Harshit India news

breaking news | Bhopal local news | Madhya Pradesh news | Indore news

घरों में अब जरूरी सामान का संकट खड़ा: लाकडाउन से पहले कई परिवार पॉजिटिव उनके पास राशन नहीं तो देश को सरकार

विज्ञापन से परेशान हैं? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

रायपुर20 मिनट पहले

  • कॉपी लिस्ट

लाकडाउन से तीन-चार दिन पहले तक राजधानी में तकरीबन 300 से ज्यादा परिवारों में एक या ज्यादा कोरोना मरीज निकलने की वजह से उन्हें सूसू किया गया। इस कारण से वे राशन तक खरीद नहीं कर पाए और बाजार बंद हो गए। ऐसे लोगों के घरों में अब जरूरी सामान का संकट खड़ा हो गया है।

घर में चावल-दाल से लेकर सब्जी-फल और घरों की चीजों का संकट है। घर में रिश्तेदार भी नहीं आ पा रहे हैं, इस कारण से ऐसे दर्जनों परिवार पुलिस और प्रशासन के अफसरों को फोन कर अपनी मुश्किल बता रहे हैं।]कुछ मामलों में पुलिस-प्रशासन ने ऐसे घरों तक मदद की है, लेकिन यह संकट गहरा रहा है। भास्कर को आजाद चौक टीआई सत्यप्रकाश तिवारी ने बताया कि रविवार को उनके पास समता कालोनी के एक परिवार को फोन आया था। इस परिवार के 7 लोग लाकडाउन से दो दिन पहले पजितिव हुए और निगम के अमले ने उनका घर बंद करवाकर परिवार के सभी सदस्यों को आइसोलेट रहने के लिए कहा दिया है।

इस परिवार के लोगों ने संकट बढ़ने पर आजाद थाने में फोन किया और अपनी मुश्किल बताई। पुलिस ने तात्कालिक राहत के तौर पर घर में थोड़ा राशन भिजवाया है। कोटा में भी एक परिवार को सरस्वतीनगर पुलिस ने राशन और डेली नीड्स का सामान उपलब्ध कराया है। ऐसे परिवार दूध और दवाइयों के लिए भी पुलिस और प्रशासन से गुहार लगा रहे हैं। अफसरों ने बताया कि उनके पास राशन, सब्जी से लेकर दवाइयों के लिए सैकड़ों फोन आ रहे हैं। जो जरूरतमंद हैं, उन्हें पुलिस दुकान खुलवाकर भी सामान दिला रही है।

अंत्येष्टि का सामान दिया
एसएसपी अजय यादव ने बताया कि सभी टीआई को निर्देश दिया गया है कि जरूरतमंदों की मदद की जाए। अगर कोई थाने में फोन करके मदद मांगते हैं, तो उन्हें राशन से लेकर फल, दवाइयां उपलब्ध कराई जाएंगी। उन्होंने बताया कि गोलसरार पुलिस ने कई लोगों को अंत्येष्टि का सामान दिलवाया गया है। अस्पताल से छुट्टी के बाद गाड़ी के लिए भी लोग पुलिस को फोन कर रहे हैं। उनकी मदद भी की जा रही है।

खबरें और भी हैं …

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: