे हैं। जिसे या तो अस्पताल जाना है या तो दवाई लेने मेडिकल स्टोर जाना है। लेकिन चौक चौराहों पर तैनात पुलिस कर्मी व नगर निगम के कर्मचारी उन्हें रोक कर जांच भी कर रहे हैं। अगर घर से निकलने की वाजिब वजह लोग नहीं बता पाते तो उन्हें वापस घर को भेज दिया जा रहा है।

(*26*)भिलाई शहर में पुलिस ने अलग-अलग जगहों पर चेकिंग प्वाइंट लगाया है जहां आने-जाने वालों को रोक कर उनसे पूछताछ की जा रही है।

भिलाई शहर में पुलिस ने अलग-अलग जगहों पर चेकिंग प्वाइंट लगाया है जहां आने-जाने वालों को रोक कर उनसे पूछताछ की जा रही है।

खबरें और भी हैं …

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: