Harshit India news

breaking news | Bhopal local news | Madhya Pradesh news | Indore news

कोरबा में सख्ती: लॉकडाउन में हर किसी को बेच रहा था पेट्रोल और डीजल, 3 दिन के लिए पंप सील; 10 विभाजित मरीजों के लिए अब 10 अस्पतालों में उपचार

विज्ञापन से परेशान हैं? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कोरबा5 घंटे पहले

  • कॉपी लिस्ट

छत्तीसगढ़ के कोरबा में लॉकडाउन के दौरान कलेक्टर खुद सड़क पर निकलीं। इस दौरान उन्होंने लापरवाही पर अफसरों को फटकार लगाई।

छत्तीसगढ़ के कोरबा में लगे लॉकडाउन के दौरान प्रशासन और सख्त हो गया है। बंदी के बावजूद हर किसी को पेट्रोल और डीजल बेचकर एक पंप को 3 दिन के लिए सील कर दिया गया है। वहीं बालको प्लांट के सामने खड़ी पिकअप रखने कर ली गई और दो ऑटो चालकों पर भी भय लगाया गया है। लॉकडाउन में सड़क पर दौड़ रहे वाहनों को देखकर कलेक्टर किरण कौशल ने नाराजगी व्यक्त की और अफसरों को फटकार लगाई।

जिले में 12 अप्रैल से 22 अप्रैल तक 10 दिन का तालाडाउन किया गया है। इस दौरान कोरोना संक्रमण को रोकने के साथ मरीजों के उपचार की भी व्यवस्था बढ़ाई जा रही है। जिले में अब ESIC को विभाजित अस्पताल के अलावा 10 अस्पतालों में सुविधाएं विकसित कर ली गई हैं। साथ ही पैरा मेडिकल स्टाफ की उपलब्धता, ड्रोनिंग-डोफिंग सुविधा सहित ड्रग्स, ऑक्सीजन की व्यवस्था करने के निर्देश दिए गए हैं। अगले कुछ दिनों में इन अस्पतालों में उपचार शुरू हो जाएंगे।

दो प्राथमिक अस्पतालों का भी किया गया अधिग्रहित किया गया
जिले के सामुदायिक उपक्रमों बालको, NTPC, SECL परियोजना क्षेत्रों के अस्पतालों में भी विभाजित रोगियों के इलाज के लिए अपग्रेड किया जा रहा है।]जिला प्रशासन ने दो प्राथमिक अस्पतालों बालाजी ट्रामा सेंटर और एनकेएच अस्पताल का सभी सुविधाओं सहित अधिग्रहण कर को विभाजित रोगियों के इलाज के लिए तैयार करने के निर्देश जारी किए हैं। जीवन आशा अस्पताल और ब्रह्मांड अस्पताल को भी कोरोना रोगियों के इलाज की अनुमति दी है।

इन 10 अस्पतालों को दी गई अनुमति है

  • ईएसआईसी को विभाजित अस्पताल
  • बालको को विभाजित अस्पताल
  • एनटीपीसी अस्पताल
  • सीपेट को डिवाइड कैर सेंटर
  • सीटीआई गेवरा कोविड कैर सेंटर
  • जिला अस्पताल
  • एसईसीएल अस्पताल मुड़ापार
  • ब्रह्मांड अस्पताल
  • जीवन आशा अस्पताल
  • बालाजी ट्रामा अस्पताल

ये सभी अस्पताल 1577 बेड की क्षमता वाले हैं
जिले में इन सभी अस्पतालों में कोरोनाटे रोगियों के लिए 1577 बिस्तरों की क्षमता विकसित की गई है। इसमें 400 से अधिक ऑक्सीजनेटेड बेड, 30 ऑक्सीजन कंसन्ट्रेटर सुविधा युक्त बैड, 56 आईसीयू और 31 एचडीयू उपलब्ध हैं। जिले के इन कोविड अस्पतालों में वर्तमान में 27 वेंटिलेटर कोरोना के गंभीर रोगियों के इ्रलाज के लिए उपलब्ध हैं।

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *