Harshit India news

breaking news | Bhopal local news | Madhya Pradesh news | Indore news

कोरोना ने तबाह किए परिवार: अपनों का शव भी नहीं देख पा रहा; लामनी की महिला की मौत, पति अस्पताल में, 13 साल का बेटा मुखाग्नि देगा

विज्ञापन से परेशान हैं? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जगदलपुर37 मिनट पहले

  • (*13*)

  • 4 कोरोना रोगियों ने तोड़ा दम, 2 दंपती हुए थे भर्ती, एक के पति और दूसरे की पत्नी की हुई मौत

कोरोना ने गुरुवार को फिर से 4 लोगों की जान ले ली है। इनमें एक महिला भी शामिल है। अफसरों के अनुसार गुरुवार को 4 लोगों की मौत को विभाजित पॉजिटिव होने के बाद हुई इन महिलाओं सहित 3 लोग मेडिकल कॉलेज में भर्ती थे तो वहीं एक व्यक्ति को विशाखापट्टनम के निजी अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। जिन 4 लोगों ने दम तोड़ा है उनमें एक दतेवाड़ा से, एक सुकमा से और महिला व विशाखापट्टनम में दम तोड़ने वाला युवक जगदलपुर के हैं।

अब तो हालात ऐसे हो गए हैं कि कोरोना की चपेट में पूरे परिवार के लोग आ रहे हैं। जिन चार लोगों ने दम तोड़ा है उनमें से एक महिला और एक पुरुष ऐसे हैं जो अपने पति और पत्नी के साथ अस्पताल में भर्ती हुए थे। सुकमा जिले के जिस व्यक्ति की मौत हुई है, उनकी पत्नी को भी विभाजित पॉजिटिव है। इसी तरह लामनी की जिस महिला की मौत हुई है, उनके पति भी अस्थिर है और अस्पताल में भर्ती हैं।

विशाखापट्टनम से लाया जाने वाला मरीज का शव प्रशासन को बताए बिना किया गया अंतिम संस्कार
दो दिन पहले जगदलपुर के एक व्यक्ति को पॉजिटिव होने के बाद एयरलिफ्ट कर विशाखापट्टनम भेजा गया था उक्त मरीज की मौत वहां गई। गुरुवार देर शाम मरीज के शव को एकर्न्स से जगदलपुर लाया गया और बिना प्रशासन की जानकारी के ही अंतिम संस्कार कर दिया गया। बताया जा रहा है कि अंतिम संस्कार में कई लोग शामिल थे। हालांकि सीएसपी हेमसागर सिदार ने बताया कि सिटी मजिस्ट्रेट ने भी उन्हें ऐसी ही जानकारी दी है। इसके बाद पुलिस की एक टीम को भेजा गया था तहसीलदार पहले से ही थे। लाश को शमशान से वापस नहीं लाया गया है। लोगों को शव से दूर करवाने के बाद सुरक्षा नियमों का पालन करवाते अंतिम संस्कार करवा दिया गया है।

पत्नी की मौत, पति अस्पताल में
लामनी की महिला ने मेकॉज में दम तोड़ा। उनके पति पहले ही पॉजिटिव हैं और वे मेकॉज के ही कोविड अस्पताल में भर्ती हैं। अभी परिवार के मुखिया अस्पताल में भर्ती हैं। ऐसे में महिला के अंतिम संस्कार की जिम्मेदारी अब घर के बच्चों के कंधों पर आ गई है। बताया जा रहा है कि इनका एक 13 साल का बेटा है।

पति की मौत, पत्नी व बेटा भी पॉजिटिव
सुकमा के तोंगपाल निवासी 35 वर्षीय युवक ने मेकॉज में दम तोड़ दिया। उसी प्रकार पत्नी का इलाज मेकॉज में जारी है। बेटे भी पॉजिटिव आने के बाद होम आइसोलेशन में है। डॉक्टरों ने बुधवार दोपहर दंपती को मेकॉज रेफर किया था। गुरुवार सुबह 11 बजे युवक को वेंटिलेटर में रखना पड़ा। दोपहर 2 बजे उसने दम तोड़ दिया।

पिछले 4 दिन में कोरोना से 12 की मौत
पति को चुनने के बाद महिला और पत्नी को चुनने के बाद पति अस्पताल में न गम मना पा रहे न विलाप कर रहे हैं। दोनों अपनों की रचनाएँ भी नहीं देख पा रहे हैं। पिछले 4 दिन में ही कोरोना से 12 इन लोगों की मौत हो गई है।

कोरोना का कहर ऐसी समझें, स्वस्थ होते-होते अचानक जान में जान आई
इधर कोरोना की दूसरी लहर के संक्रमण ने डाक्टरों को भी परेशान कर रखा है। को विभाजित मरीजों का इलाज करने वाले डाॅक्टरों की मानें तो इस बार जो मरीज पॉजिटिव हो रहे हैं, उन्हें विशेष निगरानी की जरूरत है। दरअसल, डाक्टेरेंड्स ने बताया कि जो लोग पॉजिटिव हो रहे हैं पॉजिटिव होते ही उनमें कोरोना के कोई विशेष लक्षण नहीं दिख रहे हैं अचानक ही मरीज की सेहत खराब हो रही है और फिर पता चलता है कि मरीज पॉजिटिव है। इसके बाद रोगी को इलाज बाददया जा रहा है तो ऐसा लग रहा है कि रोगी तेजी से रिकवर हो रहा है लेकिन फिर अचानक से सेहत गिर रही है और मरीज की मौत हो रही है। मौत के इन मामलों में भी चौंकाने वाली बात यह है कि हाल के दिनों में जो मौतें हुई हैं उनमें बड़ी संख्या में युवा लड़के हैं और इनमें 40 से 50 के बीच की उम्र के लोग भी शामिल हैं जबकि कोरोना के पहले दौर में 50 प्लस और मौत के मामले में 60 प्लस के लोग ज्यादा शामिल थे।

खबरें और भी हैं …

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: