Harshit India news

breaking news | Bhopal local news | Madhya Pradesh news | Indore news

राज्य निर्वाचन आयोग: नगरीय निकाय चुनाव की घोषणा पर ब्रेक, पंचायत चुनाव भी वर्तमान में टले

विज्ञापन से परेशान है? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

रायपुर3 घंटे पहले

  • कॉपी लिस्ट

प्रदेश में नगरीय निकायों व पंचायतों के चुनाव कोरोना से प्रभावित हो गए हैं। राज्य निर्वाचन आयोग ने चुनाव का ब्लू प्रिंट बना लिया था। चुनाव की घोषणा ही थी कि अचानक हालात बदल गए। दुर्ग, बेमेतरा सहित कई जिलों में लॉकडाउन हो गया है। राजधानी रायपुर में शुक्रवार से लॉकडाउन होने वाला है।

अब स्थिति अनुकूल होने तक चुनाव का ऐलान रूक गया है। राज्य निर्वाचन आयोग के आयुक्त ठाकुर राम सिंह ने प्रदेश की परिस्थितियों के अनुसार चुनाव कराने को लेकर ब्लू प्रिंट तैयार किया था। इसमें जुलुस व रैलियां निकालने, उम्मीदवार के नामांकन, वोटिंग, वोटों की गिनती, सुरक्षा बलों की तैनाती-परिवहन और बूथ के इंतजाम तक का ध्यान रखा गया। चुनाव टकिंग से आयोग का अमला कुछ निराश है। इसी तरह पंचायत चुनाव में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले एक अधिकारी और आयोग में महत्वपूर्ण कार्य संभालने वाले तकनीकी कर्मचारियों के कोरोना पित्तटिव आ जाना चिंताजनक है।

वर्तमान में जिन स्कूलों में बूथ बनाए जाने थे, वे भी बंद कर दिए गए हैं। निर्वाचित आयुक्त ठाकुर ने भास्कर से केवल इतना कहा कि जब फैसला लेने का वक्त आया तो हम मजबूर हो गए। बीरगाँव नगर निगम सहित 13 निकायों में चुनाव होने हैं। चुनाव टकिंग की वजह से वहाँ तीन महीने से प्रशासक कामकाज संभाल रहे हैं। कोरोना का संक्रमण रोकने वाली सरकार जो अमले का उपयोग कर रही है, उन्हीं में से ज्यादातर का इस्तेमाल चुनाव ड्यूटी प्रदान करने में किया जाता है।

इधर, प्रदेश में जनगणना पर लगाई गई पूंजी के कई वार्डों में प्री-टेस्ट भी बंद है
प्रदेश में 2021 की जनगणना पर रोक लग गई है। यहां तक ​​कि राजधानी में जनगणना की पूर्व-टेस्ट भी बंद कर दिया गया है। जनगणना के राज्य नोडल अधिकारी रजत कुमार ने कहा कि प्रदेश में स्थिति सामान्य होने तक गिनती सुरक्षित कर दी गई है। कई जिलों में लॉक डाउन और कोरोना के बढ़ते संक्रमण को लेकर पहली बार डिजिटल जनगणना रोक दी गई है। राजधानी के शहीद राजीव पांडेय वार्ड में संजय नगर, सतनामी पारा, इंदिरा नगर, उमंग कालोनी, रावणभाठा और फिल्टर प्लांट के इलाकों में प्री-टेस्ट चल रहा था।

यह काम समाप्त था। कोंडागांव में माकड़ी तहसील में प्री-टेस्ट पूरा हो चुका है। अब यहाँ के काम और आंकड़ों के आधार पर ही डिजिटल जनगणना की टेस्टिंग की रिपोर्ट बनेगी। रायपुर व माकड़ी में की जा रही जनगणना को पायलट टेस्टिंग या प्री-टेस्ट का नाम दिया गया था। माकड़ी की जनगणना में आने वाली परेशानियों को दूर करके प्रदेशभर में लोगों की गिनती शुरू करने की योजना बनाई जाएगी। राज्य जनगणना निदेशक रजत कुमार भी बंगाल चुनाव में ऑब्जर्वर के रूप में चुनाव में व्यस्त हैं।

अगले सप्ताह वे राजधानी लौटेंगे। इसके बाद प्री-टेस्ट के बारे में जनगणना स्टाफ व मोबाइल पर ही गिनती की जानकारी की समीक्षा होगी। डिजिटल मोड पर काम करने पर सुपरवाइजर को किस तरह की परेशानी आई वे इस बारे में बताएंगे। भारत के महारजिस्ट्रार के निर्देश पर नए गांव, निकाय, ब्लॉक, तहसील और जिलों की सीमाएं तय कर ली गई।) नई तहसीलों और ब्लॉक में शामिल गांवों की लिस्टिंग भी की गई है। इसी सीमांकन के अनुसार जनगणना का आंकड़ा ब्लॉक, तहसील और जिलावार संग्रह होना चाहिए।

खबरें और भी हैं …

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: