Harshit India news

breaking news | Bhopal local news | Madhya Pradesh news | Indore news

आक्सीजन है तो मिलते हैं क्यों नहीं: सरकार का दावा – छत्तीसगढ़ में पर्याप्त ऑक्सीजन, लेकिन कई कोरोना पेशेंट की मौत का कारण समय पर व्यवस्था नहीं होना चाहिए

  • हिंदी समाचार
  • स्थानीय
  • छत्तीसगढ
  • रायपुर
  • छत्तीसगढ़; IAS डॉ। अयाज तम्बोली को पर्याप्त ऑक्सिजन की आपूर्ति बनाए रखने के लिए नोडल अधिकारी के रूप में नियुक्त किया गया है, सरकार ने पर्याप्त ऑक्सीजन कहा है

विज्ञापन से परेशान हैं? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

रायपुर6 घंटे पहले

  • कॉपी लिस्ट

राज्य सरकार ने 2009 बार के आईएएस अधिकारी डॉ। अयोजन फकीरभाई तम्बोली को ऑक्सीजन आपूर्ति बनाये रखने का जिम्मा सौंप है।

छत्तीसगढ़ में अस्पताल में भर्ती मरीजों के लिए ऑक्सीजन की जद्दोजहद जारी है। सरकार का दावा है कि प्रदेश में ऑक्सीजन का पर्याप्त उत्पादन है। अब जरूरतमंदों तक ऑक्सीजन की निरंतर आपूर्ति बनाये रखने के लिए एक IAS अधिकारी को इसका नोडल बनाया गया है।

राज्य सरकार ने 2009 बार के आईएएस डॉ। अयोजन फकीरभाई टोली को राज्य नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है। उन्हें ऑक्सीजन गैस सिलेंडर आपूर्ति और समन्वय स्थापित करने का काम करना है ताकि प्रदेश भर के जरूरतमंद मरीजों को समय पर ऑक्सीजन गैस सिलेंडर तक पहुंचाया जा सके। डॉ। अयोजन फकीरभाई तम्बोली के पास छत्तीसगढ़ गृह निर्माण मण्डल के आयुक्त और रायपुर विकास प्राधिकरण व नव रायपुर अटल नगर विकास प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालन अधिकारी की जिम्मेदारी अभी तक बनी हुई है। राज्य सरकार ने बताया, गुरवार की स्थिति में राज्य में प्रतिदिन 386.92 मिलियन टन ऑक्सीजन गैस का उत्पादन हो रहा है। अभी प्रदेश में ऑक्सीजन सपोर्ट वाले 5 हजार 898 मरीजों के लिए प्रतिदिन 110.30 टन टन ऑक्सीजन की ही जरूरत पड़ रही है। बाद में सरकार को ऑक्सीजन के उत्पादन और आपूर्ति के बीच की दिक्कतों की बात समझ में आई है। उसके बाद आपूर्ति पर भी ध्यान देने की कोशिश शुरू हुई है।

एक महीने में कई गुना बढ़ गई खपत

स्वास्थ्य विभाग की ओर से बताया गया, एक महीने पहले 14 मार्च को प्रदेश भर में केवल 197 मरीजों को ऑक्सीजन सपोर्ट की जरूरत थी। उनका मूल्य 3.68 लाख टन ऑक्सीजन की आवश्यकता थी। एक महीने बाद ऐसे मरीजों की संख्या 5898 हो गई है। उनके लिए 110.30 और दस टन ऑक्सीजन की जरूरत है।

खुचंद बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना जुटाई जाएगी

स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने बताया है, विभाग कोरोना महामारी के प्रबंधन के लिए शासकीय और निजी क्षेत्रों में व्यवस्था सुनिश्चित कर रहा है। उन्होंने कहा, शासकीय क्षेत्र में 13 हजार ऑक्सीजन युक्त बिस्तरों का लक्ष्य तय हुआ है। आईसीयू बिस्तर भी बढ़ाये जा रहे हैं। ऑक्सीजन का परिवहन भी सरकारी खर्चे पर हो रहा है। वहीं खुचंद बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना से निजी संस्थाओं को जोड़ा जा रहा है। 20 मार्च को इस योजना से जुड़कर केवल 72 अस्पताल को विभाजित का इलाज कर रहे थे। आज 170 अस्पतालों में इस योजना से इलाज चल रहा है।

खबरें और भी हैं …

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: