Harshit India news

breaking news | Bhopal local news | Madhya Pradesh news | Indore news

बीमारों को बचाने की जद्दोजहद: छत्तीसगढ़ में निजी अस्पतालों में आक्सीजन वाले 50 प्रतिशत बिस्तर कोरोना रोगियों के लिए आरक्षित, सरकार ने भी बढ़ाई अस्पतालों की क्षमता

विज्ञापन से परेशान हैं? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

रायपुर3 घंटे पहले

  • कॉपी लिस्ट

रायपुर स्मार्ट सिटी कोर्पोरेशन ने इस तरह के अस्थायी कोरोना अस्पताल बनाये हैं। इससे मरीजों को थोड़ी राहत की उम्मीद है।

कोरोना के बेकाबू होते हालात के बीच प्रशासन बीमारों को बचाने की जद्दोजहद में जुटा है। सरकार के फैसले के बाद संक्रमण से सबसे प्रभावित रायपुर, दुर्ग और बिलासपुर जिलों के निजी अस्पतालों में 50 प्रतिशत ऑक्सीजन सुविधा वाले बिस्तर कोरोना मरीजों के आरक्षित कर दिए गए हैं। इस बीच सरकार भी कोविड कैर सेंटर में ऑक्सीजन वाले बिस्तर की क्षमता बढ़ा रही है। रायपुर में फुंडहर, नरसी और तिल्दा में नए कोविड कैर सेंटर शुरू हुए हैं।

स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने बताया कि 50 प्रतिशत बिस्तर आरक्षित करने के आदेश के बाद रायपुर जिले के निजी अस्पतालों के 5512 बिस्तरों में से 3531 कोरोना रोगियों के लिए सुरक्षित कर लिया गया है। दुर्ग जिले के निजी अस्पतालों में उपलब्ध 1532 बिस्तरों में से 972 को आरक्षित किया गया है। वहीं बिलासपुर जिले के 355 बिस्तरों में से 285 को कोरोना रोगियों के लिए अलग कर लिया गया है। इसकी जानकारी स्वास्थ्य विभाग के पोर्टल पर भी डाल दी गई है। अधिकारियों ने बताया, दूसरे जिलों में भी ऐसी व्यवस्था की जा रही है।

रायपुर जिले में जहां मेडिकल कालेज के अलावा एलायंस कॉलेज, माना और लालपुर में कोविड अस्पताल पहले से चल रहे थे। अब फुंडहर के वर्किंग वीमन हॉस्टल में बनाए गए कोविड कैर सेंटर और पहुँचसीवें और तिल्दा विकासखंड में बनाए गए कोविड कैर भी शामिल हो गए हैं। कलेक्टर डॉ। एस। भारतीदासन ने बताया, ये फुंडहर केंद्र में 210 बिस्तर हैं जिनमें ऑक्सीजन और कंसरट्रेटर की सुविधा वाले बेड की संख्या 40 है। पहुँचसीवें में 50 बिस्तर लगे हुए हैं जिनमें से ऑक्सीजन युक्त बिस्तर 15 हैं। वहीं तिल्दा के 50 बिस्तरों में 30 में ऑक्सीजन की सुविधा उपलब्ध है।

अब आंबेडकर अस्पताल के बाहर ऑक्सीजन वाले 915 बिस्तर हैं

अधिकारियों ने बताया, तीनों केंद्रों के शुरू हो जाने से जिले में ऑक्सीजन की सुविधा वाले बिस्तरों की संख्या में 85 का इजाफा हुआ है। रायपुर के डॉ। भीमराव आम्बेडकर अस्पताल के बाहर अब 915 अतिरिक्त बिस्तरों में ऑक्सीजन की सुविधा उपलब्ध है।

प्रदेश को मिले 8800 रेमडेसिवर इंजेक्शन

रेमडेसिवीर इंजेक्शन की किल्लत से जूझ रहे मरीजों को कुछ राहत के संकेत मिले हैं। गुरुवार को प्रदेश में 8800 वायल रेमडेसिवर इंजेक्शन पहुंचे। खाद्य एवं औषधि प्रशासन विभाग के प्रभारी अधिकारी ने बताया, गुरुवार को सन फार्मा ने 5400 और हेटरो ने 3400 इंजेक्शन की आपूर्ति की है। इनका अस्पतालों में वितरण किया जा रहा है। अधिकारी ने बताया, सरकार ने दो आईएएस अधिकारियों को मुंबई और हैदराबाद में तैनात किया है। इससे आपूर्ति में मदद मिल रही है।

दो लाख डोज वैक्सीन की नई खेप भी मिली

गुरुवार को प्रदेश में कोविशील्ड वैक्सीन की दो लाख डोज की नई खेप पहुंच गई। राज्य वैक्सीन भंडार लाने के बाद इसमें जिलों में भेज दिया गया है। राजकीयकरण अधिकारी डाॅ। अमर सिंह ठाकुर ने बताया, बुधवार तक की स्थिति में प्रदेश में वैक्सीन की 4644856 डोज लग चुकी है। इसमें से 45 वर्ष से अधिक आयु के कुल 5866599 में से 62 प्रतिशत यानि 3647243 को पहले डोज और 111149 को दूसरी डोज लग गई है। इसके अलावा 88 प्रतिशत स्वास्थ्य कर्मी और 85 प्रतिशत एयरलाइन वर्कर्स को भी वैक्सीन लग चुकी है।

खबरें और भी हैं …

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: