Harshit India news

breaking news | Bhopal local news | Madhya Pradesh news | Indore news

कांग्रेस कार्यसमिति की वर्ग बैठक में शामिल हुए मुख्यमंत्री: सोनिया ने सीएम बघेल से कहा मरीजों की मदद में जुटे कांग्रेसी

विज्ञापन से परेशान है? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

रायपुर20 घंटे पहले

  • कॉपी लिस्ट

कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने शनिवार को कांग्रेस कार्यसमिति (सीडब्लूसी) की बैठक ली। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के साथ ही प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया भी बैठक में समूह रूप से शामिल हुए। सीडब्लूसी ने कोरोनासिस से उपजे हालात पर चर्चा की। मुख्यमंत्री बघेल ने सोनिया गांधी को छत्तीसगढ़ के हालात की जानकारी दी।

सोनिया गांधी ने वैक्सीन और इंजेक्शन की उपलब्धता और कोरोना से जन सामान्य को बचाने वाले जाने वाले उपायों को लेकर कांग्रेस नेताओं को निर्देश भी जारी किया। बैठक में साेनिया गांधी ने कई सुझाव भी दिए। उन्होंने कहा कि टीकाकरण के लिए आयु सीमा पर केंद्र सरकार पुनर्विचार करे। 25 साल की आयु सीमा वालों के साथ ही अस्थमा, एनजाइना, दी, किडनी और यकृत से पीड़ित लोगों का टीकाकरण किया जाएगा। कोविड -19 की दवाइयों और उपकरण को जीएसटी से मुक्त किया जाना चाहिए। वर्तमान में, इन पर 12 प्रतिशत तक जीएसटी लिया जा रहा है, जो अमानवीय है। दैनिक मजदूरों को 6 हजार रुपए मासिक सहायता दी जानी चाहिए।

सीएम फंड के नियम शिथिल किए बघेल ने कहा
मुख्यमंत्री सहायता कोष से कोरोना संक्रमण की रोकथाम हेतु दी जाने वाली राशि का स्वविवेक से उपयोग करने की सभी जिला कलेक्टरों को अनुमति प्रदान की गई है। मुख्यमंत्री सचिवालय से सभी कलेक्टरों को इस संबंध में पत्र भेजा गया है कि ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य अधोसंरचना को विकसित करने वाली जीवनदीप समितियों से मुख्यमंत्री सहायता कोष से अनुमति दी गई है। प्रदेश में वर्तमान में महामारी के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए जीवनदीप समितियों से आबंटित राशि के उपयोग की अनुमति में शिथिलता प्रदान करते हुए कलेक्टर्स को स्वविवेक से कम लेने कहा गया है।

सिंहदेव ने हर्षवर्धन से कहा- एक हजार प्री-फैब्रिकेटेड बिस्तर की मांग, दवाओं पर जीएसटी कम करने की भी बात कही गई
स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने केंद्र सरकार से कोरोना के इलाज में उपयोग की जा रही दवाओं में जीएसटी कम करने और आईसीयू बिस्तरों की कमी को देखते हुए राज्य को एक हजार प्री-फैब्रीकेटेड यूनिट उपलब्ध करवाने कहा है। सिंहदेव शनिवार को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन के साथ वीडियों कांफ्रेंसिंग कर रहे थे। सिंहदेव ने इसके साथ ही रेमडेसीवीर की इंटर एस्टेट अनुमति पर प्रतिबंध ना लगाने का उल्लेख लिया। रेमदेसीविर के जो भी आर्डर हैं यह भी कहीं रुकें नहीं इस विषय में गृह, स्वास्थ्य या हर्बलुटिकल जो भी मंत्रालय के तहत आदेश जारी करने की बात कही।

सिंहदेव ने इस बात पर आभार जताया कि केंद्र ने ऑक्सीजन जंबो सिलेंडर और छोटे सिलेंडर को संज्ञान में उपलब्ध कराने का एक लिया है। दवाओं पर से जीएसटी कटौती पर कहा कि हो सकता है कि यह जीएसटी काउंसिल का मुद्दा हो लेकिन इसमें भी पहल करने की आवश्यकता है।]जीएसटी काउंसिल की बैठक 6 महीने से ऊपर हो गई है अभी तक नहीं पाई गई है। इसके साथ ही अलग-अलग वस्तुओं के मूल्य को यदि कैप किया जा सकता है तो उन्हें कैप करने की आवश्यकता है।

रेमदेसीवीरर का देते हुए उन्होंने बताया कि हम देखते हैं तो 899 से लेकर 5000 से ऊपर के दाम है तो ऐसे वैरिएशन के दाम को हम लोग समझ भी नहीं पाते और क्या इसमें कैपिंग हो सकता है। इसके बाद वेंटिलेटर के साथ बाईप यूनिट, ऑक्सीजन कंसंट्रेटर 10 लीटर या उससे ऊपर की कैपेसिटी के संबंध में, 4 स्वीकृत ऑक्सीजन जनरेटिंग प्लांट में से 1 बनकर तैयार हो गया है, लेकिन क्या और 10 ऑक्सीजन जनरेटिंग ग्रेड पर भी मांग रखी गई है। रायपुर मेडिकल कॉलेज में 4 लेवल के रायपुर की स्थापना पर उन्होंने बात कही। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ में वर्तमान स्थिति चिंताजनक है, जिसमें यदि कल 16 अप्रैल को राज्य की औसत पॉजिट क्रेडिट पास देखें तो लगभग 30% है, राज्य के 28 में से 13 जिलों में 20% से कम है, 20% से 40% पॉजिटिव बैंक पास है। जिलों में है, और 40% से ऊपर 8 जिलों में है। छत्तीसगढ़ में वर्तमान में सक्रिय प्रकरण 1,24,000 हो चुके हैं, फिर भी छत्तीसगढ़ में 130000 का अनुमान बताया गया है।

यह 2 लाख के आसपास या 1.5 लाख तो पार करने के आसार दिखाई दे रहे हैं। इसके साथ ही उन्होंने बताया कि केंद्रीय आंकड़ों के अनुसार छत्तीसगढ़ में 90% के आसपास होम आइसोलेशन है, हम 80% को टारगेट के बारे में चल रहे हैं, कि 80% होम आइसोलेशन होगा तो 20% आबादी के लिए प्रबंधन करना होगा, अर्थात 2 लाख की स्थिति आती है तो 40,000 कुल बिस्तर जिसमें ऑक्सिनेटेड बिस्तर भी होगा। इसके साथ ही आईसीयू बिस्तरों की स्थिति चिंताजनक है, छत्तीसगढ़ में लगभग 100% ऑक्यूपेंसी की स्थिति में है।

स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने आगे बताया कि वैक्सीनेशन में अभी तक तुलनात्मक बड़े राज्यों में छत्तीसगढ़ का परफॉर्मेंस ठीक है। उन्होंने सुझाव देते हुए कहा कि जिन राज्यों का वैक्सीनेशन प्रतिशत आबादी का 16% -17% से ऊपर पहुंच रहा है, उसमें 45 साल से नीचे का भी रिलैक्सेशन का प्रावधान देना चाहिए। उन्होंने मौजूदा उपलब्ध वैक्सीन का उल्लेख करते हुए बताया कि कोविशिल्ड की 4 लाख शुक्रवार को वैक्सीन आई और दो लाख कोविक्सीन की भी आईं हैं। इनका उपयोग हम लोग समुचित कर लेंगे।

राशन के लिए टोकन मिल जाएगा, एक दिन में 50 से 80
खाद्य विभाग ने उचित मूल्य दुकानों में सामान्य भीड़ न जमा कर राशन सामग्री बांटने को कहा है। हर दुकान से संलग्न वार्ड, मोहल्ला, गांव के प्रतिदिन 50 से लेकर अधिकतम 80 हितग्राहियों को टोकन जारी किया जाएगा। इससे उन्हें राशन सामग्री का वितरण किया जाएगा। ताकि दुकान पर भीड़ जमा न हो। कोरोनो के संक्रमण की रोकथाम के लिए 22 जिलों में लॉकडाउन चल रहा है। राशन सामग्री वितरण करने वाले कलेक्टर द्वारा निर्धारित कार्य दिवसों और समयावधि के दौरान उचित मूल्य की दुकानें संचालित की जाएंगी। सामाजिक दूरी का पालन करते हुए राशन दिया जाएगा। सभी खाद्य सहभागियों और खाद्य अधिकारियों को गाइड-लाइन का पालन करना होगा।

खबरें और भी हैं …

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: