Harshit India news

breaking news | Bhopal local news | Madhya Pradesh news | Indore news

सीएम भूपेश बघेल ने कांग्रेस पदाधिकारियों की बैठक: 10 बिस्तर अस्पतालों में भी खूबचंद बघेल योजना; 20% बिस्तर आरक्षित, इलाज मुफ्त

विज्ञापन से परेशान हैं? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

रायपुर4 घंटे पहले

  • कॉपी लिस्ट
  • बैठक में बताई सरकार की पूरी तैयारियां

काेरोना संक्रमण से सामना के लिए प्रदेश कांग्रेस प्रभारी पीएल पुनिया और सीएम भूपेश बघेल ने कांग्रेस पदाधिकारियों की बैठक ली। सीएम भूपेश ने कहा कि कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए खुचंद बघेल स्वास्थ्य योजना को रिवाइज किया गया।) अभी तक यह 50 बेड वाले अस्पतालों में लागू होता था, लेकिन इसे 10 बेड वाले अस्पतालों के लिए भी मान कर दिया गया है।

साथ ही सभी निजी अस्पतालों में कोरोना रोगियों के लिए 20 प्रति बेड आरक्षित रखना भी अनिवार्य कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि डॉक्टरों के लिए भी जल्द ही मेडिकलल बनाया जा रहा है। पिछली बार कोरोना के लिए हाइड्रोक्सी क्लोरोक्वीन दवाई की मांग ज्यादा थी लेकिन इस बार रेमडेसिविर इंजेक्शन की डिमांड ज्यादा है। इसके लिए हमारे दो अफसर बाहर भेजे गए हैं। एक हजार डोज एक-दो दिन में छत्तीसगढ़ आ जाएंगे। कोरोना से सामना करने के लिए कंट्रोल रूम भी शुरू किए जा रहे हैं। सीएम ने कहा कि वैक्सीनेशन में छत्तीसगढ़ बेहतर काम कर रहा है।

स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने प्रदेश में काेरोना के हालात की जानकारी देते हुए बताया कि वर्तमान में यहां 90 हजार से ज्यादा सक्रिय प्रकरण दर्ज हैं। यही हाल है तो यह डेढ़ लाख तक भी पहुंच सकता है। जशपुर, कांकेर और कोंडागांव को छोड़कर बस्तर और सरगुजा में स्थिति नियंत्रण में है। गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू ने कहा कि पिछली बार विपरीत परिस्थितियों में भी हमने बेहतर काम किया था। इस बार 20 जिलों में लॉकडाउन लग गया है। सभी के सहयोग से ही लॉकडाउन का उद्देश्य पूरा हो पाएगा।

बैठक में कृषि मंत्री रविंद्र चौबे सहित सभी मंत्री, पीसीसी चीफ मोहन मरकडे, पदाधिकारी, सभी विभागों के प्रमुखों के साथ जिलाध्यक्ष भी मौजूद थे। इस दौरान कोरोना से जिन कांग्रेस प्रमुखों-कार्यकर्ताओं का निधन हुआ है, उन्हें श्रद्धांजलि दी गई है। पीसीसी चीफ मोहन मरक ने कहा कि कोरोना काल में सभी पदाधिकारियों को सरकार का सहयोग करना है। पिछली बार कांग्रेस के नेताओं ने काफी मदद की थी। इस बार भी ऐसे ही काम करना है। जरूरत पड़ने पर जिला कांग्रेस भवन को विभाजित लाभांश केंद्र के रूप में भी विकसित किया जाए ताकि लाएगों को परेशानी न हो।

राज्यपाल और सीएम करेंगे सर्वदलीय बैठक
राज्यपाल मुकुइया उइके ने सोमवार को सीएम बघेल से फोन पर चर्चा की। उन्होंने स्थिति का जायजा लिया। उन्होंने राज्य सरकार की तैयारियों के बारे में जानकारी ली। राज्यपाल ने सीएम से कहा कि रायपुर, दुर्ग, भिलाई और अन्य शहरों में कोरोना के बढ़ते संक्रमण में वृद्धि हो रही है। यह देखता है कि प्रभावी उपाय किए जाएं। इसके लिए सामाजिक संगठनों के प्रमुखों, उद्योगपतियों, राजनीतिक दलों के प्रमुखों, धार्मिक संस्थाओं के प्रमुखों, सभी पद्धति से संबंधित चिकित्सकों, स्वास्थ्यकर्मियों, दवा व्यवसायियों, व्यापारियों, पत्रकारों से चर्चा कर सुझाव प्राप्त करें। इस दौरान तय किया गया कि राज्यपाल और सीएम सर्वदलीय बैठक करेंगे। वर्ग माध्यम से यह बैठक होगी, जिसमें सभी समूहों के अधिकारियों को शामिल किया जाएगा।

कोरोना नियंत्रण के लिए राज्य सरकार ने 50 करोड़ दिए
प्रदेश में कोरोना संक्रमण से रोकथाम के प्रयासों में तेजी लाने के लिए राज्य आपदा मोचन निधि से राज्य सरकार ने पचास करोड़ रुपये और दिए हैं। इससे पहले 192 करोड़ 37 लाख रुपए दिए गए हैं। इस तरह अब तक 242.37 करोड़ रुपए दिए जा चुके हैं। वहीं, राज्य के तमाम मंत्री, कांग्रेस के विधायक, महापौर और पार्षद मुख्यमंत्री राहत कोष में अपना एक महीने का वेतन लेंगे।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने पचास करोड़ रुपए मंजूर किए जो सोमवार को स्वास्थ्य विभाग के खाते में जमा करा दिए गए हैं। इससे स्वास्थ्य विभाग कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए स्वास्थ्य के समापन, स्क्रीनिंग, नई प्रयोगशालाओं की स्थापना और विभाजित अस्पतालों में आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध कराई गई हैं। कोरोना की जब प्रदेश में दस्तक हुई तब 15 करोड रुपए सरकार ने तुरंत मंजूर किए थे। इसके बाद पिछले बजट में 177 करोड़ 37 लाख रुपए दिए गए थे। चांदीडीसी व एसेलीएल ने भी कोरोना से आरक्षण के लिए दस-दस करोड़ रुपये दिए थे। इसी तरह पिछले साल एक साल में सरकार ने 853 करोड़ रुपये का लाभांश नियंत्रण, जांच और उपचार के साथ विभिन्न स्तरों पर इन्फ्रास्ट्रक्चर के विकास पर खर्च किए हैं। सीएम ने जिला कलेक्टरों और विभागों से कहा है कि संसाधनों की किसी भी हालत में कोई कमी न होने दी जाए।

को विभाजित अस्पतालों में बिस्तर की जानकारी देने के लिए पोर्टल
स्वास्थ्य विभाग ने कोविद अस्पतालों में खाली बिस्तरों की जानकारी देने के लिए नया पोर्टल शुरू किया है। अस्पताल में इलाज की जरूरत वाले रोगी पोर्टल https://cg.nic.in/health/covid19/RTPBedAvailable.aspx पर प्रदर्शित खाली बिस्तरों की जानकारी के अनुसार संबंधित अस्पताल या कोविड कैर सेंटर में पहुंचकर उपचार करा सकते हैं।

खबरें और भी हैं …

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: