Harshit India news

breaking news | Bhopal local news | Madhya Pradesh news | Indore news

अचानक किए गए वन-वे में कई लोग फंसकर वापस लौटे: लोगों का विलाप रोकने बेरिकेड्स लगाकर बंद कीं 30 से ज्यादा सड़कें।

विज्ञापन से परेशान है? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

रायपुरएक घंटा पहले

  • कॉपी लिस्ट

(*30*)

(*30*)

शास्त्री चौक पर शनिवार को वन-वे रोड पर फंसी एर्केन।

  • दवा लेने का बहाना करके निकले लोगों को मेडिकल स्टोर भी ले गई पुलिस

(*30*)

लॉकडाउन के दौरान सड़कों पर लोगों के मौवमेंट पर नियंत्रण करने के लिए पुलिस ने खामोशी से सुबह पहला प्रयोग यह किया कि शहर की 30 महत्वपूर्ण सड़कें बेरियर लगाकर बंद कर दीं। सड़कें वही बंद की गईं, जिनका वैकल्पिक रास्ता था।

डिवाइडर वाली अधिकांश सड़कों का एक हिस्सा बंद कर उन्हें वन-वे कर दिया गया, जिससे पुलिस को लोगों से पूछताछ करने में आसानी हो। सुबह से शाम तक पुलिस ने हर आने-जाने वाले से पूछताछ की और आईडी-प्रूफ भी जांचा। इमरजेंसी सेवा और जरूरी काम करने वालों को छोड़कर बाकी के खिलाफ पुलिस ने पहले दिन केस नहीं बनाया, लेकिन नाम-पता दर्ज कर वापस बर्खास्त कर दिया गया। जिन लोगों ने मेडिकल स्टोर जाने की बात कही तो कुछ के साथ पुलिस भी गई।

एसएसपी अजय यादव ने बताया कि सड़कों पर तैनात जवानों को अच्छा व्यवहार करने का निर्देश दिया गया है। किसी से दुर्व्यवहार या लाठी चलाने को नहीं कहा गया है। हर चौराहे पर लोगों को रोकने और बाहर निकलने का कारण पूछने के निर्देश हैं। यह नहीं है, गाड़ी के दस्तावेज भी जांचे जा रहे हैं। कागजात सही हैं, कारण सही है तो ऐसे लोगों को तुरंत छोड़ दिया जाएगा। झूठ बोलने या बहानेबाजी करनेवालों को पहले दिन लौटाया गया है। सड़कें इसलिए वन-वे की गई हैं, ताकि पुलिस आसानी से आम लोगों की जांच कर सके।

गोलबाजार पुलिस दिलाएगी अंत्येष्टि का पूरा सामान

शहर की पूरी दुकानें बंद है, इसलिए पुलिस ने अंत्येष्टि के सामान के लिए पहली बार व्यवस्था बनाई है। जिनके घर में गमी है और उन्हें अंत्येष्टि का सामान लेना है तो उन्हें गोलसरार थाने तक जाना होगा। वहाँ की पुलिस को निर्देश दिए गए हैं कि दुकान खुलवाकर लोगों को यह सामान उपलब्ध करवाए। एसएसपी ने गोलबाजार टीआई को एंड्येष्टि सामान रखने वाले कारोबारियों से संपर्क में रहने का निर्देश दिया है, जिससे आम लोगों को मदद मिल सके।

पैदल अस्पताल जा रहे लोगों को पुलिस ने छोड़ दिया

लॉकडाउन में औटो-रिक्शा सहित राजधानी में सार्वजनिक ट्रांसपोर्ट बंद है, इसलिए पुलिस ऐसे लोगों की मदद के लिए आगे आई है जो इमरजेंसी में निकल तो रहे हैं लेकिन परिवहन का साधन नहीं मिल रहा है। शनिवार को कुछ लोग पैदल ही अस्पताल जाते हैं, जिन्हें पुलिस वालों ने खुद अस्पताल पहुंचाया। कई लोग पैदल ही बस स्टैंड और रेलवे स्टेशन जा रहे थे, उन्हें भी छोड़ दिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: