Harshit India news

breaking news | Bhopal local news | Madhya Pradesh news | Indore news

हर दिन 500 से ज्यादा लोगों से पूछताछ: होम आइसोलेशन के मरीजों को दिन में चार फोन कर रहे डॉ

विज्ञापन से परेशान हैं? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

रायपुरएक मिनट पहले

  • कॉपी लिस्ट

होम आइसोलेशन में बनेकर कोरोना इलाज करवा रहे लोगों की आशंका के लिए प्रशासन ने डॉक्टरों की संख्या बढ़ा दी है। ऐसे सभी मरीजों को हर दिन तीन से चार बार फोन कर उनके स्वास्थ्य की जानकारी ली जा रही है। ऐसे रोगियों की इमरजेंसी में किसी भी तरह की मदद के लिए 24 घंटे चलने वाला कंट्रोल रूम भी शुरू हो गया है। इसके अलावा कोरोना लक्षण या कोरोना रोगियों के संपर्क में आने वाले लोगों की पहचान के लिए हर दिन 500 से ज्यादा कॉल किए जा रहे हैं। ऐसे लोगों को ट्रेस कर उनकी कोरोना जांच भी की जा रही है।

राजधानी में अभी तक इस तरह के मामले बढ़ गए हैं जो होम आइसोलेशन में इलाज करवा रहे थे लेकिन ज्यादा तबीयत बिगड़ने के बाद अस्पताल चले गए। इस कारण से उनकी मौत हो गई। होम आइसोलेशन से अस्पताल जाकर इलाज कराने वाले मरीजों के की मौतों का आंकड़ा बढ़ने के बाद ही फैसला किया गया है कि होम आइसोलेशन में रहने वाले लोगों का इलाज करने वाले डॉक्टरों की संख्या बढ़ाई जाए। शहर के प्रमुख डॉक्टरों की ओर से भी लगातार इस बात की घोषणा की जा रही है कि वे होम आइसोलेशन में बनेकर अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखें। कोरोना रोगियों और उनके संपर्क में आने वाले लोगों की पहचान करने वाले अब कांटे ट्रेसिंग दल की ओर से लगातार फोन कॉल किए जा रहे हैं।

हर दिन 500 से ज्यादा लोगों से पूछताछ की जा रही है। न्यू सर्किट हाउस सिविल लाइन में कंट्रोल रूम के बाद अब रविवार से नालंदा परिसर में भी नया कंट्रोल रूम 24 घंटे काम करने लगा है। अपर कलेक्टर और नोडल अधिकारी पद्मिनी भोई साहू ने बताया कि कोरोना पाजीटिव आए लोगों से उनके संपर्क में कम से कम 20 लोगों से हस्तक्षेप की जा रही है। कोरोना टेस्टिंग के दौरान लोग अभी अपना नाम, पता और मोबाइल नंबर की सही जानकारी नहीं दे रहे हैं। इस कारण से अभी भी ऐसे लोगों की पहचान करना मुश्किल हो रहा है। प्रशासन की ओर से ऐसे लोगों के खिलाफ एफआईआर करने की चेतावनी देने के बाद गलत जानकारी देने का सिलसिला जारी है।

किसी भी तरह की मदद के लिए इन नंबरों पर संपर्क करें
होम आइसोलेशन में रहने वाले मरीजों को किसी भी तरह की समस्या आती है तो वे कंट्रोल रूम के फोन नंबर 7880100313, 7880100314, 7880100315, 7566100284, 7566100283 और 7566100285 पर कॉल किया जा सकता है। होम आइसोलेशन में रहने वाले मरीजों की तबियत बिगड़ती है तो उन्हें किसी भी समय एकर्न्स में अस्पताल पहुंचाया जाएगा। एबुलेंस के लिए रोगी या उनके परिवारवाले नोडल अफसर एओ लॉरी 94063-46840 या डीके सिंह 88397-78979 को कॉल कर सकते हैं।

इसके अलावा कंट्रोल रूम में किसी भी तरह की जानकारी के लिए सुबह 6 से दोपहर 12 बजे तक कुंदन सिंह (86760-56184), विक्रम सिंह (91791-13793), शिवेंद्र सिंह (98930-61946), दोपहर 12 से शाम 6 बजे तक एचआर देवांगन (83193-82779), अनुभूति देवांगन (86691-22430), सोनल सोनी (88399-24004), प्रकाश दीवान (98271-75990), शाम 6: 12 बजे तक सीएल शर्मा (98279-58846), लोकेश वर्मा ( 9977-451981) और रात 12 से सुबह 6 बजे तक समर अब्बासी (90396-58761) से संपर्क किया जा सकता है।

अभी तक 100 से अधिक सशर्त क्षेत्र
राजधानी में लॉकडाउन के बावजूद अभी भी उन स्थानों को संरक्षण जोन बनाया जा रहा है जहां बड़ी संख्या में कोरोना के मरीज मिल रहे हैं। रायपुर जिले में हर दिन औसतन 10 वांमेंट जोन बन रहे हैं। अभी तक 100 से ज्यादा सशस्त्र जोन बन चुके हैं। रविवार को अफसरों ने 6 और नए क्षेत्र जोन बनाए हैं। शहीद राजीव पांडेय नगर, खुशी वाटिका अमलीडीह, बरडिया विहार राजेंद्र नगर, छपरद, बीरगांव निगम के वार्ड 2 और शहीद नगर में नया स्थान जोन बनाया गया है।

इन सभी स्थानों में 5 से ज्यादा कोरोना रोगी मिले हैं। इसके अलावा शहर में अभी भी केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की टीम भी घूम रही है। इस टीम में शामिल अफसरों ने दो टूक कहा है कि संरक्षण जोन में किसी भी तरह की ढिलाई न बरती जाए। जहां शौपमेंट जोन बना है से किसी को भी बाहर निकलने की अनुमति न दी जाए और न ही बाहर से कोई अंदर जाए।

खबरें और भी हैं …

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: